साइंस में रुचि रखने वाले युवाओं के लिए करियर | careers for young people interested in science in Hindi।

साइन्स में रुचि रखने वाले युवाओं के लिए करियर | careers for young people interested in science

आज के इस पोस्ट में साइंस में रुचि रखने वाले युवाओं के लिए करियर के बारे में जानेंगे। प्राय: यह पाया गया है कि 12वीं पास करने के बाद विद्यार्थी यह चुनाव नहीं कर पाते कि उन्हें आगे करना क्या है जिससे उनका भविष्य सुरक्षित हो सके। इसमें भी विशेषकर साइंस के विद्यार्थी ज्यादा ही भ्रमित होते है क्यूंकि उनके पास विकल्प ज्यादा मौजूद रहते हैं। कुछ कोर्सेज के बारे में उन्हें पता ही नहीं होता ,जिससे वे आगे जाकर पछताते हैं। आज के इस पोस्ट में ऐसी ही विभिन्न कोर्सेज के बारे में बताया जा रहा है। अगर आप भी साइंस में रूचि रखते है, और इनके कोर्सेस के बारे में जानना चाहते है तो पोस्ट को पूरा जरुर पढ़ें ।

                              साइंस में रुचि रखने वाले युवाओं के लिए करियर | careers for young people interested in science in Hindi।

Table of content:-

  • इंजीनियरिंग(Engineering)
  • आर्किटेक्चर(architecture)
  • पैरा मेडिकल(para medical)
  • एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग(Agriculture Engineering)
  •  अपराध विज्ञान(criminology)
  • बीएससी नर्सिंग(B.Sc Nursing) 
  • फॉरेंसिक साइंस(forensic science)
  • एग्रीकल्चर साइंस(Agriculture science)
  • बायोटेक्नोलॉजी(Bio Technology)
  • मार्केटिंग(Marketing)
  • होटल, टूरिज्म, हॉस्पिटेलिटी(Hotel, Tourism, Hospitality)
  • डिफेन्स सर्विस(defense service)
  • सिविल सर्विस(Civil service)

इंजीनियरिंग(Engineering)

सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रीकल व इलेक्ट्रोनिक्स, टेली कम्यूनिकेशन, माइनिंग, मैटेलर्जी, ऑटो मोबाइल, कम्प्यूटर, पेपर टेक्नोलॉजी, टैक्सटाइल, मेरीन, प्लास्टिक, रबर, लेदर, सेरामिक टेक्नोलॉजी, सिरेमिक, एअरोनोटिक्स, पैकेजिंग, पेंट एंड एनेमिल्स, इन्स्ट्रुमेन्टेशन आदि। 10+2 के बाद ज्यादातर कॉलेज प्रवेश परीक्षा के द्वारा स्टूडेन्ट्स को प्रवेश देते हैं। प्राइवेट कॉलेज 10+2 मार्क्स के आधार पर प्रवेश देते हैं। यह कोर्स 4 साल का होता है।

आर्किटेक्चर(architecture)

अरबन डिजाइन, नेवल आर्किटेक्चर, टेंपल आर्किटेक्चर, बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन आदि। इस कोर्स में चयन प्रक्रिया वही है जो इंजीनियरिंग कोर्सेज के लिए होती है। यह कोर्स 10+2 के बाद 5 वर्ष का होता है। कम्प्यूटर-आज यह क्षेत्र सबसे अधिक आकर्षक व सैलेरी के हिसाब से सबसे ज्यादा पेइंग है। कम्प्यूटर इंजीनियरिंग के अलावा, कम्प्यूटर साइंस में बी.एससी. एम.एससी और डिप्लोमा कोर्स होते हैं। मेडिकल-इसमें एम.बी.बी.एस., बी.डी.एस., होम्योपैथ, आयुर्वेद, फार्मेसी, नर्सिंग में डिग्री ली जा सकती है। यहाँ भी जॉब ऑप्शन्स बहुत हैं।

जानें- 10वीं के बाद क्या-क्या कर सकते हैं।

पैरा मेडिकल(para medical)

इसके अन्तर्गत रेडियोलॉजी, पैथोलॉजी, फिजियोथैरेपिस्ट, नर्सिंग, आडियोलॉजी, स्पीच थैरेपिस्ट ऑक्युपेशनल थैरेपी, मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी, डेन्टल हाइजिन आदि में 10+2 के बाद डिग्री कोर्स कर सकते हैं और स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं। पशु चिकित्सा-(वेटनरी साइंस) 10+2 के बाद वेटनरी साइंस में डिग्री जो 4 साल का कोर्स होता है। इस फील्ड में भी जॉब के अवसर बहुत हैं। 

एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग(Agriculture Engineering)

इस कॅरियर में भी बहुत स्कोप है। 10+2 के बाद 4 साल का डिग्री कोर्स किया जा सकता है। 

 अपराध विज्ञान(criminology)

अपराध, अपराधी, आपराधिक स्वभाव तथा अपराधियों के सुधार का वैज्ञानिक अध्ययन अपराध शास्त्र (Criminology) के अन्तर्गत किया जाता है। इसके अन्तर्गत अपराध के प्रति समाज के रवैया, अपराध के कारण, अपराध के परिणाम, अपराध के प्रकार एवं अपराध की रोकथाम का भी अध्ययन किया जाता है। इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए बी.ए. या बी.एस.सी इन क्रिमिनोलॉजी में दाखिला ले जा सकते हैं जिसकी अवधि 3 वर्ष है। इसके लिए आर्ट या साइंस में बारहवीं पास होना अनिवार्य है।

