Active Study Educational WhatsApp Group Link in India
Showing posts with label MATHS. Show all posts

मुद्रा और मुद्रा के प्रकार (Currency and types of Currency)

मुद्रा क्या हैं? मुद्रा के प्रकार (What are currency and currency type)

मुद्रा क्या हैं ? (What are currency?)

हेलो दोस्तों, इस आर्टिकल में हम मुद्रा और मुद्रा के प्रकार(Currency and types of Currency) के बारे में जानेंगे।  कोई भी ऐसी वस्तु जो जनता की आम सहमति के द्वारा लेन – देन या भुगतान के माध्यम के रूप में प्रयोग की जाती है। अर्थात् जिसका उपयोग विनिमय (Exchange) के रूप में किया जाता है। वह मुद्रा ( Money ) कहलाती है। प्रत्येक देश की अपनी एक राष्ट्रीय मुद्रा होती है। जैसे भारत की राष्ट्रीय मुद्रा "रूपया" है 

Currency and types of Money

    मुद्रा की तरलता (Money Liquidity)

    मुद्रा की वह क्षमता जिससे उसे नकद में रूपांतरित किया जा सकता है। उस मुद्रा की तरलता ( Liquidity of Money ) कहते हैं। जितनी अधिक आसानी से नकद में रूपांतरित किया जा सकेगा उतनी ही अधिक मुद्रा की तरलता होगी।

    संक्रीण मुद्रा (Narrow Money)

    मुद्रा आपूर्ति का वह हिस्सा जिसको आसानी से नकद में रूपांतरित किया जा सकता है। जिसकी तरलता सर्वाधिक होती है। संक्रीण मुद्रा कहलाती है। उदाहरण -: कैश ( Cash )

    वृहद मुद्रा (Broad Money)

    मुद्रा आपूर्ति का वह हिस्सा जिसे थोड़े से प्रयास से नकद में रूपांतरित किया जा सकता है। वृहद मुद्रा कहलाती है। उदाहरण -: चेक (Cheque)

    समीप मुद्रा (Near Money)

    इस प्रकार की मुद्रा की तरलता काफी कम होती है। परंतु कुछ प्रयासों के द्वारा तरल में रूपांतरित किया जा सकता है। समीप मुद्रा कहलाती है। उदाहरण -: शेयर (Share)

    मुद्रा के प्रकार (Types of Money)

    1. वस्तु या पदार्थिय मुद्रा (Commodity Money)

    इस प्रकार की मुद्रा में किसी भी पदार्थ का उपयोग मुद्रा के रूप में किया जाता है। उदा. – बर्तन, हाथी दांत।

    2. धात्विक मुद्रा (Metallic Money)

    जब किसी भी धातु का उपयोग मुद्रा के रूप में करते हैं तो उसे धात्विक मुद्रा कहा जाता है। उदा. – सोना, चांदी।

    3. मानक मुद्रा (Standard Money)

    यह धात्विक मुद्रा का ही प्रकार है। यहां पर अंकित मान का मूल्य उतना ही होता है। जितने मूल्य की वह वस्तु है। उदा. – सिक्के।

    4. सांकेतिक मुद्रा (Token Money)

    यहां पर अंकित मान निर्मित मौद्रिक वस्तु के मूल्य से अधिक होता है।

    5. कागजी मुद्रा (Paper Money)

    जब कागज का उपयोग भिन्न भिन्न मौद्रिक मान के लिए किया जाता है। भारत में कागजी मुद्रा भारतीय रिजर्व बैंक के द्वारा जारी की जाती है।

    अपवाद = भारत में एक रुपए को वित्त मंत्रालय द्वारा जारी किया जाता है। तथा इस पर वित्त सचिव के हस्ताक्षर होते हैं। और सभी प्रकार के सिक्कों को वित्त मंत्रालय जारी करता है व रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया चलन में लेकर आता है।

    6. आदेश मुद्रा (Order currency)

