Active Study Educational WhatsApp Group Link in India
Showing posts with label SSC. Show all posts

ग्रह (Planets) | Planets of Solar System in Hindi | सौरमंडल के ग्रह

सौरमंडल के ग्रह (planets of solar system) | What is the planet in Hindi

सौरमंडल के ग्रहों और ग्रह क्या होतें है, इनके बारे में जानकारी आपको इस पोस्ट में मिल जाएगी। General Knowledge of Planets of Solar System in Hindi

आपको जानकर हैरानी होगी कि प्लानेट नाम का अर्थ बहुत ही अजीब है- Planet एक लैटिन का शब्द है, जिसका अर्थ होता है इधर-उधर घूमने वाला।

Planets of Solar System in Hindi



हमारे सौर मंडल में आठ ग्रह हैं - बुध, शुक्र, पृथ्वी, मंगल, बृहस्पति, शनि, अरुण और वरुण। इनके अतिरिक्त तीन बौने ग्रह और हैं - सीरीस, प्लूटो और एरीस।


ग्रहों के नाम हिंदी और इंग्लिश में (Planets Name In Hindi-English)

Planet English Name Planet Hindi Name
Mercury (मर्करी) बुध (Budh)
Venus (वेनस) शुक्र (Shukra)
Earth (अर्थ) पृथ्वी (Prithvi)
Mars (मार्स) मंगल (Mangal)
Jupiter (जुपिटर) बृहस्पति (Brahspati)
Saturn (सैटर्न) शनि (Shani)
Uranus (युरेनस) अरुण (Arun)
Neptune (नेप्‍च्‍यून) वरुण (Varun)

ग्रह क्या होते है? (What are planets in hindi?)

ग्रह (प्लानेट- Planet)

  • सौर मंडल के ग्रह (Planets of Solar System)
  • वे आकाशीय पिंड जो सूर्य या अन्य किसी तारे का चक्कर लगाते हैं तथा जो तारों के प्रकाश से चमकते हैं, उन्हें ग्रह कहते हैं। 
  • सूर्य की तुलना में ग्रहों का आकार छोटा और तापमान कम होता है।
  • प्रत्येक ग्रह सूर्य के चारों और एक दीर्घवृत्तीय कक्षा में चक्कर लगाता है। 
  • मुख्य ग्रहों के अलावा हमारे सौरमंडल में 5 बौने (Dwary Planets) है यथा प्लूटो, सीरस, ट्राईस, मेकमेक और होमीया ) (Pluto, Ceres, Tris, ´Makemake, Haumea). 
  • यम (Pluto) को सन् 2006 से ग्रहों की सूची से बाहर निकाल दिया गया है। 
  • सभी ग्रह घड़ी की उल्टी दिशा में चक्कर लगाते हैं, जबकि शुक्र और अरुण घड़ी की सीधी दिशा में चक्कर लगाते हैं। 
  • सौरमंडल में सूर्य के चारों ओर 8 ग्रह चक्कर लगाते हैं। इनमें से छह ग्रह पृथ्वी, बुध, मंगल, बृहस्पति, शुक्र और शनि प्राचीनकाल से ही ज्ञात थे तथा अन्य तीन-अरुण, वरुण तथा यम की खोज दूरबीन के आविष्कार के बाद हुई।
  • सूर्य से बढ़ती दूरी के क्रम में ग्रह हैं- बुध, शुक्र, पृथ्वी, मंगल, बृहस्पति, शनि, अरुण, वरुण तथा यम यम की कक्षा सर्वाधिक दीर्घवृत्तीय (elliptical) है। सूर्य से इसकी कक्षा की निकटतम दूरी 4.4 बिलियन किलोमीटर और अधिकतम दूरी 7.3 बिलियन किलोमीटर है। 
  • सभी ग्रह सूर्य के चारों ओर वामावर्त दिशा में शु घूमते हैं। उनकी अपनी अक्षीय गति भी वामावर्त दिशा में ही होती है, लेकिन शुक्र और अरुण इसके अपवाद हैं। शुक्र की अक्षीय गति अन्य ग्रहों की तुलना में उल्टी होती है, जबकि अरुण अपने किनारों के गिर्द घूमता है। 
  • बृहस्पति, शनि, अरुण और वरुण विशाल ग्रह हैं। 
  • केवल पाँच ग्रह ऐसे हैं, जिन्हें नग्न आँखों से (पृथ्वी के अलावा) देखा जा सकता है- बुध, शुक्र, मंगल, बृहस्पति, शनि। 
  • ग्रह दो प्रकार के होते हैं-स्थलीय तथा जोवियन । 
  • जिन ग्रहों की रचना पृथ्वी के समान होती है, उन्हें स्थलीय या पार्थिव ग्रह कहते हैं। ये चार हैं- बुध, शुक्र, पृथ्वी तथा मंगल।
  • मंगल ग्रह की कक्षा के बाहर स्थित ग्रह, जोवियन ग्रह कहलाते हैं। ये भी चार ग्रह हैं- बृहस्पति, शनि, अरुण तथा वरुण । यम इन दोनों श्रेणियों में से किसी में भी नहीं आता है। 
  • सूर्य से ग्रहों की दूरी के आधार पर सौरमंडल के ग्रहों को दो भागों में विभाजित किया जाता है-आंतरिक ग्रह तथा बाह्य ग्रह|
  • आंतरिक ग्रहों में बुध, शुक्र, पृथ्वी तथा मंगल ग्रह आते हैं। 
  • बाह्य ग्रहों में बृहस्पति, शनि, अरुण, वरुण तथा यम आते हैं। 
  • सौरमंडल के बाह्य भाग वाले ग्रह आंतरिक भाग वाले ग्रहों की अपेक्षा काफी दूर हैं
  • आकार की दृष्टि से विभिन्न ग्रह (बड़े से छोटे ) इस प्रकार हैं- बृहस्पति, शनि, अरुण, वरुणपृथ्वी, शुक्र, मंगल एवं बुध । 
  • सूर्य से बढ़ती दूरी के आधार पर विभिन्न ग्रह इस प्रकार हैं- बुध, शुक्र, पृथ्वी, मंगल, बृहस्पति, शनि, अरुण एवं वरुण । 

बुध (मरकरी- Mercury) 

  • बुध ग्रह हमारे सौरमंडल का पहला ग्रह है।
  • यह सूर्य से सबसे पास स्थित है। 
  • इसका कोई उपग्रह नहीं हैं। यहाँ जीवन नहीं है। 
  • सूर्य का एक चक्कर लगाने में बुध को 88 दिन लगते है, जो सबसे कम है। 
  • इस ग्रह में चुंबकीय क्षेत्र नहीं पाया जाता है । 
  • इसका व्यास 4,849.6 किमी. है तथा इसकी सूर्य से औसत दूरी 5.76 करोड़ किलोमीटर है।


शुक्र (वीनस- Venus)

  • शुक्र ग्रह हमारे सौरमंडल का दूसरा ग्रह है।
  • यह सबसे चमकीला ग्रह है। इसका तापमान लगभग 500° सेंटीग्रेड है 
  • यह सबसे गर्म ग्रह है। 
  • यह एक शुष्क ग्रह है तथा यहाँ जीवन का अभाव है। 
  • इसे सूर्य का एक चक्कर लगाने में 225 दिन लगते हैं। 
  • इस ग्रह में सल्फ्यूरिक अम्ल के घने बादल छाए रहते हैं। 
  • शुक्र के वायुमंडल का 96 प्रतिशत भाग कार्बन डाइ ऑक्साइड और 3.5 प्रतिशत भाग नाइट्रोजन है।
  • शुक्र ग्रह पूर्व से पश्चिम की तरफ अपने अक्ष पर घूर्णन करता है, अतः यहाँ सूर्योदय पश्चिम की तरफ होता है।
  • शुक्र को भोर का तारा (morning star), सांध्य का तारा (evening star), पृथ्वी का जुड़वाँ तारा, पृथ्वी की बहन आदि नामों से भी जाना जाता है। 
  • शुक्र का व्यास 12,032 किमी. है तथा इसकी सूर्य से औसत दूरी 10.75 करोड़ किमी. है।


पृथ्वी (अर्थ- Earth)

