सम्राट अकबर से सम्बंधित 100 रोचक तथ्य | Interesting facts About Emperor Akbar [Updated]

सम्राट अकबर से सम्बंधित रोचक तथ्य (Interesting facts related to Emperor Akbar)


हेलो दोस्तों, इस पोस्ट में हम मुग़ल शासक सम्राट अकबर के बारे में कुछ महत्वपूर्ण और रोचक तथ्य के बारे में जानने वाले हैं । विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में अकबर से जुड़े प्रश्न अक्सर पूछे जाते हैं । अकबर को मुग़ल साम्राज्य का सबसे शक्तिशाली शासक माना  जाता है। 

सम्राट अकबर से सम्बंधित 100 रोचक तथ्य  Interesting facts About Emperor Akbar [Updated]

सम्राट अकबर से सम्बंधित 100 रोचक तथ्य  

अकबर का जन्म राजपूत शासक राणा अमरसाल के महल उमेरकोट, सिंध (वर्तमान पाकिस्तान) में 23 नवंबर, 1542  को  हुआ था। अकबर मुग़ल साम्राज्य  संस्थापक बाबर  पौत्र थे। अकबर  के पिता हुमायूँ तथा माता का हमीदा बानो थी। अकबर  मुग़ल वंश का सबसे शक्तिशाली और प्रसिद्ध सम्राट था । 

अकबर के समय साम्राज्य का सबसे अधिक विस्तार हुआ।  अकबर के दरबार में बड़े बड़े विद्वान का जमावड़ा था । इसी दरबार में नौ महान दरबारियों के समूह को नवरत्न की उपाधि दी गयी थी जिसे अकबर के नवरत्न कहा जाता है । सन 1556 में  गुरदासपुर के कलनौर नामक स्थान पर 14  वर्ष की उम्र  में अकबर का राजतिलक हुआ। 

