दुनिया के 7 महाद्वीप (Seven Continents of the world in Hindi)

दुनिया के 7 महाद्वीप के बारे में जानकारी | 7 Continents of the world


आज के इस पोस्ट में हम दुनिया के 7 महाद्वीप के बारे के बारे में विस्तृत रूप से जानेंगे। महाद्वीप पृथ्वी के उस बड़े भू-भाग को कहते हैं जिनकी सीमाएं स्पष्ट रूप से पहचानी जा सकती हैं। महाद्वीप सागर से घिरा हुआ एक ठोस भाग है। दुनिया में कुल कितने महाद्वीप हैं इसको लेकर कोई स्पष्ट प्रमाण अभी तक नहीं है। परन्तु सर्वाधिक प्रचलित मान्यता यह है कि दुनिया में कुल सात महाद्वीप हैं।
Seven Continents of the world in Hindi

महाद्वीप : "स्थल के लम्बे-चौड़े भू-खण्डों को, जिनमें कई प्रदेश सम्मिलित होते हैं, महाद्वीप कहते हैं।"


    एशिया महाद्वीप (Asia Continent)

    एशिया महाद्वीप (Asia Continent)
    एशिया महाद्वीप
    क्षेत्रफल- 44,579,000 किमी2
    • पृथ्वी की सारी भूमि का एक-तिहाई भाग एशिया में है। 
    • एशिया संसार का सबसे बड़ा महाद्वीप है। 
    • इसके अतिरिक्त संसार की आधी जनसंख्या भी इसी महाद्वीप में है।
    • संसार का सबसे ऊंचा शिखर, एवरेस्ट इसी महाद्वीप में है। 
    • एशिया की पर्वत मालाएं संसार-भर में सबसे ऊंची हैं। साथ ही इस महाद्वीप में बहुत ही विस्तृत पठार, मैदान और नदी-घाटियां हैं। 
    • एशिया में एक ओर अत्यन्त ठण्डे भू-भाग हैं, तो दूसरी ओर बहुत गर्म भू-भाग भी हैं। 
    • यदि एक ओर वर्षा रहित अत्यन्त शुष्क मरुस्थल हैं तो दूसरी ओर सबसे अधिक वर्षा वाले भू-भाग भी हैं। इसीलिए एशिया को विषमताओं का महाद्वीप कहते हैं। 
    • एशिया की बहुत बड़ी आबादी कुछ नदी-घाटियों में केन्द्रित है। ये संसार के अत्यन्त उपजाऊ कृषि-क्षेत्र हैं। 
    • एशिया की तीन-चौथाई आबादी अब भी खेती पर निर्भर है। 
    • चावल, ज्वार-बाजरा, जूट, कच्चा रेशम, रबर, चाय, गन्ना, मसाले, तिलहन तथा नारियल के उत्पादन में एशिया सबसे आगे है। 
    • एशिया में टिन, अभ्रक, खनिज तेल, कोयला, लौह अयस्क, बॉक्साइट तथा मैंगनीज के विशाल खनिज भण्डार हैं।
    • एशिया सूती-रेशमी कपड़ों तथा जूट उद्योग में अन्य महाद्वीपों से आगे है। 
    • एशिया महाद्वीप का इतिहास बहुत पुराना है। इसी महाद्वीप में संसार की बहुत-सी प्राचीन सभ्यताओं का जन्म हुआ। 
    • संसार के सभी प्रमुख धर्मों का जन्म इसी महाद्वीप में हुआ। इसी कारण एशिया महाद्वीप धर्म और संस्कृति के क्षेत्र में अग्रणी रहा है।
    • एशिया महाद्वीप के प्रमुख देश निम्न हैं- भारत, चीन, जापान, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका, म्यांमार, उत्तरी व दक्षिणी कोरिया, वियतनाम, मलेशिया, कम्बोडिया, थाईलैण्ड, इण्डोनेशिया, फिलीपीन्स, लाओस, टर्की, ईरान, इराक, अफगानिस्तान, सऊदी अरेबिया, सीरिया, लेबनान, इजराइल तथा जोर्डन।

    अफ्रीका महाद्वीप (Africa Continent)