  • पृथ्वी सौरमंडल में सूर्य से तीसरा ग्रह है। 
  • यह एकमात्र ऐसा ग्रह है, जिस पर जीवन है। 
  • पृथ्वी की उत्पत्ति के संदर्भ में नवीनतम सिद्धांत, बिगबैंग या महाविस्फोट सिद्धांत है। 
  • अंतरिक्ष से देखने पर पृथ्वी ग्रह, एक नीले तथा चमकीले गोले के समान दिखाई देता है। 
  • पृथ्वी गोलाकार है। इसके 71 प्रतिशत भाग पर जल एवं 29 प्रतिशत भाग पर स्थल है। 
  • पृथ्वी उत्तरी व दक्षिणी ध्रुवों पर चपटी है, इसलिए ध्रुवों पर लिये गए पृथ्वी के व्यास व भूमध्यरेखा पर लिये गए पृथ्वी के व्यास में अंतर है। पृथ्वी अपने अक्ष पर पश्चिम से पूर्व की ओर घूमती है। यह अवधि 23 घंटे 56 मिनट 4 सेकेंड है। घूर्णन की इसी घटना के कारण दिन एवं रात होते हैं
  • विषुवत रेखा पर घूर्णन की यह गति 1610 किमी. प्रति घंटा, 60° पर 850 किमी प्रति घंटा तथा ध्रुवों पर शून्य होती है।
  • पृथ्वी, सूर्य के चारों ओर एक निश्चित दीर्घवृत्ताकार पथ पर 29.72 किमी प्रति सेकेंड की दर से परिक्रमण करती है। इस परिक्रमण की अवधि 365 दिन, 5 घंटे एवं 48 मिनट और 46 सेकेंड अर्थात 3651/4 होती है। चौथाई दिवस प्रतिवर्ष फरवरी महीने में जुड़ जाता है, जिससे उस वर्ष फरवरी 29 दिनों की होती है। इसे लीप वर्ष कहते हैं
  • पृथ्वी के परिक्रमण तथा अक्ष पर झुकाव कारण ही ऋतु परिवर्तन होते हैं। 

मंगल (मार्स- Mars)

  • मंगल ग्रह हमारे सौरमंडल का चौथा ग्रह है।
  • मंगल अपने अक्ष पर पृथ्वी की तरह ही झुका हुआ है. इसी वजह से यहाँ पृथ्वी की तरह ही मौसम परिवर्तन की घटनायें होती हैं। इसका व्यास 6755.2 किमी. है तथा सूर्य से इसकी दूरी 22.56 करोड़ किमी. है। 
  • मंगल ग्रह को लाल ग्रह भी कहा जाता है। 
  • मंगल 687 दिनों में सूर्य की परिक्रमा करता है। 
  • यहाँ भारी मात्रा में Feo पाया जाता है। 
  • मंगल पर सबसे बड़ा ज्वालामुखी ओलम्पस मोन्स (Olympus mons) है। मंगल के दो चंद्रमा भी हैं, जिन्हें फोमोस और डीमोस कहते हैं। 
  • मंगल में एवरेस्ट पर्वत से तीन गुनी ऊँची चोटी स्थित है, जिसका नाम निक्स ओलम्पिया है।


बृहस्पति (जुपिटर- Jupiter)

  • बृहस्पति ग्रह हमारे सौरमंडल का पांचवां ग्रह है।
  • आकार की दृष्टि से वृहस्पति सबसे बड़ा ग्रह है, जो पृथ्वी से लगभग 1300 गुना बड़ा है। इसकी गति भी अन्य ग्रहों की तुलना में तीव्र है।
  • बृहस्पति का तापमान - 150°C है। 
  • बृहस्पति के वायुमंडल में हाइड्रोजन और हीलियम की प्रधानता है। इसमें शक्तिशाली चुंबकीय क्षेत्र भी पाया जाता है। 
  • इसका व्यास 1,41,968 किमी. है तथा इसकी सूर्य से औसत दूरी 77.28 करोड़ किमी. है। 
  • इसके 63 उपग्रह हैं जिनमें से गैनीमीड सबसे बड़ा है।


शनि (सैटर्न- Saturn)

  • शनि ग्रह हमारे सौरमंडल का छठां ग्रह है तथा बृहस्पति के बाद सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह हैं।
  • शनि के चारो तरफ चक्र या छल्ले पायें जाते है, जिसे वलय (ring) कहतें है।
  • खगोल विज्ञान के अनुसार शनि का व्यास पृथ्वी के व्यास से 9 गुना ज्यादा है जबकि घनत्व 8 गुना कम है।


अरुण (यूरेनस- Uranus)

  • अरुण ग्रह हमारे सौरमंडल का सातवाँ ग्रह है।
  • अरुण आकार में तीसरा सबसे बड़ा ग्रह है।
  • अरुण ग्रह को "लेटा हुआ ग्रह" कहा जाता है, क्योंकि यह अपनी धुरी पर सूर्य की ओर इतना झुका हुआ है कि लेटा हुआ दिखाई देता है।
  • अरुण ग्रह अकार में पृथ्वी से 63 गुना अधिक बड़ा है।
  • अरुण ग्रह को बिना दूरबीन के आँख से भी देखा जा सकता है।
  • युरेनस ग्रह का द्रव्यमान पृथ्वी की तुलना में 14.5 गुना है।

वरुण (नॅप्चयून- Neptune)

  • वरुण ग्रह हमारे सौरमंडल का आठवाँ ग्रह है।
  • वरुण का द्रव्यमान पृथ्वी से 17 गुना अधिक है।
  • वरुण सूरज से बहुत ही ज्यादा दूर है, इसलिए इसका ऊपरी वायुमंडल बहुत ही ठंडा है और वहाँ का तापमान -128 C° (55 कैल्विन) तक गिर सकता है।

सौर मंडल ग्रह जीके हिंदी में (Solar System Planets GK in hindi)

1 सबसे चमकीला ग्रह शुक्र (Venus
2 सबसे बड़ा ग्रह बृहस्पति (Jupiter)
3 सबसे छोटा ग्रह बुध (Mercury)
4 सूर्य के सबसे पास स्थित ग्रह बुध (Mercury)
5 सूर्य के सबसे दूर स्थित ग्रह वरुण (Neptune)
6 पृथ्वी के सबसे पास स्थित उपग्रह शुक्र (Venus)
7 पृथ्वी का उपग्रह चंद्रमा (Moon)
8 सबसे अधिक उपग्रहों वाला ग्रह बृहस्पति (Jupiter)
9 सबसे ठंडा ग्रह वरुण (Neptune)
10 सबसे गर्म ग्रह बुध (Mercury)
11 सबसे भारी ग्रह बृहस्पति (Jupiter)
12 सबसे चमकीला तारा साइरस (Dog star)
13 सौरमंडल का सबसे छोटा उपग्रह डी मोस (Deimos)
14 सौरमंडल का सबसे बड़ा उपग्रह गैनिमेडे (Ganymede)
15 लाल ग्रह मंगल (Mars)
16 नीला ग्रह पृथ्वी ( Earth)
17 पृथ्वी की बहन भोर का तारा शुक्र (Venus)
18 साँझ का तारा शुक्र (Venus)
19 सुंदरता का देवता शुक्र (Venus)
20 हरा ग्रह वरुण (Neptune)

लोक सभा (Lok Sabha) GK Questions in Hindi 2022

लोकसभा से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न | Important Lok Sabha GK Questions in Hindi 2022

लोकसभा, संवैधानिक रूप से लोगों का सदन होता है। अभी के समय में लोक सभा के अध्यक्ष (2022) श्री ओम बिरला जी है। भारत की लोकसभा नई दिल्ली में है। इसी लोक सभा के बारे में GK के प्रश्न-उत्तर आपको इस पोस्ट में मिलने वाला है।

लोकसभा से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न - Lok Sabha Gk MCQ Question in Hindi

प्रश्न :- भारतीय संसद का निम्न सदन किसे कहा जाता है ?

उत्तर :- लोकसभा

प्रश्न :- भारतीय संविधान के किस अनुच्छेद के अंतर्गत लोकसभा की संरचना की गई है ?

उत्तर :- अनुच्छेद 81

प्रश्न :- जनता द्वारा प्रत्यक्ष रूप से निर्वाचित सदन को क्या कहते हैं ?

उत्तर :- लोकसभा

प्रश्न :- भारत में लोकसभा किसका प्रतिनिधित्व करती है ?

उत्तर :- भारतीय जनता का

प्रश्न :- संविधान के अनुसार लोकसभा के सदस्यों की अधिकतम संख्या कितनी हो सकती है ?

उत्तर :- 552 ( 530 राज्य, 20 केंद्र शासित प्रदेश, 2 आंग्ल भारतीय )

प्रश्न :- वर्तमान में लोकसभा में कितने सदस्य हैं ?

उत्तर :- 545 ( 530 राज्य, 13 केंद्र शासित प्रदेश, 2 आंग्ल भारतीय )

प्रश्न :- राष्ट्रपति आंग्ल-भारतीय समुदाय के कितने प्रतिनिधियों को लोकसभा में नामित कर सकता है ?

उत्तर :- 2

प्रश्न :- लोकसभा में अनुसूचित जातियों के लिए कितनी सीटें आरक्षित हैं ?