    इसे सरकारी आदेशों के द्वारा जारी किया जाता है। इसके वैधानिक महत्व होते हैं। इस मुद्रा को बगैर सोना, प्रतिभूतियों के आधार पर जारी किया जाता है। इसे संकट की घड़ी में इस्तेमाल किया जाता है। वर्ल्ड वार-2 के समय सबसे ज्यादा आदेश मुद्रा हिटलर ने जारी की थी।

    7. बैंक मनी (Bank Money)

    यह वह मुद्रा है जो आम जनता द्वारा बैंकों में जमा की हुई है। इस मुद्रा को मांग के अनुसार भुगतान किया जाता है। इसी जमा राशि के आधार पर चेक, ड्राफ्ट जारी किए जाते हैं। अतः इसे क्रेडिट मुद्रा भी कहते हैं।

    8. खाता मुद्रा (Money of Account)

    यह मुद्रा का वह रूप है जिस रूप में सरकार अपने खाते का रख रखाव करती है।

    9. वास्तविक मुद्रा (Real Money)

    यह वह मुद्रा है जो वास्तव में किसी देश में चलन में है।

    10. वैधानिक मुद्रा (Legal Tender Money/ Fiat Money)

    यह वह मुद्रा है। जिसको सरकार या कानून से समर्थन प्राप्त होता है। प्रत्येक व्यक्ति इस मुद्रा को स्वीकार करने के लिए बाध्य होता है।

    इसके दो प्रकार होते हैं –

    1. सीमित वैधानिक मुद्रा/ Limited Legal Tender Money (सिक्के)

    2. असीमित वैधानिक मुद्रा/ Unlimited Legal Tender Money (कागजी नोट)

    11. बंजर मुद्रा (Barren Money)

    नगद को बंजर मुद्रा कहते हैं। क्योंकि नकद अपने आप में कुछ भी उत्पन्न नहीं करता है।

    मुद्रा के कार्य (Use of Money)

    यह विनिमय (Exchange) का माध्यम है। वस्तुओं और सेवाओं (Goods and Services) के मूल्य का निर्धारण (pricing) करता है। आंशिक भुगतान (Partial payment) के मानक के रूप में कार्य करता है। इसमें धारण की प्रकृति (nature of holding) होनी चाहिए। यह तत्काल हुए लेन देन को प्रभावी करता है। यह साख का आधार है। यदि हमारे खाते में मुद्रा होगी तभी हम साख उत्क्रमण (Credit Reversal) का प्रयोग कर सकते हैं।


    आज के इस आर्टिकल में हमने मुद्रा और मुद्रा के प्रकार (Currency and types of Currency) के बारे में जाना।प्रत्येक की ओनी एक राष्ट्रीय मुद्रा होती है । जैसे भारत कि राष्ट्रीय मुद्रा रूपया  है। मुद्रा से जुड़े प्रश्न विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं।

    उम्मीद करता हूँ कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी अगर आपको पोस्ट पसन्द आये तो पोस्ट को शेयर जरुर करें

    Reasoning Answer Page - 01 to 05

    Reasoning Answer Page - 01 to 05

    रीजनिंग एक महत्वपूर्ण विषय होता है, जिसके प्रश्न अधिकतर सभी परीक्षाओ में पूछे जाते है | वहीं, रीजनिंग का हिंदी में मतलब तर्कशक्ति, विचार, विवेक बुद्धि से होता है, रीजनिंग को यदि परीक्षा की नजर में देखा जाए, तो ऐसे सवाल जिन्हे केवल दिमाग में भी हल किया जा सकते है |

    रीजनिंग के अलग अलग विषयो पर रीजनिंग के अलग – अलग प्रश्न जैसे, रीजनिंग कैलेंडर, ऊँचाई और दूरी, साधारण ब्याज, लाभ और हानि, प्रतिशत दर, स्टॉक और शेयर, समय और दूरी, समय और काम, चक्रवृद्धि ब्याज, साझेदारी, उम्र पर समस्याएं, घड़ी, नंबर पर समस्याएं, बैंकर का डिस्काउंट आदि | इस प्रकार से है:- जो आपसे परीक्षाओं में पूछे जाते है |

