Active Study Educational WhatsApp Group Link in India

भारतीय परिवहन व्यवस्था | Indian transport system in Hindi

भारतीय परिवहन व्यवस्था Indian transport system 

आज के इस आर्टिकल में भारतीय परिवहन व्यवस्था के बारे में विस्तार से जानेंगे। भारतीय परिवहन व्यवस्था(Indian transport system) को देश की जीवन रेखा कहा जा सकता हैं. भारतीय परिवहन व्यवस्था देश की विकास में अपनी अहम् भूमिका निभाती आई हैं. समय समय पर बदलते भारतीय परिवहन व्यवस्था की वजह से आज सभी राज्य,शहर,गाव,जिले,तहसिल और कस्बे जुड़ पाये हैं. भारतीय परिवहन व्यवस्था आवागमन और यातायात के साधनों को भी बढ़ावा देते आया हैं. भारतीय परिवहन व्यवस्था (Indian transport system) में मुख्य रूप से सड़क परिवहन, रेल परिवहन, वायु परिवहन और जल परिवहन माने जाते हैं।


                                   भारतीय परिवहन व्यवस्था | Indian transport system in Hindi

सड़क परिवहन(Road transport)-

  • विश्व में भारत की सड़क संरचना विशालतम है। देश में सड़कों की कुल लंबाई लगभग 41 लाख किमी. है। 
  • राष्ट्रीय राजमार्गः इसके निर्माण, प्रबंधन एवं रख-रखाव की जिम्मेदारी भारत सरकार द्वारा निभायी जाती है। इनका नियंत्रण केंद्रीय लोक निर्माण विभाग द्वारा किया जाता है। वर्तमान में इसके तहत 70934 किमी. (स्रोत NHAI) लंबी सड़कें शामिल हैं। यह संपूर्ण देश के सड़कों के कुल लंबाई का लगभग 1.7% है।
  • राज्य राजमार्ग के निर्माण एवं रख-रखाव की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होती है।
  • भारत का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग-7 है, जो वाराणसी से कन्याकुमारी (2,369 किमी.) तक जाता है। यह उ.प्र., म.प्र., महाराष्ट्र, कर्नाटक तथा तमिलनाडु में विस्तृत है।
  • राष्ट्रीय राजमार्ग 1 और 2 को सम्मिलित open pisapgte Docs. राड (GIT. Read) कहा जाता है। राष्ट्रीय राजमार्ग 1A में जवाहर सुरंग स्थित है। 
  • यह राजमार्ग जालंधर से जम्मू व श्रीनगर होते हुए उरी तक जाता है। जम्मू और श्रीनगर को जोड़ने वाले बनिहाल दर्रे में ही जवाहर सुरंग स्थित है। स्वर्णिम चतुर्भुज योजना के अंतर्गत 5,846 किमी लंबे राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा चार महानगरों दिल्ली, मुंबई, चेन्नई एवं कोलकाता को जोड़ा जाएगा।
  • इसके अंतर्गत दिल्ली से मुंबई, मुंबई से चेन्नई, कोलकाता से चेन्नई एवं दिल्ली से कोलकाता की लम्बाई क्रमश : 1419, 1290, 1684 एवं 1453 किमी. है।
  • राष्ट्रीय राजमार्ग विकास कार्यक्रम के अंतर्गत बनने वाली उत्तर-दक्षिण गलियारा से श्रीनगर को कन्याकुमारी से तथा पूर्व-पश्चिम गलियारा से सिलचर को पोरबंदर से जोड़ा जाएगा। इसकी कुल भारत में सड़कों की सर्वाधिक लंबाई महाराष्ट्र में है। 
  • दूसरे एवं तीसरे स्थान पर क्रमशः उत्तर प्रदेश लंबाई 7,142 किमी. है। एवं ओडिशा है। सड़कों की न्यूनतम लंबाई सिक्किम में है। 
  • भारत में सड़कों का सर्वाधिक घनत्व गोवा में तथा सबसे कम जम्मू-कश्मीर में है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत 500 की आबादी वाले सभी गाँवों को बारहमासी सड़कों से जोड़ना है।
  • विश्व का सबसे ऊँचा सड़क मार्ग लेह-श्रीनगर मार्ग है, जो काराकोरम दर्रे को पार करता है। इसकी ऊंचाई लगभग 3,450 मी. है2006 में इसे राष्ट्रीय राजमार्ग-1D (NH-1D) घोषित किया गया। 
  • सीमावर्ती सड़कों का निर्माण एवं प्रबंधन सीमा सड़क विकास बोर्ड द्वारा किया जाता है। यह संगठन कुल मिलाकर 17,435 किमी. लंबी सड़कों का रख-रखाव करता है। 
  • एशिया का सबसे बड़ा रोप वे (रज्जुमार्ग) गढ़वाल में जोशीमठ एवं ऑली को जोड़ता है, जिसकी लंबाई 500 मी. है। 