उत्तर :- 84 सीटें

प्रश्न :- लोकसभा में अनुसूचित जनजातियों के लिए कितनी सीटें आरक्षित हैं ?

उत्तर :- 47 सीटें

प्रश्न :- लोकसभा में किस आधार पर सीटें आवंटित की गई हैं ?

उत्तर :- जनसंख्या के आधार पर

प्रश्न :- लोकसभा में प्रत्येक राज्य के लिए सीटों का आवंटन किस वर्ष की जनगणना पर आधारित है ?

उत्तर :- 1971 की जनगणना पर

प्रश्न :- भारत के राष्ट्रपति किसकी अनुशंसा पर लोकसभा को भंग कर सकते हैं ?

उत्तर :- प्रधानमंत्री की सलाह पर

प्रश्न :- किस संविधान संशोधन द्वारा मत देने की न्यूनतम आयु 18 वर्ष की गई थी ?

उत्तर :- 61वें संविधान संशोधन अधिनियम, 1989

प्रश्न :- लोकसभा का सदस्य बनने के लिए न्यूनतम आयु कितनी होनी चाहिए ?

उत्तर :- 25 वर्ष

प्रश्न :- भूतपूर्व संसद सदस्यों को पेंशन व्यवस्था कब लागू की गई ?

उत्तर :- 1976 ई.

प्रश्न :- लोकसभा के लिए प्रथम आम चुनाव कब हुआ था ?

उत्तर :- 1952

प्रश्न :- लोकसभा में वर्ष में कम से कम कितने सत्र जरूरी होते हैं ?

उत्तर :- वर्ष में दो बार

प्रश्न :- वित्तीय बिल कहाँ पास किया जा सकता है ?

उत्तर :- लोकसभा में

प्रश्न :- अविश्वास प्रस्ताव किस सदन में लाया जाता है ?

उत्तर :- लोकसभा

प्रश्न :- बजट किसके द्वारा पारित किया जाता है ?

उत्तर :- लोकसभा द्वारा

लोक सभा (Lok Sabha) GK Questions in Hindi 2022

प्रश्न :- लोकसभा और राज्यसभा के सदस्यों की निर्योग्यता से संबंधित प्रश्नों का निर्णय कौन करता है ?

उत्तर :- राष्ट्रपति

प्रश्न :- दसवीं अनुसूची अर्थात दल बदल के आधार पर लोकसभा के सदस्यों की निर्योग्यता से संबंधित प्रश्नों का निर्णय कौन करता है ?

उत्तर :- लोकसभा अध्यक्ष

प्रश्न :- अस्थाई लोकसभा अध्यक्ष को क्या कहते हैं ?

उत्तर :- प्रोटेम स्पीकर

प्रश्न :- प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति कौन करता है ?

उत्तर :- राष्ट्रपति

प्रश्न :- कितने दिनों तक अनुपस्थित रहने पर लोकसभा के सदस्य की सदस्यता समाप्त हो जाती है ?

उत्तर :- 2 माह

प्रश्न :- किस विधेयक को केवल लोकसभा ही पारित करती है ?

उत्तर :- वित्त विधेयक

प्रश्न :- मंत्रिपरिषद किसके प्रति उत्तरदायी होती है ?

उत्तर :- लोकसभा के

प्रश्न :- किस अवस्था में संसद लोकसभा का कार्यकाल बढ़ा सकती है ?

उत्तर :- आपातकाल की स्थिति में

प्रश्न :- संसद एक बार में लोकसभा के कार्यकाल में कितने समय के लिए वृद्धि कर सकती है ?

उत्तर :- 1 वर्ष के लिए

प्रश्न :- किस वर्ष लोकसभा का कार्यकाल एक-एक करके दो बार बढ़ाया गया ?

उत्तर :- 1976 में

प्रश्न :- लोकसभा सांसद को प्रति महीने कितना वेतन मिलता है ?

उत्तर :- 1,00,000 रु.

प्रश्न :- लोकसभा का नेता कौन होता है ?

उत्तर :- आम तौर पर भारत के प्रधानमन्त्री ही लोक सभा के सदन के नेता होते हैं। अगर प्रधानमन्त्री लोकसभा सदस्य न हो तो वे लोक सभा के सदन के नेता का चुनाव करते हैं।

प्रश्न :- राजनीतिक शब्दावली में ‘शून्यकाल’ का अर्थ क्या है ?

उत्तर :- प्रश्नोत्तर सत्र

प्रश्न :- लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव कौन करता है ?

उत्तर :- लोकसभा सदस्य

प्रश्न :- लोकसभा अध्यक्ष अपना त्यागपत्र किसे देता है ?

उत्तर :- लोकसभा उपाध्यक्ष को

प्रश्न :- निर्णायक मत देने का अधिकार किसको है ?

उत्तर :- लोकसभा अध्यक्ष को

प्रश्न :- लोकसभा का सचिवालय किससे नियंत्रित होता है ?

उत्तर :- लोकसभा अध्यक्ष

प्रश्न :- भारतीय संसद के दोनों सदनों के संयुक्त अधिवेशन की अध्यक्षता कौन करता है ?

उत्तर :- लोकसभा अध्यक्ष

प्रश्न :- लोकसभा में किसी विधेयक को धन विधेयक के रूप में कौन प्रमाणित करता है ?

उत्तर :- लोकसभा अध्यक्ष

प्रश्न :- किस समिति का पदेन अध्यक्ष लोकसभा अध्यक्ष होता है ?

उत्तर :- नियम समिति

प्रश्न :- लोकसभा महासचिव की नियुक्ति कौन करता है ?

उत्तर :- लोकसभा स्पीकर

प्रश्न :- लोकसभा के अध्यक्ष या उपाध्यक्ष की अनुपस्थिति में लोकसभा की अध्यक्षता कौन करता है ?

उत्तर :- लोकसभा का वरिष्ठतम् सदस्य

प्रश्न :- राष्ट्रमंडल अध्यक्षों के सम्मेलन का पदेन महासचिव कौन होता है ?

उत्तर :- लोकसभा महासचिव

प्रश्न :- लोकसभा का अभिरक्षक किसे कहा जाता है ?

उत्तर :- लोकसभा अध्यक्ष

प्रश्न :- लोकसभा में कोरम ( गणपूर्ति ) पूरा करने के लिए कम-से-कम कितने सदस्यों की जरूरत होती है ?

उत्तर :- लोकसभा के कुल सदस्यों का 1/10 भाग

प्रश्न :- 1971 की जनगणना पर आधारित लोकसभा में सीटों का आवंटन किस वर्ष तक यथावत रहेगा ?

उत्तर :- 2026 तक

प्रश्न :- लोकसभा का कार्यकाल 5 वर्ष से अधिक किस अवस्था में बढ़ाया जा सकता है ?

उत्तर :- जब राष्ट्रीय आपातकाल लागू हो

प्रश्न :- लोकसभा का सामान्यत: कार्यकाल कितने वर्ष का होता है ?

उत्तर :- 5 वर्ष

प्रश्न :- लोकसभा के बैठक की अन्तिम तिथि तथा दूसरी बैठक की प्रथम तिथि के बीच कितने समय से अधिक का अंतराल नहीं होना चाहिए ?

उत्तर :- 6 माह

प्रश्न :- किस राज्य का लोकसभा में सबसे अधिक प्रतिनिधित्व है ?

उत्तर :- उत्तर प्रदेश

प्रश्न :- भारत में क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र कौन-सा है ?

उत्तर :- लद्दाख (जम्मू कश्मीर)

प्रश्न :- लोकसभा का जनक किसे माना जाता है ?

उत्तर :- जी. वी. मावलंकर

प्रश्न :- भारत के प्रथम लोकसभा अध्यक्ष कौन थे ?

उत्तर :- जी. वी. मावलंकर

प्रश्न :- भारत की प्रथम महिला लोकसभा अध्यक्ष कौन हैं ?

उत्तर :- मीरा कुमार

प्रश्न :- लोकसभा के प्रथम उपाध्यक्ष कौन थे ?

उत्तर :- अनंतशयनम आपंगर

प्रश्न :- किस लोकसभा अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया ?

उत्तर :- के.एस. हेगड़े

प्रश्न :- किस लोकसभा अध्यक्ष का कार्यकाल सबसे लंबा रहा ?

उत्तर :- बलराम जाखड़

 प्रश्न :- वर्तमान में कौन सी लोकसभा चल रही है 2021 ?