    अफ्रीका महाद्वीप (Africa Continent)
    अफ्रीका महाद्वीप
    क्षेत्रफल- 3,02,21,532 किमी2
    • एशिया के बाद सबसे बड़ा महाद्वीप अफ्रीका है। 
    • पृथ्वी के संपूर्ण स्थल का पांचवां भाग अफ्रीका में है, लेकिन उसकी आबादी भारत की आबादी के आधे के लगभग हैं। 
    • इस महाद्वीप में औसत 39.1 व्यक्ति प्रति वर्ग-किलोमीटर भूमि पर रहते हैं जो 14,300 भाषाएं बोलते हैं। 
    • अफ्रीका पठारों का महाद्वीप है। यहां घने जंगल, विस्तृत घास-भूमि और लम्बे-चौड़े तीन मरुस्थल फैले हुए हैं। इनके नाम हैं : सहारा, कालाहारी और नामिब।
    • अफ्रीका का अधिकतर भाग उष्णकटिबन्ध में है, फिर भी इसकी जलवायु और वनस्पति में बहुत विविधता है। यहां अनेक प्रकार के जीव-जन्तु पाए जाते हैं। 
    • वन्य प्राणियों में अफ्रीका अन्य महाद्वीपों की अपेक्षा अधिक भरपूर है। 
    • सोना, तांबा और हीरे जैसे खनिजों में भी यह महाद्वीप सम्पन्न है।
    • प्राकृतिक साधनों में अफ्रीका का संसार में ऊंचा स्थान है। 
    • ज्वार, बाजरा, गेहूं, कैसावा, कपास, मूंगफली, कोको तथा तरह-तरह के फल और कुछ मसाले, जैसे लौंग आदि अफ्रीका की मुख्य फसलें हैं। 
    • अफ्रीका अपनी प्राचीन नील नदी घाटी सभ्यता के लिए प्रसिद्ध है। 
    • यह नवोदित स्वतन्त्र देशों का महाद्वीप है। 
    • ये सभी देश इस समय अपने आर्थिक विकास में लगे हुए हैं।
    • इस महाद्वीप में 47 देश हैं। इनमें प्रमुख देश निम्न हैं-अलजीरिया, लीबिया, मिस्र, सूडान, माली, मौरितानिया, नाइजीरिया, इथियोपिया, कैमरून, गैबन, जायरे, तन्जानिया, अंगोला, जाम्बिया, नामीबिया, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे, मोजम्बिक, दक्षिण अफ्रीका आदि।

    यूरोप महाद्वीप (Europe continent)

    यूरोप महाद्वीप (Europe continent)
    यूरोप महाद्वीप
    क्षेत्रफल- 10,180,000 किमी2
    • यूरोप एक महत्त्वपूर्ण महाद्वीप है। 
    • इसका नामकरण एक राजकुमारी 'यूरोपा' के नाम पर हुआ। 
    • इसे 'प्रायद्वीपों का महाद्वीप' भी कहते हैं, क्योंकि यहां के अधिकांश देश तीन ओर से सागर या महासागर से घिरे हैं।
    • ऑस्ट्रेलिया को छोड़कर अन्य महाद्वीपों में यह सबसे छोटा है।
    • आकार में यह हमारे देश (भारत) से केवल तीन गुना बड़ा है। 
    • यूरोप का महत्त्व केवल इस बात से सिद्ध हो जाता है कि किसी भी अन्य महाद्वीप ने संसार पर अपना प्रभाव डालने में अब तक इतनी सफलता नहीं पाई है जितनी कि यूरोप ने पिछली तीन शताब्दियों में प्राप्त की। 
    • यही एकमात्र ऐसा महाद्वीप है जो घनी आबादी के साथ साथ पर्याप्त समृद्ध भी है। इसे यूरेशिया महाद्वीप का एक प्रायद्वीप मात्र भी कहा जाता है। 
    • यूरोप के प्रमुख देश निम्न हैं- यूनाइटेड किंगडम, बेल्जियम, नीदरलैण्ड, लक्जमबर्ग, स्विट्जरलैण्ड, नार्वे, स्वीडन, डेनमार्क, फिनलैण्ड, आइसलैंड, जर्मनी, रूस, पोलैंड, ऑस्ट्रिया, स्पेन, पुर्तगाल, फ्रांस, इटली, हंगरी, रूमानिया, बुल्गारिया, ग्रीस। 
    • 1991 में सोवियत रूस के विघटन के फलस्वरूप स्वाधीन हुए गणराज्य भी यूरोप में शामिल हैं। इनके नाम हैं : यूक्रेन, तुर्कमानिया, उजबेकिस्तान, तजाकिस्तान, माल्डेविया, लैटविया, लिथुआनिया, एस्टोनिया, बाइलोरशिया, अजरबैजान, आर्मीनिया, जार्जिया, कजाखस्तान।

    दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप (South America Continent)

    दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप (South America Continent)
    दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप
    क्षेत्रफल- 17,840,000 किमी2
    • इसका क्षेत्रफल भारत के छ : गुने क्षेत्रफल से भी अधिक है। 
    • इस महाद्वीप के लोगों का रहन-सहन ऊंचा नहीं है। 
    • यहां के एण्डीज पर्वत बहुत ऊंचे हैं। 
    • ऊंचाई में इनका स्थान हिमालय के बाद आता है। 
    • दक्षिण अमेरिका में ऊंचे तथा विस्तृत पठार और विशाल मैदान भी हैं। 
    • मैदानों का जल निकास बड़ी-बड़ी नदियों द्वारा होता है।
    • दक्षिण अमेरिका का अधिक भाग उष्ण कटिबन्ध के अन्तर्गत आता है। 
    • यहां अमेजन घाटी में संसार के सबसे बड़े गर्म-आर्द्र वन हैं। 
    • इस महाद्वीप में उष्ण तथा शीतोष्ण कटिबन्धीय घास के मैदान भी हैं। खेती तथा पशु-पालन यहां के लोगों का प्रधान व्यवसाय है। 
    • गेहूं, मक्का, कपास, गन्ना तथा कहवा यहां की मुख्य फसलें हैं। 
    • पशुओं को मुख्यतः मांस के लिए तथा भेड़ों को ऊन के लिए पाला जाता है। यह महाद्वीप पेट्रोलियम, लौह-अयस्क, तांबा, टिन तथा नाइट्रेट जैसे खनिजों में धनी है।
    • दक्षिण अमेरिका की आकृति त्रिभुजाकार है। यह उत्तर में अधिक चौड़ा तथा दक्षिण की ओर संकरा होता गया है। 
    • मानचित्र पर यह महाद्वीप एक पत्ती के आकार के समान दिखाई देता है। 
    • पत्ती का डण्ठल पनामा भूसंधि है जो उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका को जोड़ने वाला एकमात्र संकरा भू-भाग है।
    • इस महाद्वीप के प्रमुख देश निम्न हैं-ब्राजील, बोलेविया, पेरू, इक्वेडोर, कोलम्बिया, वेनेजुएला, ब्रिटिश गयाना, सूरीनाम, फ्रेंच गयाना, अर्जेन्टीना, चिली, पराग्वे, उरुग्वे।

    उत्तरी अमेरिका महाद्वीप (North America Continent)

    उत्तरी अमेरिका महाद्वीप (North America Continent)
    उत्तरी अमेरिका महाद्वीप
    क्षेत्रफल- 24,709,000 किमी2
    • एशिया तथा अफ्रीका के बाद उत्तरी अमेरिका संसार का सबसे बड़ा महाद्वीप है। 
    • यह 'नई दुनिया' है, क्योंकि इसकी खोज हुए अभी बहुत दिन नहीं हुए हैं।
    • उत्तरी अमेरिका महाद्वीप आकार में भारत से लगभग 3 आठ गुना है, परन्तु इसकी जनसंख्या भारत की जनसंख्या के आधे से भी कम है। इस महाद्वीप में अपार सम्पदा है और उसका खूब विकास हुआ है। 
    • कम जनसंख्या और अपार सम्पदा के ही कारण महाद्वीप के अधिकांश लोगों का रहन-सहन ऊंचा है। 
    • उत्तरी अमेरिका संसार के सबसे समृद्धशाली तथा महान औद्योगीकृत महाद्वीपों में है, फिर भी कृषि यहां की समृद्धि का महत्त्वपूर्ण आर्थिक आधार है।
    • विशाल वनों तथा उपजाऊ कृषि क्षेत्रों के अतिरिक्त, यहां अपार खनिज सम्पदा भी है। 
    • विशाल जल शक्ति के साधन तथा तटों के पास मछली पकड़ने के विस्तृत क्षेत्र भी हैं। 
    • महाद्वीप में बहुत से निर्माण उद्योग भी हैं। 
    • उत्तरी अमेरिका की जनसंख्या में कई प्रजातीय समूह के लोग साथ-साथ मिलजुल कर रहते के हैं। 
    • इस महाद्वीप में जनसंख्या का वितरण बहुत ही असमान है। 
    • उत्तरी अमेरिका में आधुनिक यातायात के साधनों का घना जाल बिछा हुआ है। 
    • इन साधनों में अन्त: महाद्वीपीय रेलमार्ग, जलमार्ग तथा वायुमार्ग आते हैं। 
    • यहां संसार के कुछ अत्यन्त व्यस्त अन्तःस्थलीय जलमार्ग भी हैं।
    • इस महाद्वीप के प्रमुख देश निम्न हैं—संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा, मैक्सिको, ग्वाटेमाला, हाण्डुरास, एल सल्वाडोर, निकारागुआ, कोस्टारिका, पनामा, क्यूबा, जमैका।

    ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप (Australia Continent)

    ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप (Australia Continent)
    ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप
    क्षेत्रफल- 8,600,000 किमी2
    • यह सबसे छोटा महाद्वीप है। 
    • इसमें मुख्य ऑस्ट्रेलिया के अतिरिक्त, न्यू गाइना, न्यूजीलैण्ड, तस्मानिया तथा प्रशान्त महासागर में चारों ओर फैले बहुत-से द्वीप सम्मिलित हैं। 
    • ऑस्ट्रेलिया तथा न्यूजीलैंड पूर्णतः दक्षिणी गोलार्द्ध में आते हैं। 
    • ऑस्ट्रेलिया प्यासी भूमि का देश है। यहां सूखा पड़ना, अचानक बाढ़ें आना तथा विस्तृत झाड़ क्षेत्रों में अग्निकाण्ड होते रहना सामान्य बातें हैं। 
    • दूसरी ओर न्यूजीलैंड में पर्याप्त वर्षा होती है और यहां की जलवायु मृदु तथा शीतल है। 
    • यह सुन्दर वनों और हरे-भरे चरागाहों का देश है। 
    • ऑस्ट्रेलिया तथा न्यूजीलैंड के जीव-जन्तु संसार के अन्य क्षेत्रों के जीव-जन्तुओं से भिन्न हैं।

    अंटार्कटिका महाद्वीप (Antarctic Continent)

    अंटार्कटिका महाद्वीप (Antarctic Continent)
    अंटार्कटिका महाद्वीप
    क्षेत्रफल- 14,200,000 किमी2
    • अंटार्कटिका महाद्वीप ही धरती पर एकमात्र ऐसा महाद्वीप है जिसने मानव को न तो रहने के लिए स्थान दिया है और न ही अपने गर्भ में छिपी अतुल प्राकृतिक सम्पदा को पाने का अधिकार। 
    • क्षेत्रफल में यह यूरोप के 1.5 गुने के बराबर है। 
    • दक्षिण ध्रुव इसी महाद्वीप पर स्थित है जो तीन किलोमीटर मोटी बर्फ की चादर से ढका है। 
    • एक अनुमान के अनुसार यहां 70 लाख घन मील बर्फ है। 
    • चारों ओर बर्फ की मोटी तह के अलावा और कुछ नजर नहीं आता। यहां की भयंकर सर्दी मानव के सहन की सीमा से बाहर है। 
    • यहां पर अब तक का न्यूनतम तापमान -89.2° सें. रिकॉर्ड किया गया है।
    • यह महाद्वीप पृथ्वी पर सबसे ऊंचा, सूखा, ठण्डा और तेज हवाओं वाला महाद्वीप है। 
    • यहां पर वर्ष में सिर्फ दो ऋतुएं-सर्दी और गर्मी होती हैं। 
    • सर्दी में छह मास तक अंधेरा रहता है और गर्मी में छह मास तक उजाला। 
    • यहां पर पाया जाने वाला पेंगुइन पक्षी जगत प्रसिद्ध है। साढ़े तीन फुट ऊँचा यह पक्षी समुद्री किनारों पर पाया जाता है।
    आज के इस पोस्ट में दुनिया के सात महाद्वीप के बारे में जाना। महाद्वीप से जुड़े प्रश्न अक्सर प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं।

    आशा करता हूँ कि दुनिया के 7 महाद्वीप से जुडी यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी, अगर आपको पोस्ट पसंद आई हो तो  पोस्ट को शेयर अवश्य करें।