रेल परिवहन(Rail transport)-

  • भारतीय रेल एशिया की सबसे बड़ी तथा विश्व की दूसरी सबसे बड़ी रेल व्यवस्था है। 
  • भारत में सर्वप्रथम रेल व्यवस्था की शुरुआत अप्रैल, 1853 ई. में मुंबई से ठाणे (34 किमी.) के बीच प्रारंभ हुई थी। 
  • रेल वित्त को वर्ष 1924-25 ई. के बाद एक्वर्थ कमिटी की सिफारिश पर सामान्य राजस्व से अलग किया गया। 
  • भारतीय रेल का राष्ट्रीयकरण 1950 ई. में हुआ। ' भारतीय रेल प्रशासन तथा प्रबंध की जिम्मेवारी रेलवे बोर्ड पर है। रेलवे को 17 मंडलों में (जो पहले 9 था) बाँटा गया है। प्रत्येक मंडल का प्रधान महाप्रबंधक होता है।
  • देश में सबसे लंबी दूरी तय करने वाली रेलगाड़ी विवेक एक्सप्रेस है, जो डिब्रूगढ़ (असम) में कन्याकुमारी (तमिलनाडु) जाती है। इस दौरान वह 4286 किलोमीटर दूरी तय करती है। 
  • इससे पूर्व हिमसागर एक्सप्रेस, जो जम्मू-तवी से कन्याकुमारी (3726 किमी.) तक जाती है, सबसे लंबी दूरी तय करने वाली रेलगाड़ी थी। 
  • विश्व का सबसे लंबा रेलमार्ग ट्रांस-साइबेरियन रेलमार्ग है, जो लेनिनग्राड से ब्लाडीवॉस्टक तक 9,438 किमी. लंबा है। बिजली से चलने वाली प्रथम गाड़ी डेक्कन क्वीन थी, जो बंबई एवं पुणे के मध्य चली थी। 
  • कोंकण रेलवे महाराष्ट्र के रोहा से प्रारंभ होकर गोवा के मडगाँव तक जाती है। इस रेलमार्ग से लाभान्वित होने वाले राज्य महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक एवं केरल हैं। कोलकाता मेट्रो रेल 1972 ई. में बनी तथा यह योजना 1975 ई. से अमल में आयी। 
  • दमदम से टॉलीगंज तक इस भूमिगत रेलमार्ग की कुल लंबाई 16.45 किमी. है। दिल्ली मेट्रो परियोजना जापान व कोरिया की कंपनियों के सहयोग से बनायी गयी है। 
  • इसके अंतर्गत सबसे पहली रेल सेवा 25 दिसंबर, 2002 को तीस हजारी से शाहदरा के बीच चलायी गयी। बं
  • गलुरू मेट्रो रेल की शुरुआत 20 अक्टूबर, 2011 से नम्मा मेट्रो (Namma Metro) के नाम से शुरू हुई। इसके ढाँचागत सुविधाओं का विकास जापान के सहयोग से किया गया है। 
  • रेल इंजन निर्माण के कारखाने चित्तरंजन, वाराणसी तथा भोपाल में स्थित है। सवारी डिब्बों का निर्माण पेरंबूर (चेन्नई के निकट), कपूरथला, कोलकाता तथा बंगलुरू में किया जाता है। 
  • रेल इंजन बनाने का नया कारखाना मधेपुरा (इलेक्ट्रिल इंजन) एवं मढ़ौरा (डीजल इंजन) (बिहार) में स्थापित किया गया है। 
  • पहिया बनाने का कारखाना छपरा (बिहार) एवं रेल कोच फैक्ट्री रायबरेली (उ.प्र.) में स्थापित किया गया। 