उत्तर :- 17 वीं लोकसभा

महत्वपूर्ण पीडीऍफ़ डाउनलोड - क्लिक करें

भारत में मिसाइल टेक्नोलॉजी (Missile Technology in India in Hindi)

भारत में मिसाइल टेक्नोलॉजी (Missile Technology in India)

हेलो दोस्तों ,आज के इस आर्टिकल में हम भारत में मिसाइल टेक्नोलॉजी के बार मे विस्तृत रूप से जानेंगे। भारत को स्वतंत्रता के समय ही यह आभास हो गया था कि जल्द ही भारत को आने वाले समय के युद्ध में टेक्नोलॉजी का उपयोग करना पड़ेगा। इसी को ध्यान में रखते हुए भारतीय शासन ने  मिसाइल टेक्नोलॉजी पर काम करना शुरू कर दिया था। वर्त्तमान में भारत के पास सबसे शक्तिशाली मिसाइलों का भंडार है। विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भारत में मिसाइल टेक्नोलॉजी  से जुड़े प्रश्न जाते हैं।
Defence- Missile Technology in India

मिसाइल टेक्नोलॉजी (भारत)

भारत की सतह से सतह पर मार करने वाली नई मिसाइल 'प्रगति' भी सामरिक दृष्टि से अहम है जिसका अभी हाल ही में परीक्षण हुआ। प्रगति रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा सेना के लिए तैयार की गई प्रहार मिसाइल पर आधारित इस मिसाइल को सिओल (दक्षिण कोरिया) में चल रही 'सियोल इंटरनेशनल एअरोस्पेस एंड डिफेंस एक्जीबिशन (एडीईएक्स-2013)' में भी पेश किया गया था जिसमें 33 देशों से 300 कंपनियों ने भाग लिया था। 

संभवतः ऐसा पहली बार हुआ है कि जब भारत ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बड़े पैमाने पर भागीदारी की है। अग्नि श्रेणी की मिसाइलों का निर्माण भारत के सबसे महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट्स में से एक है। उल्लेखनीय है कि रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) अग्नि-5 मिसाइल की सफलता के बाद अब परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम इंटर कॉन्टीनेंटल बैलेस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) अग्नि-6 विकसित कर रहा है। 

अंतर्महाद्वीपीय बैलेस्टिक मिसाइल अग्नि-6 की मारक क्षमता 6000 से 10000 किलोमीटर की दूरी तक की होगी। यह मल्टीपल इंडिपेंडेंटली टारगेटेबल री-एंट्री व्हीकल (एमआईआरवी) मिसाइल है जो एक साथ अनेक परमाणु हथियार ले जा सकेगी। इससे हमारी रक्षा ताकत कई गुना बढ़ जाएगी। हालांकि अग्नि 5, 1000 किलोग्राम से अधिक का परमाणु वारहेड ले जाने में सक्षम होगी। यह पहली ऐसी मिसाइल है जिसकी मारक सीमा में आने वाले चीन के सभी इलाके, पूरा एशिया, अधिकांश अफ्रीका व आधा यूरोप आ जाएंगे। यद्यपि अग्नि-5 मिसाइल की मारक सीमा में भले ही पूरा चीन आता हो लेकिन उसके विमानवाही पोत जो कि चीन से दूर प्रशांत महासागर व अटलांटिक महासागर में तैनात हैं, वहां से भी वे भारत पर मिसाइल दाग सकते हैं। 

सुपरसोनिक मिसाइल ब्रह्मोस को भी इस श्रृंखला में शामिल किया जा सकता है जिसे भारत ने चीन-अरुणाचल प्रदेश सीमा पर तैनात करने का निर्णय लिया है जबकि चीन अरुणाचल प्रदेश को दक्षिणी तिब्बत के नाम से पुकारता है। ब्रह्मोस के तीन स्वरूप विकसित किए जा रहे हैं। अब पानी के अंदर व हवा में प्रक्षेपित किए जाने वाले संस्करणों पर काम जारी है। ब्रह्मोस ब्लॉक-2 से आतंकवादी शिविरों समेत बेहद सटीक लक्ष्यों को भेदा जा सकता है और यह सर्जिकल स्ट्राइक करने में पूरी तरह से सक्षम है। भारत की प्रमुख मिसाइलें भारत की विभिन्न मिसाइलें उसकी सुरक्षा प्रणाली का बेहद अहम हिस्सा हैं जिनमें कुछ जमीन से जमीन पर मार करने वाली हैं और कुछ जमीन से हवा में। भारत के पास समुद्र से दागी जा सकने वाली मिसाइलें भी हैं।

इनमें से कुछ प्रमुख हैं : -

अग्नि-1 (Agni-I)

Agni-I

अग्नि-1 पर काम 1999 में शुरू हुआ था, लेकिन परीक्षण 2002 में किया गया। इसे कम मारक क्षमता वाली मिसाइल के तौर पर विकसित किया गया था। यह 700 किलोमीटर तक मार करने में सक्षम है। भारत ने परमाणु क्षमता संपन्न अग्नि-1 प्रक्षेपास्त्र का दिसंबर 2011 में फिर से सफल परीक्षण किया। इसे को पहले ही भारतीय सेना में शामिल कर लिया गया है, लेकिन सेना से जुड़े लोगों के प्रशिक्षण और उनकी कार्यक्षमता बढ़ाने के लिए इसका समय-समय पर प्रायोगिक परीक्षण किया जाता है।

अग्नि-2 (Agni-II)

Agni-II

जमीन से जमीन पर मार करने वाली अग्नि-2 का वर्ष 2009 में परीक्षण असफल हो जाने के पश्चात पुनः व्हीलर आईलैंड से मई 2010 में सफल परीक्षण किया गया। इसकी मारक क्षमता दो हजार किलोमीटर है और यह एक टन तक का पेलोड ले जा सकती है। इसमें अति आधुनिक नेवीगेशन सिस्टम और तकनीक है। सितंबर 2011 में एक बार फिर अग्नि-2 का सफल परीक्षण किया गया जिसके बाद यह भारतीय सेना में शामिल कर ली गयी।

अग्नि-3 (Agni-III)

Agni-III

भारत ने परमाणु हथियार ले जाने की क्षमता वाली मिसाइल अग्नि-3 का पहले 2006 में परीक्षण किया जिसे आंशिक रूप से ही सफल बताया गया। वर्ष 2007 एवं 2008 में इसका पुनः सफल परीक्षण किया। इसकी मारक क्षमता 3500 किलोमीटर है और यह सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल है। यह 1.5 टन का पेलोड ले जा सकती है और इसमें अति आधुनिक कंप्यूटर और नेवीगेशन सिस्टम है। 

अग्नि-4 (Agni-IV)

Agni-IV

ओडिशा के व्हीलर द्वीप से करीब तीन हजार किलोमीटर से अधिक दूरी तक सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल अग्नि-4 का सफल प्रक्षेपण नवंबर 2011 को किया गया। यह पहले तीन मिसाइलों के मुकाबले काफी हल्की है। परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम लगभग एक हजार किलोग्राम के पेलोड क्षमता वाली अग्नि-4 बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-2 मिसाइल का ही उन्नत रूप है। पहली बार इसका प्रक्षेपण 2010 में दिसंबर में हुआ था, लेकिन कुछ तकनीकी कारणों से ये सफल नहीं हो पाया था। 

अग्नि 5 (Agni-V)

अग्नि-5 भारत का पहली अंतर-महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल है, जो 5000 किलोमीटर की दूरी तक मार करने में सक्षम है। अग्नि-5 की मारक क्षमता के दायरे में यूरोप के कई देशों के साथ-साथ चीन भी शामिल है। अमेरिका, रूस, फ्रांस और चीन के बाद भारत दुनिया का पांचवां ऐसा देश है, जिसके पास अंतर महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल है। इस मिसाइल का वजन 50 टन और इसकी लंबाई 17.5 मीटर है और यह एक टन का परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है। अग्नि-5 20 मिनट में 5000 किमी की दूरी तय कर सकती है। इसके लॉचिग सिस्टम में कैनिस्टर तकनीक का इस्तेमाल किया गया है जिसके चलते इस मिसाइल को कहीं भी बड़ी आसानी से ट्रांसपोर्ट किया जा सकता है। अग्नि-5 तीन स्तरीय, पूरी तरह से ठोस ईधन पर आधारित मिसाइल है जिसमें मल्टीपल इंडिपेंडेंटली टार्गेटेबल रीएंट्री वेहिकल (एमआरटीआरवी) विकसित किया गया है। बनाने के लिए भारत ने माइक्रो नेवीगेशन सिस्टम, कार्बन कंपोजिट मैटेरियल से लेकर कंप्यूटर व सॉफ्टवेयर तक ज्यादातर चीजें स्वदेशी तकनीक से विकसित कीं। यही नहीं इसका प्रयोग छोटे सैटेलाइट लांच करने और दुश्मनों के सैटेलाइट नष्ट करने में भी किया जा सकता है। फिलहाल भारत को चीन और पाकिस्तान की तरफ से जिस तरह की चुनौती मिल रही है, उसे देखते हुए यह जरूरी है कि भारत इस प्रकार की क्षमता संपन्न हो। उल्लेखनीय है कि चीन ने कुछ वर्ष पहले ही 12 हजार किलोमीटर दूर तक मार करने वाली तुंगफंग-31 ए बैलिस्टिक मिसाइलों का विकास करने में सफल | हो चुका है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले अग्नि 1, अग्नि 2, अग्नि 3 और अग्नि 4 का सफल प्रक्षेपण | किया जा चुका है जिसकी मारक क्षमता क्रमशः 700 किमी, 2000 किमी, 2500 किमी और 3500 किमी थी। जबकि रूस के पास आर-36एम है जिसकी मारक क्षमता 16000 किमी, अमेरिका के पास यूजीएम-133 एवं ट्राइडेंट 2 मिसाइले हैं जिनकी मारक क्षमता 11300 किमी है। ब्रिटेन के ट्राइटेंड 2, चीन के पास टीएफ-31ए और फ्रांस के पास एम-51 है जिनकी मारक क्षमताएं क्रमशः 11300 किमी, 11270 किमी और 10,000 किमी है।