अकबर से सम्बंधित रोचक तथ्य-facts About Emperor Akbar


निचे दिए गये सम्राट अकबर से सम्बंधित 100 रोचक तथ्य बहुत महत्वपूर्ण हैं इनमे से कई प्रश्न परीक्षा में पूछे जा चुके हैं इसलिए इन्हें नोट जरुर करें - 
  • दास प्रथा का अंत 1562 में, अकबर ने किया था । 
  • अकबर ने फतेहपुर सीकरी में बुलंद दरवाजे का निर्माण कराया था । 
  • अकबर ने महान संगीतज्ञ तानसेन को  ‘कठाभरणवाणी’ की उपाधि दी थी  ।
  • सम्राट अकबर  के काल में ही "महाभारत"  फारसी में अनुवाद हुआ था ।
  • सम्राट अकबर के जीवन से जुड़ी एक किताब अबुल फजल नामक लेखक ने "आइन-ए-अकबरी "लिखा था।
  • अकबर सूफी संत शेख सलीम चुश्ती  समकालीन थे। 
  • अकबर के दरबार में "बीरबल" दीन-ए-इलाही धर्म स्वीकार करने वाला प्रथम व अंतिम हिन्दू था।
  • पानीपत का दूसरा युद्ध 1556 ई.मे अकबर व हेमू के बीच लड़ा गया।
  • अकबर ने जैन धर्म के आचार्य हरिविजय सूरी को जगतगुरु की उपाधि दी थी।
  • राजस्व प्राप्ति की जब्ती प्रणाली अकबर के शासनकाल में प्रचलित थी. 
  • अकबर को सिंकदरबाद के पास दफनाया गया था. 
  • मुगलों की राजकीय भाषा फारसी थी.
  • अकबर के काल को हिंदी साहित्य का स्वर्ण काल कहा जाता है. 
  • अकबर ने बीरबल को कविप्रिय और नरहरिको महापात्र की उपाधि दी थी 
  • अकबर ने बुलंद दरवाजे का निर्माण गुजरात विजय के उपलक्ष्य में करवाया था.
  • अकबर की शासन प्रणाली की प्रमुख विशेषता मनसबदारी प्रथा थी. 
  • मक्का जाते हुए बैरम खां की हत्या पाटन नामक स्थान पर मुबारक खां ने कर दी।
  • अकबर ने शाही दरबार में सूर्य उपासना शुरू करवाई।
  • अकबर का राजकवि फैजी ( अबुल फजल के बड़े भाई ) था।
  • यूसुफ़जइयों के विद्रोह को दबाने के समय बीरबल की हत्या हो गयी।
  • 1602 ईo में सलीम के कहने पर वीरसिंह बुंदेला ने अबुल फजल की हत्या कर दी।
  • अकबर का पहला जीवनीकार बायजीद बयात था।
  • अकबर की मृत्यु अतिसार रोग के कारण 1605 ई. में हुई थी.।
  • अकबर ने ही जजिया कर समाप्त किया था। 
  • 1576 ई. में अकबर के सेनापति राजा मानसिंह ने महाराणा प्रताप को हराया।
  • अकबर ने पंचतंत्र का फारसी में अनुवाद "अनवर-ए-सुहैली" नाम से करवाया।
  • अकबर ने भू-राजस्व के लिए दहसाला पद्धतिपद्धति अपनाई।
  • अकबर ने बैरम खां के संरक्षण में  1560 ई. तक शासन किया
  •  अकबर ने सबसे पहले समुद्र  गुजरात विजय के दौरान देखा।
  • गुजरात विजय के दौरान अकबर पुर्तगालियों  से मिला।
  • पंचतंत्र का फारसी अनुवाद अनवर-ए-सुहैली अबुल फजल ने लिखा।
  • महाभारत का फारसी में रम्जानामा नाम सेबदायूंनी नकीव खां ने अनुवाद किया।
  • जब अकबर सम्राट बन गया तब  बैरम खान को खान-ए-खाना की उपाधि दी।
  • हल्दीघाटी का युद्ध 1576 ई. में लड़ा गया।
  • दक्षिण विजय के बाद (असीरगढ़ युद्ध - 1601 ई।) अकबर ने सम्राट की उपाधि धारण की ।
  • अकबर द्वारा लागू की गई मनसबदारी प्रणाली मंगोलिया  में प्रचलित प्रणाली से उधार ली गई थी।
  • अकबर ही तीर्थ यात्रा कर समाप्त किया था ।
  • फतेहपुर सीकरी का(इबादतखाना) पूजा हॉल वह  इमारत था जिसमें अकबर विभिन्न धर्मों के विद्वानों के साथ चर्चा करते थे।
  • अकबर के समय भूमि राजस्व प्रणाली की एक प्रसिद्ध नीति आईन-ए-दहसाला टोडरमल के द्वारा बनाई गई थी।
  •  'अकबरनामा' अबुल फजल ने लिखा था।
  •  माहम अनगा मुगल काल की एकमात्र महिला प्रधान मंत्री थी।
  • संत मोईनुद्दीन चिश्ती  की दरगाह पर अकबर अधिक जाया करते थे।
  • सिख गुरु रामदास ने अकबर को 500 बीघा जमीन दी थी।
  • अकबर भारतीय शासक रानी दुर्गावती  का समकालीन था।
  • अबुल फजल ने अकबर को  'जिल-ए-इलाही' (ईश्वर की छाया) और 'फर्र-ए-इज्डी' (ईश्वर से निकलने वाली रोशनी) कहा।
  • 'झरोका दर्शन'अकबर द्वारा पेश किया गया था।
  • अकबर के दीन-ए-इलाही के बारे में चर्चा करने वाले 'दास्तान मज़ाहिब' के लेखक मोहसिन फानी  थे।
  • अकबर के सर्वत्र शांति विचार का उदय हुआ क्योंकि  उसे विभिन्न धर्मों और उनके रीति-रिवाज़ों में रूचि थी।
  • सम्राट अकबर  के शासनकाल के अंतिम वर्ष में वतन जागीर की अवधारणा अस्तित्व में आई थी।
  • मुगल सम्राट अकबर ने कश्मीर के श्रीनगर में दिवाली मनाई थी।
  • अकबर का कहना था कि "एक सम्राट को हमेशा विजय का इरादा रखना चाहिए, अन्यथा उसके दुश्मन उसके खिलाफ हथियार उठा लेते हैं।"
  •  मुगल सम्राट अकबर  वेदांत दर्शन से प्रभावित था और जगत गुरु  गोसाईं से मिलने गया था।
  • अकबर के दरबार में दासवंत नामक चित्रकार पालकी वाहक (कहार) का पुत्र था।

अब तक हमने अकबर का शासन काल in Hindi,अकबर का इतिहास इन हिंदी अकबर को किसने हराया था, अकबर का शासन काल in English अकबर का जन्म कहां हुआ था और कब हुआ अकबर की कितनी बेगम थी ये हमने जाना आगे और इस तरह कई रोचक जानकारी सम्राट अकबर से सम्बंधित दिए गये हैं | 

