अंतरिक्ष रिसर्च के महत्त्वपूर्ण तथ्य (Important facts of space research in Hindi)

अंतरिक्ष रिसर्च के महत्त्वपूर्ण तथ्य (Important facts of space research in Hindi)

हेल्लो दोस्तों, आज के इस पोस्ट में हम अंतरिक्ष रिसर्च के महत्त्वपूर्ण तथ्य (Important facts of space research in Hindi) बारे में जानने वाले हैं। अन्तरिक्ष ग्रह से लगभग 100 किलोमीटर दुरी वाले भाग को कहते हैं। यहाँ साँस लेना भी मुश्किल होता है। अन्तरिक्ष एक निर्वात क्षेत्र है। यहाँ धुल के कण और अन्य गैसें पाई जाती हैं। अन्तरिक्ष से जुड़े सवाल अक्सर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं। अंतरिक्ष  से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में जानने के लिए इस पोस्ट को पूरा अवश्य पढ़ें।

अंतरिक्ष रिसर्च : अंतरिक्ष विशाल और अनंत हैं। इसमे अनेक ग्रह, उपग्रह, तारे, उल्का आदि हैं. जिसमे विभिन्न प्रकार के खोज होते रहते है। इन्ही अंतरिक्ष अनुसन्धानों या खोजो के बारे में कुछ तथ्य हम आपको बता रहे है।

अंतरिक्ष रिसर्च के महत्त्वपूर्ण तथ्य (Important facts of space research in Hindi)

अंतरिक्ष अनुसंधान महत्वपूर्ण तथ्य

  1. अन्तर्राष्ट्रीय अन्तरिक्ष स्टेशन (International Space Station - ISS) बाहरी अन्तरिक्ष में अनुसंधान सुविधा या शोध (Research) स्थल है जिसे पृथ्वी की निकटवर्ती कक्षा में स्थापित किया है।

  2. एना ली फिशर पहली अमेरिकी महिला है जो अंतरिक्ष में माँ बनी थी।

  3. 'स्पूतनिक-1' विश्व का पहला कृत्रिम उपग्रह था। इसे रूस ने 4 अक्टूबर, 1957 को कक्षा (Orbit) में स्थापित किया था।

  4. वलेरी पोल्याकोव सबसे अधिक दिनों तक अंतरिक्ष मे रहने वाला यात्री है।

  5. चंद्रयान लूना-10 चन्द्रमा की परिक्रमा करने वाला पहला अंतरिक्ष यान:

  6. एक्सप्लोरर (Explorer 1) प्रथम अमेरिकी कृत्रिम उपग्रह था।

  7. रूस के यूरी गागरिन प्रथम मानव थे जो रूस के अन्तरिक्ष यान 'वोस्तोक-1' में बैठकर अन्तरिक्ष में गये।

  8. रूस की वेलेंटीना टेरेश्कोवा विश्व की पहली महिला है जो अन्तरिक्ष की यात्रा पर गई।

  9. प्रमुख पोस्ट : अंतरिक्ष के रोचक तथ्य
  10. नील आर्मस्ट्रांग तथा एडविन आल्ड्रिन अंतरिक्षयान (अपोलो-11) में बैठकर चन्द्रमा पर जाने वाले प्रथम मानव थे।

  11. 'ल्यूनोखोद-1' विश्व का प्रथम स्वचालित वाहन था, जो रूस ने नवम्बर, 1970 में चन्द्रमा पर भेजा गया था। यह मानव रहित वाहन पृथ्वी से प्राप्त आदेशों पर काम करता था।

  12. सोवियत रूस का मानव रहित 'लूना-16' यान चन्द्रमा से मिट्टी के नमूने लेकर आया था।