पृथ्वी मिसाइलें (Prithvi)

Prithvi Missile

वर्ष 2011 में ओडिशा के चांदीपुर से पृथ्वी-2 मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया था जिसकी मारक क्षमता 350 किलोमीटर है। यह सतह से सतह पर मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल है जिसमें किसी भी एंटी-बैलिस्टिक मिसाइल को झांसा देकर निशाना साधने की क्षमता है। पृथ्वी रेंज की मिसाइलें भारत ने स्वदेशी तकनीक से विकसित की है और भारतीय सेना में इसे शामिल किया जा चुका है। भारत के एकीकृत मिसाइल विकास कार्यक्रम के तहत पृथ्वी पूर्ण रूप से स्वदेश में निर्मित पहला बैलेस्टिक मिसाइल है। इसके माध्यम से 500 किलोग्राम तक के बम गिराए जा सकते हैं और यह द्रवित इंजन से संचालित होती है।

धनुष मिसाइल

धनुष मिसाइल को नौसेना के इस्तेमाल के लिए विकसित किया गया है और यह 350 किलोमीटर तक की दूरी पर स्थित लक्ष्य को भेद सकती है। यह पृथ्वी मिसाइल का नौसनिक (नेवल) संस्करण है जो 500 किलोग्राम तक के हथियार ढो सकती है। इसे डीआरडीओ ने विकसित किया है और निर्माण भारत डाइनेमिक्स लिमिटिड ने किया है।

ब्रहमोस मिसाइल 

28 अप्रैल, 2002 को भारत ने ध्वनि की गति से भी तेज चलने वाली सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का परिक्षण किया था और इसे ब्रहमोस का नाम दिया गया। भारत ने इसका निर्माण रूस के सहयोग से किया। दोनों देशों के बीच 1998 में ये ज्वाइंट वेंचर हुआ था। ब्रहमोस 290 किलोमीटर तक की मार करने की क्षमता रखती है। यह जहाज, पनडुब्बी और हवा समेत कई प्लेटफॉर्म से दागी जा सकती है और यह मिसाइल ध्वनि की गति से 2.8 गुना ज्यादा गति से उड़ान भर सकती है। मार्च 2012 को हुए अभ्यास परीक्षण के बाद ब्रहमोस मिसाइल प्रणाली अब सेना की दो रेजीमेंट में पूरी तरह ऑपरेशनल हो गई हैं। सागरिका मिसाइल भारत के पास सागरिका नाम की ऐसी मिसाइल भी है जो समुद्र में से दागी जा सकती है और जो परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है। सबमरीन लांच्ड बैलिस्टिक मिसाइल (एसएलबीएम) सागरिका को 2008 में विशाखापत्तनम के तटीय क्षेत्र से छोड़ा गया था। यह मिसाइल 700 किलोमीटर की दूरी तक मार कर सकती है। इस तरह की मिसाइलें कुछ ही देशों के पास हैं। 

आकाश मिसाइल 

2003 में भारत ने जमीन से हवा में मार करने वाली आकाश मिसाइल का परीक्षण किया। 700 किलोग्राम के वजन वाली यह मिसाइल 55 किलोग्राम का पेलोड ले जा सकती है। इसकी गति 2.5 माक है। यह मिसाइल प्रणाली कई निशानों को एक साथ भेद सकती है और मानवरहित वाहन, युद्धक विमान और हेलीकॉप्टरों से दागी मिसाइलों को नष्ट कर सकती है। इस प्रणाली को भारतीय पैट्रियट कहा जाता है। आकाश मिसाइल प्रणाली 2030 और उसके बाद तक भारतीय वायु सेना का अहम हिस्सा रहेगी।

प्रहार मिसाइल 

प्रहार जमीन से जमीन तक मार करने वाली मिसाइल है जिसका जुलाई 2011 में परीक्षण किया गया। इसकी मारक क्षमता 150 किलोमीटर है। ये कई तरह के वारहेड (मुखास्त्र) ले जाने की क्षमता रखती है। 200 किलोग्राम का पेलोड ले जाने की क्षमता रखने वाली इस मिसाइल का रिएक्शन टाइम काफी कम है यानी प्रतिक्रिया काफी जल्दी होती है। यह मल्टी बैरल रॉकेट और मध्यम रेंज बैलिस्टिक मिसाइल के बीच की खाई को कम करती है।

राष्ट्रीय आंदोलन की महत्वपूर्ण तिथियां (Important Dates of National Movement in Hindi)

राष्ट्रीय आंदोलन की महत्वपूर्ण तिथियां (Important Dates of National Movement)

हेलो दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम राष्ट्रीय आंदोलन की महत्वपूर्ण तिथियों के बारे में जानेंगे।  "भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन" भारत के लोगों के हित से संबंधित जन आंदोलन था, जो पूरे देश में फैल गया था। इस राष्ट्रीय आंदोलन  में देश भर में कई बड़े और छोटे विद्रोह या घटनाएँ हुए थे। इन्हीं में से कुछ राष्ट्रीय आंदोलन या विद्रोह या घटनाओं का लिस्ट हम आपको दे रहे हैं।

भारत में समय समय पर कई National Movement  यानी राष्ट्रीयआन्दोलन हुए जिनका कही ना कही उद्देश्य भारत की आजादी या भारत के हित में था। आज के इस आर्टिकल में हम आपको भारत में हुए कुछ महत्वपूर्ण राष्ट्रिय आन्दोलन उनके महत्वपूर्ण तिथियों के बारे में बताने जा रहे हैं. 