वायु परिवहन(Air transportation)-

  • भारत में वायु परिवहन की शुरुआत 1911 ई. में हुई, जब इलाहाबाद से नैनी के बीच विश्व को सर्वप्रथम विमान डाक सेवा का परिवहन किया गया। 
  • 1981 ई. में देश में घरेलू उड़ान के लिए 'वायुदूत' नामक तीसरे निगम की स्थापना की गयी थी, जिसका बाद में भारतीय विमान निगम में विलय हो गया।
  • 24 अगस्त, 2007 को सार्वजनिक क्षेत्र की विमानन कंपनियाँ एयर इंडिया एवं भारतीय विमान निगम (इंडियन एयरलाइंस) का विलय हो गया। यह दोनों कंपनियाँ अब नेशनल एविएशन कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड (NACIL) के नाम से कार्यरत हो गयी है। कंपनी का ब्रांड नाम 'एयर इंडिया' है। 

जल परिवहन(Water transport)-

  • केंद्रीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण की स्थापना 1987 ई. में की गयी थी। इसका मुख्यालय . कोलकाता में है। 
  • भारत का कोयले को संचालित करने वाला पत्तन चेन्नई के निकट एन्नौर में विकसित हो रहा है।
  • भारत का सबसे बड़ा जहाज तोड़ने का यार्ड (Ship Recyling Yard) अलंग (गुजरात राज्य के भावनगर जिले) में स्थित है। 
  • राष्ट्रीय अंतर्देशीय नौवहन संस्थान पटना में अवस्थित है। 
  • देश का सबसे बड़ा बंदरगाह मुंबई में हैबड़े बंदरगाहों का नियंत्रण केंद्र सरकार करती है, जबकि छोटे बंदरगाह संविधान की समवर्ती सूची में शामिल हैं, जिनका प्रबंधन संबंधित राज्य सरकार करती है। 
  • देश का सर्वश्रेष्ठ प्राकृतिक बंदरगाह विशाखापत्तनम है। यह भारत का सबसे गहरा बंदरगाह है। गुजरात (कच्छ की खाड़ी) स्थित कांडला एक ज्वारीय बंदरगाह है। 
  • यह मुक्त व्यापार-क्षेत्र वाला बंदरगाह है। चेन्नई सबसे बड़ा कृत्रिम बंदरगाह हैं यह भारत का सबसे प्राचीन बंदरगाह है। 
  • कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड का मुख्यालय कोच्चि (केरल) है। यह देश का जहाज निर्माण और मरम्मत का सबसे बड़ा क्षमता वाला शिपयार्ड है। .

भरतीय परिवहन व्यवस्था  के इस आर्टिकल में हमने सड़क परिवहन, रेल परिवहन, वायु परिवहन और जल परिवहन की इतनी जानकारी आपको इनसे जुड़े सवालों के उत्तर देने में मदद करेंगी.

आशा करता हूँ कि भारतीय परिवहन व्यवस्था से जुडी यह  जानकारी अच्छी और उपयोगी लगी हो अगर पोस्ट पसंद आये तो  इसे शेयर जरूर करें.

Active Study Educational WhatsApp Group Link in India

यूट्यूब चैनल देखने के लिए – क्लिक करें

Share -
Posted in