Active Study Educational WhatsApp Group Link in India

स्टूडेंट्स के लिए UPSC एग्जाम टिप्स | Upsc exam Tips For Students in hindi ।

स्टूडेंट्स के लिए UPSC एग्जाम टिप्स | Upsc exam Tips For Students in hindi ।


आज के इस पोस्ट स्टूडेंट्स के लिए UPSC एग्जाम टिप्स के बारे में जानेंगे  UPSC देश का सबसे बड़ी परीक्षा लेने वाली सरकारी संस्था है । आजकल अधिकतर विद्यार्थियों का रुझान भी UPSC की तरफ लगातार बढ़ रहा है।अगर आप भी UPSC की परीक्षा  देने में रूचि रखते हैं या अपने बच्चों को परीक्षा में शामिल करवाना चाहते है तो आपको यह पोस्ट पूरा अवश्य पढ़ना चाहिए ताकि आपकी शंकाएं दूर हो जाएँ।

UPSC (आईएस ) परीक्षा की तयारी के लिए सभी स्कूल के बच्चो के लिए कुछ सुझाव जो की आपको अभी और भविष्य में बहुत काम आयेगा अगर आपका सपना भी बहुत बड़ा हैं तो इसे पूरा पढ़ें और UPSC परीक्षा की  राह को आसान बनाये- 

आप और आपके पेरेंट्स के लिये हमारा सबसे पहला सुझाव यही है कि आप सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिये बहुत जल्दबाजी न करें। ध्यान रखें कि यह परीक्षा सिर्फ पढ़ाई-लिखाई की परीक्षा नहीं है बल्कि सम्पूर्ण व्यक्तित्व की परीक्षा है और व्यक्तित्व का सहज विकास करने के लिये बच्चों को सहजता से बचपन गुज़ारना चाहिये।

अगर आप आठवीं या उससे छोटी क्लास में पढ़ते हैं तो अभी आपको इस परीक्षा की तैयारी के लिये अलग से कुछ भी पढ़ने की ज़रूरत नहीं है। आप बस अपनी क्लास की पढ़ाई अच्छे से कीजिये और खूब खेलिये-कूदिये। अगर कुछ करने का बहुत मन हो तो कभी-कभी इस साइट पर आई.ए.एस. टॉपर्स के इंटरव्यू पढ़ते/देखते रहिये।

अगर आप 9वीं से 12वीं क्लास के विद्यार्थी हैं तो अपनी तैयारी की थोड़ी बहुत शुरुआत कर सकते हैं। जैसे, आपको अख़बार पढ़ने और समझने की कोशिश करनी चाहिये। इसके अलावा, अपनी लेखन शैली को बेहतर बनाने की प्रैक्टिस करना भी बहुत ज़रूरी है। इन सुझावों पर विस्तृत चर्चा आगे की टैब्स में की गई है।

आप स्कूल में चाहे किसी भी क्लास में पढ़ते हों, आपके लिये सबसे ज़रूरी सुझाव यही है कि आप अपना पाठ्यक्रम ठीक से पढ़ें।

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी का कम से कम 25-30 प्रतिशत हिस्सा ऐसा है जो एन.सी.ई.आर.टी. की पुस्तकों को गहराई से पढ़ने से खुद ही तैयार हो जाता है। इसलिये, यह बहुत ज़रूरी है कि आप अपनी पढ़ाई में कोताही न करें।

आपने एन.सी.ई.आर.टी. की पुस्तकें गहराई से पढ़ीं या नहीं; इसका मूल्यांकन करने का एक आसान अवसर आपको इसी वेबसाइट पर उपलब्ध है। अगर आप ‘प्रारंभिक परिक्षा के 'प्रैक्टिस टेस्ट' वाली टैब को क्लिक करेंगे तो आपको उसमें ‘एन.सी.ई.आर.टी. टेस्ट’ शीर्षक की एक सब-टैब दिखेगी। उसमें जाने पर आपको लगभग हर कक्षा और उसके हर विषय का लिंक दिखाई देगा। आपने जो पुस्तक पढ़ ली है, आप उसी लिंक पर जाइये। हमने हर पुस्तक के गहन अध्ययन के आधार पर काफी सारे प्रश्न तैयार किये हैं जिन्हें हल करके आप अपनी तैयारी का सटीक मूल्यांकन कर सकते हैं। ये प्रश्न और इनके व्याख्या-सहित-उत्तर इस तरह तैयार किये गए हैं कि उन्हीं के माध्यम से आप पूरी पुस्तक को रिवाइज़ कर सकें।

आई.ए.एस. टॉपर्स के इंटरव्यू पढ़ने या देखने से नए उम्मीदवारों को प्रेरणा मिलती है और तैयारी से जुड़े कई पक्षों पर उनकी समझ स्पष्ट हो जाती है। इसलिये, आपको चाहिये कि ज़्यादा से ज़्यादा टॉपर्स के इंटरव्यू पढ़ें और देखें।

सिविल सेवा परीक्षा में करेंट अफेयर्स की भूमिका बहुत अधिक है। मुख्य परीक्षा में सामान्य अध्ययन के पेपर में लगभग आधे प्रश्न किसी न किसी रूप में करेंट अफेयर्स से जुड़े होते हैं। इसलिये, इस परीक्षा में वे लोग बेहतर साबित होते हैं जिनकी अख़बार तथा पत्रिकाएँ पढ़ने में स्वाभाविक रुचि रही होती है।

11वीं कक्षा में विद्यार्थियों के सामने एक मुश्किल सवाल यह होता है कि वे आगे की पढ़ाई के लिये कौन सा विषय-समूह चुनें? उनके पास मुख्यतः चार विकल्प होते हैं - नॉन-मैडिकल, मैडिकल, कॉमर्स और आर्ट्स? किसी-किसी स्कूल/कॉलेज में इनमें से दो या तीन विकल्प ही उपलब्ध होते हैं।

अगर आपका सपना आई.ए.एस. बनने (या किसी और सिविल सेवा जैसे आई.पी.एस. में जाने) का है तो यह ज़रूरी नहीं है कि आप 11वीं कक्षा से ही उसके अनुरूप विषयों का चयन करें। 11वीं-12वीं कक्षाओं के स्तर पर आप जो भी विषय-समूह पढ़ेंगे, वह किसी न किसी रूप में सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी में ज़रूर मददगार साबित होगा।

जानें- UPSC परीक्षा की तैयारी कैसे करें।


Source link – Dristi IAS

READ ALSO - 

Active Study Educational WhatsApp Group Link in India

यूट्यूब चैनल देखने के लिए – क्लिक करें

Share -