  13. गेरेमान तितोब सबसे कम उम्र के अंतरिक्ष यात्री थे। 

  14. जुलाई, 1975 में अमरीका और रूस के अन्तरिक्ष यानों (अपोलो-सोयूज) की संयुक्त उड़ान हुई। दोनों यान  अन्तरिक्ष में मिले, यात्री एक-दूसरे के यानों में गए तथा कृत्रिम सूर्य ग्रहण का प्रदर्शन किया। 

  15. वेलनटीना तेरेश्कोवा अंतरिक्ष में जाने वाली पहली महिला हैं।

  16. अगस्त, 1977 में अमेरिका ने बृहस्पति की खोज हेतु वायजर-1 और वायजर-2 भेजे। इन दोनों यानों ने बृहस्पति के चित्र धरती पर भेजे। इन चित्रों से बृहस्पति के 16वें उपग्रह का ज्ञान प्राप्त हुआ। 

  17. 1978 में दो रूसी यान वीनस-11 और वीनस-12 शुक्र पर उतरे। 

  18. 1973 में अमेरिका ने पायनियर-2 भेजा। पायनियर-1 और पायनियर-2 से मिली जानकारी के विश्लेषण से पता लगा कि शनि के चारों ओर कम-से-कम तीन चमकीले चक्र हैं और इस ग्रह के कम-से-कम 10 उपग्रह हैं। 

  19. अमेरिकी अन्तरिक्ष शटल 'कोलम्बिया' संसार का प्रथम ऐसा अन्तरिक्ष यान है, जिसका दोबारा भी प्रयोग किया जा सकता है।

  20. रोचक : सूर्य के रोचक तथ्य

  21. सैली राइड अमेरिका की प्रथम महिला अन्तरिक्ष यात्री है। वह मई 1983 में चैलेन्जर नामक अन्तरिक्ष यान में बैठकर अन्तरिक्ष में गईं। 

  22. हेलेन शर्मन अंतरिक्ष यात्रा में जाने वाले पहले ब्रिटेन की वासी है।

  23. सैली राइड सबसे कम उम्र की अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री थी जो मात्र 32 साल की उम्र में ही अंतरिक्ष की यात्रा की थी।

  24. मार्च 1972 में छोड़ा गया पायनियर-10 अन्तरिक्ष यान अप्रैल 1982 में प्लूटो के आगे तक पहुंच पाया। यह सौर मंडल के बाहर जाने वाला प्रथम यान था। 

  25. रूसी प्रथम अन्तरिक्ष यान सोयूज टी-12 जुलाई में उड़ा, उसमें तीन यात्री थे जिसमें एक महिला "श्वेतलाना सेविस्तकाया" भी थी। यह श्वेतलाना की दूसरी अन्तरिक्ष यात्रा थी; पहली यात्रा उसने 1982 में की थी। इस यात्रा के दौरान उसने यान से बाहर निकलकर यान के बाहरी भाग में वेटिंडग और शोल्डरिंग का काम भी किया। इस प्रकार वह अन्तरिक्ष में यान के बाहर चलने वाली विश्व की प्रथम महिला बनी।

  26. लाइका (Laika) नाम की एक कुतिया थी जो अंतरिक्ष में जाने वाली प्रथम जीव का नाम है।

  27. आर्यभट्ट भारत का पहला उपग्रह है।

  28. भारत का पहला स्वदेशी कृत्रिम उपग्रह (आर्यभट्ट) 19 अप्रैल 1975 को लॉन्च किया था।
आज के इस पोस्ट में हमने अंतरिक्ष रिसर्च के महत्त्वपूर्ण तथ्य (Important facts of space research in Hindi) के बारे में जाना। अन्तरिक्ष विज्ञान से जुड़े प्रश्न अक्सर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं।

उम्मीद करता हूँ कि अंतरिक्ष रिसर्च के महत्त्वपूर्ण तथ्य की यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी, अगर आपको पोस्ट अच्छी लगी हो तो पोस्ट को शेयर जरुर करें।

इन्हे पढ़े-
25 OctoberSTUDY POINT & CAREER