अकबर महान के 40 रोचक तथ्य Amazing Facts about Akbar The Great in HIndi

  • सम्राट बनने के बाद अकबर ने बैरम खां को वजीर नियुक्त किया था और उन्हें “खाने-ऐ-खाना” की उपाधि दी थी।
  • पानीपत की दूसरी लड़ाई 1556 ई० में अकबर और हेमू के बीच लड़ी गई थी। इस युद्ध में हेमू की आंख में तीर लगा था। इसी वजह से वह युद्ध में पराजित हुआ था।
  • अकबर ने “बुलंद दरवाजा” का निर्माण करवाया था।
  • 1571 ई० में अकबर ने आगरा के निकट फतेहपुर सीकरी नगर की स्थापना की थी।
  • 1582 ई० में अकबर ने “दीन ए इलाही” धर्म बनाया था। दीन ए इलाही धर्म को सिर्फ अकबर के मंत्री बीरबल ने स्वीकार किया था।
  • अकबर वेश्यावृत्ति और हरम में महिलाओं को रखने के पक्ष में था। उसके शासनकाल में बहुत सी सुंदरियों का अपहरण हुआ जिन्हें हरम में लाकर रखा गया। कुछ विद्वानों का मत है कि सती प्रथा के समय जो भी सुंदरी उसके सैनिकों को पसंद आती थी। वे उसका अपहरण करके हरम में ले आते थे। इस तरह कहा जाता है कि अकबर हरम प्रथा के पक्ष में था।
  • अकबर बहुत ही समझदार सम्राट था। जब तक आवश्यक ना हो वह युद्ध नहीं करता था। युद्ध से बचने के लिए वह दूसरे राज्यों से वैवाहिक संबंध, अधीनता स्वीकार करना और मित्रता करने की नीति अपनाता था।
  • अकबर ने महाभारत और रामायण ग्रंथों का फारसी में अनुवाद कराया था। अब्दुल रहीम खानखाना ने हिंदी में बहुत से दोहे लिखे थे जो आज भी  प्रसिद्ध हैं।
  • अकबर की माता महा अंगा ने उसके संरक्षक बैरम खां के विरुद्ध साजिश की थी। बैरम खां को हज जाने का आदेश दिया गया था। वहां पर 1561 ई० में उसकी हत्या कर दी गई थी।
  • अकबर के पिता का नाम हुमायूं और माता का नाम हमीदा बानो बेगम था।
  • 9 वर्ष की उम्र में अकबर को गजनी का सूबेदार बना दिया गया था।
  • हुमायूं ने 1555 ई० में सिकंदर सूरी से सरहिंद का ताज छीन लिया था। उसके बाद अकबर को युवराज घोषित कर दिया गया था।
  • हुमायूं की मृत्यु के बाद बैरम खां को अकबर का संरक्षक बनाया गया जिसने 1556 ई० में अकबर का राज्याभिषेक करवाया था। उस समय अकबर की आयु सिर्फ 13 वर्ष थी। वह उस समय नाबालिग सम्राट था।
  • 18 जून, 1576 ई० में हल्दीघाटी का युद्ध अकबर और महाराणा प्रताप के बीच हुआ था जिसमें अकबर की जीत हुई थी।
  • अकबर के दरबार में 9 नवरत्न थे- बीरबल, तानसेन, मानसिंह, मुल्ला दो प्याजा, फैजी, अबुल फजल, रहीम खानखाना, टोडरमल और हकीम हुकाम।
  • अबुल फजल ने “अकबरनामा” और “आइने अकबरी” ग्रंथ की रचना की थी।
  • सम्राट अकबर के शासन काल को हिंदी साहित्य का स्वर्ण काल कहा जाता है क्योंकि उसमें बहुत से हिंदी ग्रंथों की रचना की गई।
  • अपने पूरे जीवन काल में अकबर अनपढ़ रहा। उसने कभी शिक्षा प्राप्त नही की।
  • अकबर की याददाश्त बहुत तेज थी। वह जो बातें सुनता था उसे हमेशा याद रहती थी। इस कारण अनपढ़ होते हुए थे वह अत्यंत बुद्धिमान था।
  • अकबर ने हिंदुओं पर लगने वाले कर जजिया को 1562 ई० समाप्त कर दिया था।

इस पोस्ट में हमने मुग़ल शासक सम्राट अकबर के बारें में विस्तार से जाना। विभिन्न परीक्षाओं  पूछे गए प्रश्नों को ध्यान में रखकर इस पोस्ट का संग्रह किया है जिसमें परीक्षापयोगी तथ्यों को रखने का प्रयास किया गया है ।

उम्मीद करता हूँ कि आपके लिए यह पोस्ट उपयोगी साबित होगा इस प्रकार और महत्वपूर्ण पोस्ट निचे दिए हैं इन्हें भी जरुर पढ़ें - 
इसे Whatsapp, Telegram, Facebook और Twitter पर शेयर करें।

0 Comments:

Post a Comment

हमें आपके प्रश्नों और सुझाओं का इंतजार है |