जानें- बैंक मेनेजर कैसे बनें।

बीएससी नर्सिंग(B.Sc Nursing) -

यह 4 साल का बचलर कोर्स होता हैं. बीएससी नर्सिंग या बैचलर ऑफ़ साइंस इन नर्सिंग एक नर्सिंग कोर्स है। नर्सिंग एक स्वास्थ्य देखभाल व्यवसाय है जो व्यक्तियों, परिवारों और समुदायों की देखभाल पर ध्यान केंद्रित करता है ताकि वे अधिकतम स्वास्थ्य और जीवन की गुणवत्ता प्राप्त कर सकें, बनाए रख सकें या फिर ठीक हो सकें।

फॉरेंसिक साइंस(forensic science)-

यह कोर्स बी अंडरग्रेजुएट कोर्स 3 वर्ष का है. फॉरेंसिक साइंस (Forensic Science) अपराधियों का पता लगाने के लिए वे वैज्ञानिक सिद्धांतों व तकनीकों का प्रयोग करते हैं। इस कार्य में उनकी मदद करते हैं अपराध स्थल से मिले साक्ष्यों मसलन, ब्लड, बॉडी फ्लूड, हेयर, फिंगरप्रिंट, फूट प्रिंट आदि।

एग्रीकल्चर साइंस(Agriculture science)-

BSc agriculture और यह 4 साल अंडर ग्रेजुएट बैचलर डिग्री का कोर्स होता है। कृषि वैज्ञानिक खेती-फसलों तथा पशुओं पर अध्ययन करते हैं तथा उनकी मात्रा तथा गुणवत्ता में सुधार के लिए कार्य करते हैं।

बायोटेक्नोलॉजी(Bio Technology)-

इस अंडरग्रेजुएट कोर्स की अवधि 4 वर्ष है. भारत में इस कोर्स का डिप्लोमा भी होता है जो 10 वीं के बाद हो सकता है. जिसकी की अवधि 3 वर्ष है.

जानें- वैज्ञानिक कैसे बनें।

मार्केटिंग(Marketing)-

उपभोक्तावाद संस्कृति के आने से मार्केटिंग में बहुत बदलाव आया है। आज हर क्षेत्र में मार्केटिंग मैनेजरस, सेल्समैन व अन्य सम्बन्धित कॅरियर के लोगों की बहुत आवश्यकता है। इसलिए मार्केटिंग में बी.बी.एस., बी.बी.एम., पी.जी.डी.बी.एम., पी.जी.डी.बी.ए., एम.बी.ए. व अन्य डिप्लोमा कोर्सेज किये जा सकते हैंडिप्लोमा कोर्सेज, बी.बी.एम., बी.बी.ए., 3 वर्ष के होते हैं 10+2 के बाद। पी.जी.डी.बी.एम. व एम.बी.ए. 2 वर्ष का होता है-10 + 2 + 3 के बाद। 

होटल, टूरिज्म, हॉस्पिटेलिटी(Hotel, Tourism, Hospitality)-

इसमें डिप्लोमा कोर्सेज 1 से 2 वर्ष के होते हैं 10+2 के बाद। डिग्री कोर्सज 10+2 के बाद 3 से 4 वर्ष के होते हैंचयन प्रवेश परीक्षा द्वारा। प्राइवेट कॉलेजेज में मार्क्स बेसिस पर। 

जानें- डॉक्टर कैसे बनें।

डिफेन्स सर्विस(defense service)-

आर्मी, नेवी व एअर फोर्स में जाने के लिए 10+2 के बाद विभिन्न एकेडमियों के लिए प्रवेश परीक्षा व इन्टरव्यू होता है और फिर 2-3 साल की ट्रेनिंग होती है। इन सभी क्षेत्रों में बड़ा रोमांचकारी व चैलेंजिंग कॅरियर है।

सिविल सर्विस(Civil service)-

किसी भी फील्ड में स्नातक होने के बाद (आई.ए.एस., आई.एफ.एस., आई. ऑडिट एंड अकाउन्टेन्ट सर्विसेज, आई.पी.एम.) इन सर्विसेज के लिए प्रवेश परीक्षा होती है जो लोक सेवा आयोग द्वारा संचालित की जाती है। इसमें चयन होने पर 1-2 वर्ष की ट्रेनिंग दी जाती है और उसके बाद आप विभिन्न एडमिनिस्ट्रेटिव व पुलिस सर्विस में जॉब पा जाते हैं। ये सर्विसेज बहुत आकर्षक है, परन्तु प्रवेश परीक्षा व इन्टरव्यू की प्रक्रिया बहुत कठिन व कम्पीटिटीव है। आप का सलेक्शन हो जाये, तो आपका आगे का कॅरियर बहुत आकर्षक व सिक्योर है और आगे बढ़ने के बहुत विकल्प हैं।

12 वीं साइंस  के बाद और कोर्सेस का लिस्ट -

  • बायोकेमिस्ट्री
  • फॉर्मा कोर्सेज
  • बीएससी कोर्सेस
  • PCB (Physics,Chemistry,Bio)
  • PCM (Physics,Chemistry,Math)
  • PCMB (Physics,Chemistry,Math,Bio)
इस पोस्ट में साइंस में रुचि रखने वाले युवाओं के लिए करियर के बारे में जाना । 12वीं साइंस के बाद बहुत सारे कोर्सेस हैं ,जिन कोर्सेस को कर के आप अपना करियर बना सकते हैं।  12वीं साइंस के बाद किये जाने वाले विभिन्न कोर्सेस के बारे में यहाँ बताया गया है ।
उम्मीद करता हूँ कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी ,अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो पोस्ट को शेयर जरुर करें। 
15 SeptemberSTUDY POINT & CAREER