Active Study Educational WhatsApp Group Link in India

जानिए भारतीय सेना के बारे में जानकारी -Know information about Indian Army in Hindi।

भारतीय  सेना के बारे में जानकारी-Know information about Indian Army in Hindi। 

आज के इस पोस्ट में भारतीय सेना के बारे में जानेंगे जैसे -भारतीय सेना कैसे बनी ?,भारतीय सेना का उद्देश्य क्या है ?.भारतीय सेना का इतिहास क्या है। भारत का एक आम नागरिक होने कारण हमें अपनी सेना के बारे में जरुर जानना चाहिए क्योंकि  भारतीय सेना की वजह से ही हम चैन की साँस ले पा रहे हैं और भारतीय सेना विश्व की सर्वोच्च सेनाओं में से एक मानी जाती जाती है ।भारतीय सेना में पूरी जानकारी के इस पोस्ट को पूरा अवश्य पढ़ें।

हमारी भारतीय थलसेना, सेना भूमि-आधारित दल की शाखा है और यह भारतीय सशस्त्र बल का सबसे बड़ा अंग माना जाता है। अब सवाल आता है की इतनी बड़ी सेना का नेतृत्व आखिर करता कौन है तो इसका जवाब है - भारत का राष्ट्रपति, थलसेना का प्रधान सेनापति होता है, और इसकी कमान भारतीय थलसेना सेना अध्यक्ष के हाथों में होती है जो कि चार-सितारा जनरल स्तर के अधिकारी होते हैं। पाँच-सितारा रैंक के साथ फील्ड मार्शल की रैंक भारतीय सेना में श्रेष्ठतम सम्मान की औपचारिक स्थिति है, आजतक केवल दो अधिकारियों को इससे सम्मानित किया गया है।

Table of Content  :-

  • भारतीय सेना बनी कैसे ? 
  • भारतीय सेना का उद्देश्य क्या है ?
  • भारतीय सेना का इतिहास क्या है ? 

भारतीय सेना बनी कैसे ? 

भारतीय सेना का उद्भव ईस्ट इण्डिया कम्पनी, जो कि ब्रिटिश भारतीय सेना के रूप में परिवर्तित हुई थी, और भारतीय राज्यों की सेना से हुआ, जो स्वतन्त्रता के पश्चात राष्ट्रीय सेना के रूप में परिणत हुई। भारतीय सेना की टुकड़ी और रेजिमेंट का इतिहास अलग अलग रहा हैं इसने दुनिया भर में कई लड़ाई और अभियानों में हिस्सा लिया है, तथा आजादी से पहले और बाद में बड़ी संख्या में युद्ध सम्मान अर्जित किये, जिसकी वजह से दुनिया भर  में भारतीय सेना का बोलबाला रहां है और यह भारत को गौरान्वित कराते आया है.

पढ़ें- भारत में मिसाइल टेक्नोलॉजी ।

भारतीय सेना का उद्देश्य क्या है ?

भारतीय सेना का प्राथमिक उद्देश्य राष्ट्रीय सुरक्षा और राष्ट्रवाद की एकता सुनिश्चित करना होता है, राष्ट्र को बाहरी आक्रमण और आन्तरिक खतरों से बचाव, और अपनी सीमाओं पर शान्ति और सुरक्षा को बनाए रखना हैं। यह प्राकृतिक आपदाओं और अन्य गड़बड़ी के दौरान मानवीय बचाव अभियान भी चलाते है, आज तक हुए कई प्रकृतिक और जैविक आपदाओं में भी कमान सम्हाले होते है, जैसे ऑपरेशन सूर्य आशा, और आन्तरिक खतरों से निपटने के लिए सरकार द्वारा भी सहायता हेतु अनुरोध किया जा सकता है। 

यह भारतीय नौसेना और भारतीय वायुसेना के साथ राष्ट्रीय शक्ति का एक प्रमुख अंग है। 

इसके साथ ही भारतीय सेना के कुछ और उद्द्येश्य है जैसे की -

1.बाहरी खतरों के विरुद्ध शक्ति सन्तुलन के द्वारा या युद्ध छेड़ने की स्थिति में संरक्षित राष्ट्रीय हितों, सम्प्रभुता की रक्षा, क्षेत्रीय अखण्डता और भारत की एकता की रक्षा करना।

2.सरकारी तन्त्र को छाया युद्ध और आन्तरिक खतरों में मदद करना और आवश्यकता पड़ने पर नागरिक अधिकारों में सहायता करना।"

3. दैवीय आपदा जैसे भूकम्प, बाढ़, समुद्री तूफान ,आग लगने ,विस्फोट आदि के अवसर पर नागरिक प्रशासन की मदद करना।

नागरिक प्रशासन के पंगु होने पर उसकी सहायता करना।

पढ़ें- इंडियन आर्मी कैसे ज्वाइन करें।

भारतीय सेना का इतिहास क्या है ? 

ये समय था आजादी और देश के बटवारे की थी सन 1947 में स्वतन्त्रता मिलने के बाद ब्रिटिश भारतीय सेना को नये बने राष्ट्र भारत और इस्लामी गणराज्य पाकिस्तान की सेवा करने के लिये 2 भागों में बाँट दिया गया। अधिकतर हिस्सों को भारत के पास रखा गया। 

चार गोरखा सैन्य दलों को ब्रिटिश सेना में स्थानान्तरित किया गया जबकि शेष को भारत के लिए भेजा गया। जैसा कि ज्ञात है, भारतीय सेना में ब्रिटिश भारतीय सेना से व्युत्पन्न हुयी है तो इसकी संरचना, वर्दी और परम्पराओं को अनिवार्य रूप से विरासत में ब्रिटिश से लिया गया हैं|

विडियो देखें - क्लिक करें

भारतीय सेना में कैसे जाएँ - विडियो देखें


आज के इस पोस्ट में अपने भारतीय सेना का  इतिहास, सेना का  निर्माण और इसके उद्देश्य के बारे में विस्तार से जाना ।भारतीय सेना के बारे में जानने की इच्छा रखने वालों के लिए यह पोस्ट बहुत ही उपयोगी है ।\

आशा करता हूँ कि  यह पोस्ट आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगी ,अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो पोस्ट को शेयर जरुर करें।
Active Study Educational WhatsApp Group Link in India

यूट्यूब चैनल देखने के लिए – क्लिक करें

Share -