    Reasoning Answer Page - 01 to 05


    Reasoning के उत्तर यहाँ से देखें –

    Answer No (01):- 9+16*5=89

     

    Answer No (02):-12+20*8=172

     

    Answer No (03):-10*10=100-10=90

     

    Answer No (04):- 2*2*2=8

     

    Answer No (05):- 3+2=5 5+4=9 9+8=17 so 17+16=33

    गणित के महत्वपूर्ण सूत्र | Important Math’s Formulas |

     गणित के महत्वपूर्ण सूत्र

    आज के इस आर्टिकल में हम जानेगें  गणित के कुछ महत्वपूर्ण सूत्रों के बारे में जिनका उपयोग गणित के सवालों को हल करने  के लिए किया जाता है इन सूत्रों की सहायता के बिना गणित के सवालों को हल करना कठिन होता है इसलिए इन सूत्रों को जानना बहुत जरुरी है  प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे RRB,NTPC,UPSC,STATE PCS,UGC NET/JRF,SSCइत्यादि में  गणित से सम्बंधित सवाल पूछा  जाता है  तो आइये जानते हैं इन महत्वपूर्ण सूत्रों के बारे में-


    गणित के महत्वपूर्ण सूत्र | Important Math’s Formulas |

    Important Math’s Formulas

    1. Work = force × distance

    कार्य = बल × दूरी

    2. Energy = force × distance

    ऊर्जा = बल × दूरी

    3. Speed = distance / time

    गति = दूरी / समय

    4. Velocity= displacement / time

    वेग = विस्थापन / समय

    5. Electric field = electrical force/charge

    विद्युत क्षेत्र= वैद्युत बल/आवेश

    6. Force = force/area

    प्रतिबल=बल/क्षेत्रफल

    7. Volume = length × width × height

    आयतन = लंबाई × चौड़ाई × ऊंचाई

    8. Mass density = mass/volume

    द्रव्यमान घनत्व =द्रव्यमान/आयतन

    9. Acceleration =velocity / time

    त्वरण = वेग / समय

    10. Power = work / time

    शक्ति = कार्य / समय

    11. Pressure = force / area

    दाब =बल/क्षेत्रफल

    11. Momentum = mass × velocity

    संवेग = द्रव्यमान × वेग

    13. Area (A) = Length × Width

    क्षेत्रफल ( A ) = लम्बाई × चौड़ाई

    14. Force (F) = Mass × Acceleration

    बल ( F ) = द्रव्यमान × त्वरण

    15. Pressure Energy = Pressure × Volume

    दाब ऊर्जा = दाब × आयतन

    16. Impulse = force × time

    आवेग = बल × समय

    17. Linear momentum = mass × velocity

    रैखिक संवेग = द्रव्यमान × वेग

    18. Kinetic energy = 1/2 mv²

    गतिज ऊर्जा = 1/2 mv²

    19. Mechanical energy = kinetic energy + potential energy

    यांत्रिक ऊर्जा = गतिज ऊर्जा + स्थितिज ऊर्जा

    20. Angular momentum = Inertial × Angular velocity

    पढ़े -विज्ञान और गणित का इतिहास देखें

    कोणीय संवेग = जड़त्व आघूर्ण  × कोणीय वेग

    आयत (Rectangle) :- वह चतुर्भुज जिसकी आमने-सामने की भुजाएं समान हो तथा प्रत्येक कोण समकोण (90º) के साथ विकर्ण भी समान होते हैं।

    आयत का क्षेत्रफल = लम्बाई (l) × चौड़ाई (b)

    आयत का परिमाप = 2 (लम्बाई + चौड़ाई)