National Movement Dates

राष्ट्रीय आंदोलन की महत्वपूर्ण तिथियां | National Movement Dates

राष्ट्रीय आंदोलनतिथि/तारीख
भारत का प्रथम स्वतंत्रता संग्राम10 मई, 1857
ईस्ट इण्डिया कम्पनी के शासन का अन्त/ विक्टोरिया भारत की सम्राज्ञी घोषित 1858
इण्डियन काउंसिल एक्ट 1861
स्वामी विवेकानन्द का जन्म 1863
प्रार्थना समाज की स्थापना 1867
महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर, 1869
कूका विद्रोह 1872
थियोसोफिकल सोसाइटी की स्थापना 1875
आर्य समाज की स्थापना 1875
लॉर्ड लिटन द्वारा दिल्ली दरबार का आयोजन 1877
प्रथम फैक्टरी अधिनियम 1881
हंटर कमीशन, स्थानीय स्वशासन का आरम्भ 1882
थियोसोफिकल सोसाइटी केन्द्र अडयार 1882
इल्बर्ट बिल 1883
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना 1885
इण्डियन काउंसिल एक्स 1892
रैण्ड एंड आर्महस्ट हत्याकाण्ड 1893
भारतीय विश्वविद्यालय अधिनियम पारित 1904
बंगाल का विभाजन 1905
मुस्लिम लीग की स्थापना 1906
सूरत कांग्रेस में फूट 1907
तिलक को राजद्रोह की सजा 1908
माले मिन्टो सुधार 1909
ब्रिटिश साम्राज्य का दिल्ली दरबार 1911
प्रथम विश्व युद्ध 1914 से 1919
होमरूल लीग का गठन 1916
मुस्लिम लीग कांग्रेस समझौता (लखनऊ पैक्ट) 1916
महात्मा गांधी द्वारा चम्पारन में आंदोलन 1917
रौलेट अधिनियम 1919
जलियांवाला बाग हत्याकांड 1919
मान्टेग्यू चेम्सफोर्ड सुधार 1919
खिलाफत आंदोलन 1920
असहयोग आंदोलन 1920 से 1922 तक
भारतीय साम्यवादी दल का गठन 1920
चौरी-चौरा काण्ड 1922
स्वराज पार्टी का परिषदों के चुनाव में हिस्सा लेना 1923
साइमन कमीशन की नियुक्ति 1927
बटलर समिति की नियुक्ति 1927
साइमन कमीशन का भारत आगमन 1928
लाला लाजपत राय की मृत्यु 1928
भगत सिंह द्वारा केन्द्रीय असेम्बली भवन में बम विस्फोट 1929
कांग्रेस द्वारा पूर्ण स्वतंत्रता की मांग 1929
सविनय अवज्ञा आंदोलन 1930
प्रथम गोलमेज सम्मेलन 1930
द्वितीय गोलमेज सम्मेलन 1931
तृतीय गोलमेज सम्मेलन 1932
साम्प्रदायिक निर्वाचन प्रणाली की घोषणा 1932
पूना पैक्ट 1932
प्रान्तीय स्वराज्य की घोषणा 1935
सात प्रान्तों में कांग्रेस मंत्रिमंडल 1937
मुस्लिम लीग द्वारा मुक्ति दिवस मनाना 22 दिसम्बर, 1939
मुस्लिम लीग द्वारा पाकिस्तान की मांग 1940
सुभाषचंद्र बोस का भारत छोड़ना 1941
भारत छोड़ो आंदोलन 8 अगस्त, 1942
क्रिप्स मिशन का आगमन 1942
आजाद हिन्द फौज की स्थापना 1943
केबिनेट मिशन का आगमन 1946
भारतीय संविधान सभा का निर्वाचन 1946
नौसेना का विद्रोह 12 फरवरी, 1946
मुस्लिम लीग द्वारा 'सीधी कार्रवाई' की घोषणा 16 अगस्त, 1946
अन्तरिम सरकार की स्थापना 2 सितम्बर, 1946
भारत के विभाजन की माउंटबेटन योजना 3 जून, 1947
भारतीय स्वतंत्रता प्राप्ति 15 अगस्त, 1947
महात्मा गांधी की हत्या 30 जनवरी, 1948
कश्मीर का भारत में विलय 1948
देशी रियासतों का भारत में विलय 1948-50
भारतीय गणतंत्र 26 जनवरी, 1950

आज के इस पोस्ट में हमने भारत के आजादी के पहले हुए विभिन्न राष्ट्रीय आंदोलन की महत्वपूर्ण तिथियों के बारे में जाना। भारत की स्वतंत्रता में इन आन्दोलनों का बहुत महत्त्व है। इन राष्ट्रीय आंदोलन से जुड़े प्रश्न विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं।

आशा करता हूँ कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी, अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो पोस्ट को शेर अवश्य करें।

एशिया - एक नजर में (Asia Continent) PDF Download | Study Point And Career

एशिया महाद्वीप - एक नजर में सामान्य जानकारी

हेलो दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम इसी एशिया महाद्वीप के बारे में  जानेंगे। एशिया हमारी पृथ्वी का एक बहुत बड़ा भूभाग है, समुद्र से घिरे हुए भू-भाग के बहुत बड़े टुकड़े को महाद्वीप कहा जाता है,इनकी सीमाएं स्पष्ट पहचानी जा सकती हैं। पुरे विश्व में सात महाद्वीप मने जाते हैं  इन सात महाद्वीपों में से एक एशिया महाद्वीप है, जो विश्व का सबसे बड़ा महाद्वीप है। महाद्वीपों से सम्बंधित प्रश्न विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे-UPSC, STATE PCS, SSC RRB,NTPC, RAILWAY, IBPS,CDS,NET/JRF इत्यादि में पूछे जाते हैं।

Asia Continent in Hindi

एशिया महाद्वीप (Asia Continent)

एशिया महाद्वीप (Asia Continent)
एशिया महाद्वीप
क्षेत्रफल- 44,579,000 किमी2

एशिया महाद्वीप के बारे में कुछ सामान्य जानकारी:

  • एशिया महाद्वीप को जम्बुद्वीप (Jambudweep) भी कहा जाता है।

  • एशिया महाद्वीप आकार और जनसंख्या की दृष्टि से विश्व का सबसे बड़ा महाद्वीप है।

  • यहाँ सम्पूर्ण विश्व के कुल भूभाग (terrain) का लगभग 3/10वां भाग

  • एशिया महाद्वीप पृथ्वी के कुल सतह क्षेत्र का 8.8% हिस्सा है।

देखें - दुनिया के 7 महाद्वीप

एशिया में कुछ सबसे बड़े:

  • सर्वोच्च शिखर- माउण्ट एवरेस्ट (8848 मी.)

  • सबसे गहरा गर्न- चैलेन्जर गर्त, प्रशांत महासागर फिलीपींस के पास

  • सबसे ऊँचा पठार- पामीर (विश्व की छत)

  • सबसे बड़ी झील- कैस्पियन सागर, रूस

  • सबसे गर्म स्थान- जैकोबाबाद, पाकिस्तान (52°C)

  • सबसे ठंडा स्थान- बोयांस्क, साइबेरिया (-68°)

  • सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान- मासिनराम, भारत

  • सर्वाधिक जनसंख्या वाला देश- चीन

  • सबसे लम्बी नदी- यांसी, चीन (5797 कि.मी.)

सबसे बड़े द्वीपः

  1. ग्रीनलैण्ड (2175600 वर्ग कि.मी.), 

  2. न्यु गिन्नी (821030 वर्ग कि.मी.), 

  3. बोर्नियो (725545 वर्ग कि.मी.), 

  4. मालागासी (59000 वर्ग कि.मी.), 

  5. बैफिन द्वीप (476070 वर्ग कि.मी.)। 

सबसे बड़े प्रपातः

  1. एन्जेल (807 मी., वेनेजुएला), 

  2. मांगेफोसेन (774 मी. नार्वे),

  3. कुकेनाम (610 मी. वेनेजुएला), 

  4. रिबन (491 मी. सं.रा. अमेरिका), 

  5. किंग जार्ज IV (487 मी., गयाना), 

  6. अपर पोसमाइट (435 मी., सं.रा. अमेरिका)। 

फसलों, खनिजों एवं औद्योगिक उत्पादनों के विश्व के बड़े उत्पादक:

  • कोयलाः अमेरिका, इंग्लैंड, जर्मनी, रूस, आस्ट्रेलिया, भारत।

  • कोकोवाः घाना, द. अफ्रीका, वेस्ट इंडीज, ब्राजील, मैक्सिको। 

  • कॉफीः ब्राजील, कोलम्बिया तांबाः चिली।

  • कपासः अमेरिका, रूस, मिस्र, भारत, ब्राजील, अर्जेन्टाइना, पाकिस्तान।

  • स्वर्णः द. अफ्रीका, आस्ट्रेलिया, कनाडा, द. अमेरिका, भारत। 

  • अंगूरः फ्रांस, इटली, पुर्तगाल, कैल्फिोर्निया, अमेरिका। 

  • लोहाः रूस, अमेरिका, इंग्लैंड, फ्रांस, जर्मनी, भारत, स्पेन। 

  • पटसनः भारत, बंगलादेश। 

  • मैंगनीजः भारत। पेट्रोलः अमेरिका, वेनेजुएला, रूस, मिडिल ईस्ट देश, ईरान, बर्मा। 

  • चावलः चीन, जापान, बर्मा। 

  • रबरः मलेशियाइण्डोनेशिया, श्रीलंका। 

  • रेशमः अमेरिका, फ्रांस, चीन, भारत। 

  • चांदीः मैक्सिको, अमेरिका, रूस, पेरू, भारत। 

  • इस्पातः अमेरिका, जर्मनी, रूस, इंगलैंड। 

  • चायः भारत, चीन, श्रीलंका, इण्डोनेशिया।

  • गेहूं: रूस, अमेरिका, कनाडा, अर्जेन्टाइना, आस्ट्रेलिया । 

  • ऊनः आस्ट्रेलिया, अर्जेन्टाइना, न्यूजीलैण्ड, द. अफ्रीका।

  • तम्बाकूः चीन, अमेरिका, भारत, ब्राजील, रूस।


आज के इस पोस्ट में हमने एशिया महाद्वीप के बारे में विस्तार से जाना, एशिया महाद्वीप विश्व का सबसे बड़ा महाद्वीप माना जाता है। हमारा देश भारत इसी एशिया महाद्वीप में ही स्थित है। 

आशा करता हूँ कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी ,अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो पोस्ट को शेयर जरुर करें।

गिनती (Counting in Hindi)

