विज्ञान और गणित का इतिहास | History of Science and Mathematics in Hindi।

विज्ञान और गणित का इतिहास | History of Science and Mathematics in Hindi।

आज के इस पोस्ट में विज्ञान और गणित का इतिहास के बारे में जानेंगे। अक्सर 12वीं पास करने के बाद विषय चुनने के समय विद्यार्थियों के मन में विज्ञान और गणित  को लेकर भय का माहौल रहता है और वे यह जानना चाहते हैं कि यह गणित और विज्ञान आया कहाँ से है।  जो  विज्ञान और गणित के विद्यार्थी हैं उन्हें भी विज्ञान और गणित का इतिहास के बारे में जानने की उत्सुकता रहती है। अगर आपको भी विज्ञान और गणित का इतिहास जानना है तो आप बिल्कुल सही पोस्ट में आये हैं। विज्ञान और गणित के  इतिहास से जुड़ी पूरी जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा जरुर पढ़ें।



                                                history-of-science-and-mathematics-in-hindi




विज्ञान का इतिहास (vigyan or ganit ka itihas)

विज्ञान (science) - विज्ञान शब्द की उत्पत्ति लैटिन भाषा के शब्द Skientia से हुई है , जिसका अर्थ है - ज्ञान या जानना। इससे यह स्पष्ट होता कि प्रकृति में पाई जाने वाली वस्तुओं एवं इनमें होने वाली अनेक घटनाओं का अध्ययन या ज्ञान प्राप्त करना ही विज्ञान है।

विज्ञान का इतिहास (vigyan ka itihas):

विज्ञान मानव समाज के साथ विकसित होता रहा है। पहिये की खोज, दिन और रात का ज्ञान, बीमारियों से लड़ते हुए जड़ी-बूटियों की खोज, लिवर-पुली, तीर-धनुष, और अगर इतिहास के ग्राफ़ पर समय की धुरी को आगे बढ़ायें तो टेलिस्कोप, कम्प्यूटर, जेनेटिक थियरी (आनुवंशिकता सिद्धान्त), सापेक्षिकता सिद्धान्त आदि प्राकृतिक विज्ञान की प्रगति के कुछ मील के पत्थर हैं।

प्रागैतिहासिक (prehistoric) काल से ही, सलाह तथा ज्ञान वाचिक परम्परा के रूप में पीढ़ी दर पीढ़ी आगे बढ़ता रहा था। उदाहरण के लिए, मक्के का कृषि के लिए गृहीकरण दक्षिणी मेक्सिको में 9000 वर्ष पूर्व हुआ था अर्थात लिपि के विकास से भी पहले। इसी प्रकार, पुरातात्त्विक प्रमाण संकेत देते हैं कि साक्षरतापूर्व समाजों में खगोलीय ज्ञान का विकास हो चुका था।  पूरी जानकारी - विकिपीडिया



गणित का इतिहास (ganit ka itihas)

गणित - गणित उस विज्ञान को कहते है, जिसमे संख्याओं, मात्राओं, परिमाणों, रूपों और उनके आपसी संबंधो, गुण, स्वभाव इत्यादि का अध्ययन किया जाता है.

गणित का इतिहास :

सबसे पुराने लिखित रिकॉडों से भी बहुत अधिक पहले, ऐसे चित्र मिलते हैं जो मूल गणित के कुछ ज्ञान की और इंगित करते हैं और तारों के आधार पर समय के मापन को भी इंगित करते हैं। उदहारण के लिए जीवाश्म विज्ञानियों (paleontologists) ने दक्षिणी अफ्रीका की गुफाओं में ओकरे (ochre) चट्टानों की खोज की जो लगभग 70, 000 वर्ष पुरानी थी और खरोंच युक्त ज्यामितिक पैटर्न से सुसज्जित थीं। साथ ही प्रागैतिहासिक (prehistoric) विरूपण (artifact) ने अफ्रीका और फ्रांसमें ऎसी खोजें की जो 35, 000 और 20,000 साल पुरानी हैं, व समय के मात्राकरण (quantify) के प्रारंभिक प्रयासों को बताती हैं।

प्राचीन भारत की सबसे प्राचीन ज्ञात गणित, जो 3000 -2600 ई.पू. में मानी जाती है, उत्तर भारत (North India) और पाकिस्तानसिंधु घाटी सभ्यता (हड़प्पा सभ्यता) में पाई गयी है। इस सभ्यता ने समान वजन और मापन की प्रणाली का विकास किया जिसमें दशमलव (decimal) प्रणाली का प्रयोग किया गया, एक आश्चर्यजनक रूप से उन्नत ईंट (brick) तकनीक जिसमें अनुपात (ratio) का प्रयोग किया गया, पूर्ण समकोण (right angle) पर गलियाँ बनायीं गयी, साथ ही कई ज्यामितीय आकारों और डिजाइनों का प्रयोग किया गया, जिसमें घनाभ (cuboid), बैरल (barrel), शंकु (cones), बेलन (cylinders) शामिल हैं, तथा इसमें समकेंद्री और एक दूसरे को काटने वाले व्रत (circle) व त्रिभुजों (triangle) के चित्र भी मिलते हैं। पूरी जानकारी - विकिपीडिया


आज के इस पोस्ट में विज्ञान और गणित के इतिहास के बारे में जाना। गणित और विज्ञान को लेकर अधिकतम  विद्यार्थियों में भय का माहौल रहता है। और वे यह जानना चाहते हैं कि आखिर यह आया कहाँ से है । इस सवाल का जवाब इस पोस्ट में है।


उम्मीद है कि आपको विज्ञान और गणित का इतिहास  का यह पोस्ट उपयोगी लगा होगा ,अगर आपको पोस्ट पसंद आए तो पोस्ट को शेयर जरुर करें।