Active Study Educational WhatsApp Group Link in India

वकालत के क्षेत्र में करियर | Career in Advocacy | वकील बनना

वकालत के क्षेत्र में करियर | Career in Advocacy in Hindi

career-in-advocacy-in-hindi
वकालत करने के बाद आप वकील बन जाते हैं. आपको लोग वकील, अधिवक्ता, अभिभाषक या ऐडवोकेट (Advocate) भी कहते है. यह एक गर्व और पैसा दोनों देने वाला रोजगार या पेशा है.

वकील (Lawyer), अधिवक्ता (Advocate) किसे कहते हैं?

ऐसा व्यक्ति जिसे न्यायालय में किसी अन्य व्यक्ति की ओर से उसके हेतु या वाद का प्रतिपादन करने का अधिकार प्राप्त हो। मतलब ऐसा व्यक्ति जिसको ये अधिकार हो की वह किसी व्यक्ति की ओर से न्यायालय में उसकी बात (दलील) जज (न्यायधीश) के सामने रख सके. क्योंकि अधिकांश लोगों के पास अपनी बात को प्रभावी ढंग से कहने की क्षमता, ज्ञान, कौशल, या भाषा-शक्ति नहीं होती।

वकील बनने की पढ़ाई या कोर्स -

वकील बनने के लिए आपको LLB (BA.LLB) कोर्स करना होगा. जिसके लिए आपको 12वीं कक्षा पास करनी होगी वह भी 55% मार्क्स के साथ. अगर आप आर्ट विषय के साथ 12वीं पास करते हो तो आपको ज्यादा लाभ होगा, लेकिन यह जरूरी नही हैं की आपको वकील बनने के लिए आर्ट ही लेना होगा. आप किसी भी विषय से आप 12वीं कक्षा की पढाई कर सकतें है.

LLB के बाद कितनी सैलरी मिलती है?

भारत में किसी वकील की सैलरी निश्चित नहीं है, क्योंकि वकील एक पेशा है, जिसमे सैलरी नहीं होती है, जैसा जिसका काम वैसा पैसा मिलता है. लेकिन एक औसतन सालाना वेतन (सैलरी) 4-5 लाख के करीब है.

>>इंटरव्यू की तैयारी कैसे करें - क्लिक करें

वकील बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए?

अगर आप आर्ट विषय के साथ 12वीं पास करते हो तो आपको ज्यादा लाभ होगा, लेकिन यह जरूरी नही हैं की आपको वकील बनने के लिए आर्ट ही लेना होगा. आप किसी भी विषय से आप 12वीं कक्षा की पढाई कर सकतें है. क्योंकि LLB में सभी सब्जेक्ट वाले छात्र एड्मिसन ले सकते है.

वकील (Lawyer) के प्रकार - 

  • सरकारी वकील (Public lawyer)
  • प्राइवेट वकील (Private lawyer)
  • जूनियर वकील (Junior lawyer)
  • वरिष्ठ वकील (Senior lawyer)
  • फैमिली वकील (Family lawyer)
  • जिला एवं हाई कोर्ट का वकील (District Court and High Court lawyer)
  • सुप्रीम कोर्ट का वकील (Supreme Court lawyer)

सरकारी वकील कैसे बनते हैं?

जिस विषय की पढाई आपको ऊपर मैंने बताया है उसके साथ एक सरकारी वकील बनने के लिए आपको Internship और Council में Admission भी लेना होता है. Internship और Council की जानकारी निचे हैं -

Government Internship क्या है - Internship में विद्यार्थियों को कोर्ट में जाकर बहस सुननी होती है, वे केस को सुनते हैं और जज के फैसले को सुनकर अनुभव लेते हैं. एस दौरान आपको कई बातें सिखाई जाती हैं. जैसे - कोर्ट की सुनवाई कैसे होती है, वकील आपस में मुकदमा कैसे लड़ते हैं, सच कैसे बुलवाया जाता है, सच को झूठ कैसे बनाना है, न्यायालय के नियम क्या-क्या होते हैं और भी बहुत सी बातें.

राज्य विधिज्ञ परिषद (State Bar Council) क्या है - यह Council कोर्ट में Practice करने का Certificate देता है. यह परिषद (Council) अधिवक्ताओं की सूची रखती है तथा नवीन अधिवक्ता का नामांकन करती है। यह अपने रजिस्टर के माध्यम से अधिवक्ता नामांकन का रख रखाव करती है।
इन्हे पढ़े -
Active Study Educational WhatsApp Group Link in India

यूट्यूब चैनल देखने के लिए – क्लिक करें

Share -