    कमरे की चार दीवारों का क्षेत्रफल = 2 (लम्बाई + चौड़ाई) × ऊंचाई

    वर्ग (Square) :- उस चतुर्भुज को वर्ग कहते हैं, जिनकी सभी भुजाएं समान व प्रत्येक कोण समकोण है।

    वर्ग का क्षेत्रफल = (भुजा)2

    वर्ग का विकर्ण = √2 ×भुजा

    वर्ग का परिमाप = 4 × (भुजा)

    (नोटः यदि किसी वर्ग का क्षेत्रफल = आयत का क्षेत्रफल हो, तो आयत का परिमाप सदैव वर्ग के परिमाप से बड़ा होगा।)

    पढ़े - वैज्ञानिक उपकरण एवं उनके काम

    शून्य के नियम

    a1  = a

    a0 = 1

    a*0 = 0

    a अपरिभाषित है 

    बीजगणित (Algebra) Formulas

    (a + b)2 = a2 + 2ab + b2

    (a – b)2  = a2 – 2ab + b2

    (a + b) (a – b) = a2 – b2

    (x + a)(x + b)  = x2 + (a + b)x + ab

    (x + a)(x – b)  = x2 + (a – b)x – ab

    (x – a)(x + b)  = x2 + (b – a)x – ab

    (x – a)(x – b)  = x2  – (a + b)x + ab

    (a + b)3  = a3 + b3 + 3ab(a + b)

    (a – b)3  =  a3 – b3 – 3ab(a – b)

    (x + y + z) 2  = x2 + y2 + z2 + 2xy + 2yz + 2xz

    (x + y – z) 2  =  x2 + y2 + z2 + 2xy – 2yz – 2xz

    (x – y + z)2  = x2 + y2 + z2 – 2xy – 2yz + 2xz

    (x – y – z)2  = x2 + y2 + z2 – 2xy +  2yz – 2xz

    x3 + y3 + z3 – 3xyz  = (x + y + z)(x2 + y2 + z2 – xy – yz -xz)

    x2 + y2  = 1212 [(x + y)2 + (x – y)2]

    (x + a) (x + b) (x + c) = x3 + (a + b +c)x2 + (ab + bc + ca)x + abc

    x3 + y3 = (x + y) (x2 – xy + y2)

    x3 – y3  = (x – y) (x2 + xy + y2)

    x2 + y2 + z2 -xy – yz – zx = 1212 [(x-y)2 + (y-z)2 + (z-x)2]

    घातांक के नियम (Low Of Formula Exponents)

    am xa n  = am+n

    aman = am – naman = am − n

    (am)n  =  amn

    (am)(an) = am+n

    (ab)m = ambm

    (am)n = amn

    (ambn)p =   ampb np

    a-m = 1am1am

    पढ़े - BODMAS नियम क्या है?

    त्रिकोणमिति (Trigonometry) Table

    कोण (डिग्री में)

    30°

    45°

    60°

    90°

    180°

    270°

    360°

    sin

    0

    1/2

    1/√2

    √3/2

    1

    0

    -1

    0

    cos

    1

    √3/2

    1/√2

    1/2

    0

    -1

    0

    1

    tan

    0

    1/√3

    1

    √3

    0

    0

    cot

    √3

    1

    1/√3

    0

    0

    cosec

    2

    √2

    2/√3

    1

    -1

    sec

    1

    2/√3

    √2

    2

    -1

    1


    आज के इस पोस्ट में आपने गणित के कुछ महत्वपूर्ण सूत्रों के बारे में पढ़ा ,इन सूत्रों की सहायता से गणित के प्रश्नों को हल किया जाता है इनका  उपयोग दैनिक गतिविधियों में भी होता है इसलिए इन सूत्रों को जानना जरुरी है.
    उम्मीद है यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगी अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो इए शेयर जरुर करें .
     






    TELEGRAM ग्रुप में जुड़ने के लिए - क्लिक करें

    फ्री पीडीऍफ़ डाउनलोड करें:-