Hindi English Ordinal and Roman Numbers/Counting

हेलो दोस्तों आज के इस पोस्ट में नंबर या गिनतियों (counting) की पूरी लिस्ट दे रहें हैं, जिसमें 1 - 100 तक की हिंदी गिनती, अंग्रेजी गिनती, क्रमसूचक संख्या, रोमन संख्या, इकाई दहाई सैकड़ा हजार की गिनती और सवा एक-सवा दो वाली सारी गिनतियाँ दे रहें है। अक्सर हम देखते हैं कि कई जगहों पर रोमन या हिंदी गिनती का उपयोग किया जाता है ,जो कई लोंगों को समझ में नहीं आता। इसी को ध्यान में रखते हुए यह पोस्ट किया गया है जिससे आप लोंगो के मन में भी हिंदी और रोमन को लेकर जो शंका है वह दूर हो जाये।

Hindi English Ordinal and Roman Numbers Chart List

गिनती (Counting in Hindi)

  • 1 से 100 तक हिंदी गिनती (Number Counting in Hindi)
  • रोमन अंक 1 से 100 तक- Roman Ank 1 to 100
  • क्रमसूचक संख्या (Ordinal numbers)
  • इकाई दहाई गिनती- Ikai Dahai Sekda Hajar List
  • आधा, सवा और पौना इंच को कैसे नापे
  • Hindi Numbers Counting

निचे की सारणी (Chart) में आपको हिंदी गिनती या हिंदी नंबर (Hindi Number), अंग्रेजी गिनती (English Numbers), क्रमसूचक संख्या (Ordinal Numbers) और रोमन संख्या (Roman Numerals) का पूरा 1 - 100 तक की गिनती दी गयी है, जिसे पढ़कर आपको गिनती या नंबर्स में कोई Confussion ना रहें।

English Number SymbolsHindi Numbersहिंदी गिनती English Numbers क्रमसूचक संख्या Ordinal Numbers Ordinal Numbers Full Form Roman Numerals
0 शून्य Zero 0 0 None Not defined
1 एक One पहले 1st First I
2 दो Two दूसरे 2nd Second II
3 तीन Three तीसरे 3rd Third III
4 चार Four चौथे 4th Fourth IV
5 पाँच Five पांचवें 5th Fifth V
6 छः Six छठवें 6th Sixth VI
7 सात Seven सातवें 7th Seventh VII
8 आठ Eight आठवें 8th Eighth VIII
9 नौ Nine नौवें 9th Ninth IX
10 १० दस Ten दसवें 10th Tenth X
11 ११ ग्यारह Eleven ग्यारहवें 11th Eleventh XI
12 १२ बारह Twelve बारहवें 12th Twelfth XII
13 १३ तेरह Thirteen तेरहवें 13th Thirteenth XIII
14 १४ चौदह Fourteen चौदहवें 14th Fourteenth XIV
15 १५ पन्द्रह Fifteen पन्द्रहवें 15th Fifteenth XV
16 १६ सोलह Sixteen सोलहवें 16th Sixteenth XVI
17 १७ सत्रह Seventeen सत्रहवें 17th Seventeenth XVII
18 १८ अठारह Eighteen अठारहवें 18th Eighteenth XVIII
19 १९ उन्नीस Nineteen उन्नीसवें 19th Nineteenth XIX
20 २० बीस Twenty बीसवें 20th Twentieth XX
21 २१ इक्कीस Twenty-one इक्कीसवें 21st Twenty-First XXI
22 २२ बाईस Twenty-two बाईसवें 22nd Twenty-Second XXII
23 २३ तेईस Twenty-three तेईसवें 23rd Twenty-Third XXIII
24 २४ चौबीस Twenty-four चौबीसवें 24th Twenty-Fourth XXIV
25 २५ पच्चीस Twenty-five पच्चीसवें 25th Twenty-Fifth XXV
26 २६ छब्बीस Twenty-six छब्बीसवें 26th Twenty-Sixth XXVI
27 २७ सत्ताईस Twenty-seven सत्ताईसवें 27th Twenty-Seventh XXVII
28 २८ अट्ठाईस Twenty-eight अट्ठाईसवें 28th Twenty-Eighth XXVIII
29 २९ उन्तीस Twenty-nine उन्तीसवें 29th Twenty-Ninth XXIX
30 ३० तीस Thirty तीसवें 30th Thirtieth XXX
31 ३१ इकतीस Thirty-one इकतीसवें 31st Thirty-First XXXI
32 ३२ बत्तीस Thirty-two बत्तीसवें 32nd Thirty-Second XXXII
33 ३३ तैंतीस Thirty-three तैंतीसवें 33rd Thirty-Third XXXIII
34 ३४ चौंतीस Thirty-four चौंतीसवें 34th Thirty-Fourth XXXIV
35 ३५ पैंतीस Thirty-five पैंतीसवें 35th Thirty-Fifth XXXV
36 ३६ छत्तीस Thirty-six छत्तीसवें 36th Thirty-Sixth XXXVI
37 ३७ सैंतीस Thirty-seven सैंतीसवें 37th Thirty-Seventh XXXVII
38 ३८ अढ़तीस Thirty-eight अढ़तीसवें 38th Thirty-Eighth XXXVIII
39 ३९ उनतालीस Thirty-nine उनतालीसवें 39th Thirty-Ninth XXXIX
40 ४० चालीस Forty चालीसवें 40th Fortieth XL
41 ४१ इकतालीस Forty-one इकतालीसवें 41st Forty-First XLI
42 ४२ बयालीस Forty-two बयालीसवें 42nd Forty-Second XLII
43 ४३ तैंतालीस Forty-three तैंतालीसवें 43rd Forty-Third XLIII
44 ४४ चवालीस Forty-four चवालीसवें 44th Forty-Fourth XLIV
45 ४५ पैंतालीस Forty-five पैंतालीसवें 45th Forty-Fifth XLV
46 ४६ छियालीस Forty-six छियालीसवें 46th Forty-Sixth XLVI
47 ४७ सैंतालीस Forty-seven सैंतालीसवें 47th Forty-Seventh XLVII
48 ४८ अड़तालीस Forty-eight अड़तालीसवें 48th Forty-Eighth XLVIII
49 ४९ उन्चास Forty-nine उन्चासवें 49th Forty-Ninth XLIX
50 ५० पचास Fifty पचासवें 50th Fiftieth L
51 ५१ इक्यावन Fifty-one इक्यावनवें 51st Fifty-First LI
52 ५२ बावन Fifty-two बावनवें 52nd Fifty-Second LII
53 ५३ तिरपन Fifty-three तिरपनवें 53rd Fifty-Third LIII
54 ५४ चौवन Fifty-four चौवनवें 54th Fifty-Fourth LIV
55 ५५ पचपन Fifty-five पचपनवें 55th Fifty-Fifth LV
56 ५६ छप्पन Fifty-six छप्पनवें 56th Fifty-Sixth LVI
57 ५७ सत्तावन Fifty-seven सत्तावनवें 57th Fifty-Seventh LVII
58 ५८ अट्ठावन Fifty-eight अट्ठावनवें 58th Fifty-Eighth LVIII
59 ५९ उनसठ Fifty-nine उनसठवें 59th Fifty-Ninth LIX
60 ६० साठ Sixty साठवें 60th Sixtieth LX
61 ६१ इकसठ Sixty-one इकसठवें 61th Sixty-First LXI
62 ६२ बासठ Sixty-two बासठवें 62nd Sixty-Second LXII
63 ६३ तिरसठ Sixty-three तिरसठवें 63rd Sixty-Third LXIII
64 ६४ चौंसठ Sixty-four चौंसठवें 64th Sixty-Fourth LXIV
65 ६५ पैंसठ Sixty-five पैंसठवें 65th Sixty-Fifth LXV
66 ६६ छियासठ Sixty-six छियासठवें 66th Sixty-Sixth LXVI
67 ६७ सड़सठ Sixty-seven सड़सठवें 67th Sixty-Seventh LXVII
68 ६८ अड़सठ Sixty-eight अड़सठवें 68th Sixty-Eighth LXVIII
69 ६९ उनहत्तर Sixty-nine उनहत्तरवें 69th Sixty-Ninth LXIX
70 ७० सत्तर Seventy सत्तरवें 70th Seventieth LXX
71 ७१ इकहत्तर Seventy-one इकहत्तरवें 71st Seventy-First LXXI
72 ७२ बहत्तर Seventy-two बहत्तरवें 72nd Seventy-Second LXXII
73 ७३ तिहत्तर Seventy-three तिहत्तरवें 73rd Seventy-Third LXXIII
74 ७४ चौहत्तर Seventy-four चौहत्तरवें 74th Seventy-Fourth LXXIV
75 ७५ पचहत्तर Seventy-five पचहत्तरवें 75th Seventy-Fifth LXXV
76 ७६ छिहत्तर Seventy-six छिहत्तरवें 76th Seventy-Sixth LXXVI
77 ७७ सतहत्तर Seventy-seven सतहत्तरवें 77th Seventy-Seventh LXXVII
78 ७८ अठहत्तर Seventy-eight अठहत्तरवें 78th Seventy-Eighth LXXVIII
79 ७९ उन्यासी Seventy-nine उन्यासीवें 79th Seventy-Ninth LXXIX
80 ८० अस्सी Eighty अस्सीवें 80th Eightieth LXXX
81 ८१ इक्यासी Eighty-one इक्यासी 81st Eighty-First LXXXI
82 ८२ बयासी Eighty-two बयासीवें 82nd Eighty-Second LXXXII
83 ८३ तिरासी Eighty-three तिरासीवें 83rd Eighty-Third LXXXIII
84 ८४ चौरासी Eighty-four चौरासीवें 84th Eighty-Fourth LXXXIV
85 ८५ पचासी Eighty-five पचासीवें 85th Eighty-Fifth LXXXV
86 ८६ छियासी Eighty-six छियासीवें 86th Eighty-Sixth LXXXVI
87 ८७ सत्तासी Eighty-seven सत्तासीवें 87th Eighty-Seventh LXXXVII
88 ८८ अट्ठासी Eighty-eight अट्ठासीवें 88th Eighty-Eighth LXXXVIII
89 ८९ नवासी Eighty-nine नवासीवें 89th Eighty-Ninth LXXXIX
90 ९० नब्बे Ninety नब्बेवें 90th Ninetieth XC
91 ९१ इक्यानवे Ninety-one इक्यानवे 91st Ninety-First XCI
92 ९२ बानवे Ninety-two बानवे 92nd Ninety-Second XCII
93 ९३ तिरानवे Ninety-three तिरानवे 93rd Ninety-Third XCIII
94 ९४ चौरानवे Ninety-four चौरानवे 94th Ninety-Fourth XCIV
95 ९५ पंचानवे Ninety-five पंचानवे 95th Ninety-Fifth XCV
96 ९६ छियानवे Ninety-six छियानवे 96th Ninety-Sixth XCVI
97 ९७ सत्तानवे Ninety-seven सत्तानवे 97th Ninety-Seventh XCVII
98 ९८ अट्ठानवे Ninety-eight अट्ठानवे 98th Ninety-Eighth XCVIII
99 ९९ निन्यानवे Ninety-nine निन्यानवे 99th Ninety-Ninth XCIX
100 १०० सौ One-hundred सौवें 100th Hundredth C
Study_Point_PDF_Download

इकाई दहाई सैकड़ा हजार की गिनती चार्ट | Historic numbering systems in Hindi

इकाई दहाई की गिनती अक्सर हमें पूछ लिया जाता है, इनमे सबसे ज्यादा सवाल यह पूछा जाता है की एक लाख में कितने जीरो होते हैं?, या एक करोड़ में कितने शुन्य होते हैं?। इन्ही सवालों के जवाब आप इस इकाई दहाई सैकड़ा हजार के चार्ट को देखकर या इसे याद रखकर दे सकते हैं।

एक और सवाल पूछा जाता है की- इकाई,दहाई,सैकड़ा,हजार के बाद और कहाँ तक संख्या होती है? पूरा लिस्ट बताओं। ऐसे ही सवालों के जवाब आप निचे के इकाई दहाई वाले गिनती चार्ट से दे सकते हैं।

इकाई दहाई सैकड़ा हजार की गिनती चार्ट | Historic numbering systems in Hindi

इकाई One 1
दहाई Ten 10
सैंकड़ा Hundred 100
हज़ार One Thousand 1000
दस हज़ार Ten Thousand 10000
लाख Hundred Thousand 1,00,000
दस लाख One Million 10,00,000
करोड़ Ten Million 1,00,00,000
दस करोड़ Hundred Million 10,00,00,000
अरब One Billion 1,00,00,00,000
दस अरब Ten Billion 10,00,00,00,000
खरब Hundred Billion 1,00,00,00,00,000
दस खरब One Trillion 10,00,00,00,00,000
नील Ten Trillion 1,00,00,00,00,00,000
दस नील Hundred Trillion 10,00,00,00,00,00,000
पद्म One Quadrillion 1,00,00,00,00,00,00,000
दस पद्म Ten Quadrillion 10,00,00,00,00,00,00,000
शंख Hundred Quadrillion 1,00,00,00,00,00,00,00,000
दस शंख One Quintillion 10,00,00,00,00,00,00,00,000
महा शंख Ten Quintillion 1,00,00,00,00,00,00,00,00,000

आधा, सवा, पौना वाली गिनती | Half, Quarter and One and a half Count in Hindi

आधा, सवा, पौना, डेढ़, ढाई वाला कैलकुलेशन आपने हमारे बड़े-बुजुर्गो से जरुर सुना होगा, कुछ नौजवान पीढ़ी भी इस पद्धति में गिनतियों का गुना-भाग कर लेते हैं। निचे की चार्ट लिस्ट में हम आपको इन्ही आधा, सवा, पौना वाली गिनती सिखाने वाले है, जिसे पढ़कर आप उन पद्धतियों को आसानी से समझ सकते हैं।

आधा, सवा, पौना वाली गिनती | Half, Quarter and One and a half Count in Hindi

अनन्त Infinite, Infinity
असंख्य, अनगिनत Innumerable, Uncountable
नगण्य negligible
1/2 एक बटा दो, आधा
1/3 एक बटा तीन, तिहाई, एक तिहाई
1/4 एक बटा चार, चौथाई, एक चौथाई, एक पाव
3/4 तीन बटा चार, तीन चौथाई, पौन
2/3 दो तिहाई
1+1/4 सवा (सवा एक)
1+1/2 डेढ़ (साढ़े एक)
1+3/4 पौने दो
2+1/4 सवा दो
2+1/2 ढाई (साढे़ दो)
3+1/2 साढे़ तीन
4+1/2 साढे़ चार




आज के इस पोस्ट के माध्यम से हमने हिंदी गिनती, अंग्रेजी गिनती, क्रमसूचक संख्या, रोमन संख्या के बारे में जाना। इन संख्याओं का बहुत-सी  जगहों पर उपयोग किया जाता परन्तु हिंदी, रोमन और क्रमबद्ध संख्याओं को लेकर हमेशा दुविधा रहती है। इस दुविधा को दूर करने के लिए यह पोस्ट किया गया है।

उम्मीद करता हूँ कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी, अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो पोस्ट को शेयर अवश्य करें।
Study_Point_PDF_Download



राजव्यवस्था का सामान्य ज्ञान वन लाइनर प्रश्न-उत्तर (GK One Liner Question and Answer Polity)

राजव्यवस्था का सामान्य वन लाइनर प्रश्न-उत्तर (GK One Liner Question and Answer Polity) part-04

आज के इस पोस्ट में हम राजव्यवस्था के वन लाइनर महत्वपूर्ण प्रश्नों के बारे में जानेंगे, जो अक्सर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे- UPSC,STATE PCS,SSC,RRB,NTPC,RAILWAY,IBPS,CDS,S.I., BANKING PO,BANKING CLERK इत्यादि में पूछे जाते हैं।  संविधान और राजव्यवस्था से जुड़े प्रश्न और उनके उत्तर दिए है। किसी भी देश का संविधान उस देश के नियम और कानूनों को दर्शाता है. इसके साथ-साथ संविधान देश में रह रहे हर नागरिक को उसके अधिकारों के बारे में भी बताता हैं. 
GK One Liner Question and Answer Polity

 

General One Liner Question and Answer of Polity in Hindi

Que.: महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए राष्ट्रीय नीति किस वर्ष में अपनाई गई थी?
Ans.:- 2001

Que.: यू. एन. सुरक्षा परिषद के पाँच स्थायी सदस्य हैं
Ans.:- चीन, फ्रांस, रूस, यू.के.

Que.: भारत में सांप्रदायिकता के विकास का मुख्य कारण है
Ans.:- अल्पसंख्यक समूहों का शैक्षिक और आर्थिक पिछड़ापन

Que.: किस राज्य के अंदर बोडोलैंड प्रादेशिक परिषद (बीटीसी), स्वायत्त स्वशासी निकाय, बनाया गया था?
Ans.:-असम

Que.: भारत और पाकिस्तान के बीच 'शिमला संधि' पर हस्ताक्षर किए जाने का वर्ष है
Ans.:-1971

Que.: जब भारत और रूस के बीच मैत्री और सहयोग की संधि पर हस्ताक्षर किए गए तब रूसी नेता कौन था?
Ans.:- लियोनिड बेझनेव

Que.: मत पत्रों को सबसे पहले प्रयोग किया गया था
Ans.:- प्राचीन यूनान में

Que.: केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड किस मंत्रालय के अंतर्गत आता है?
Ans.:- पर्यावरण और वन

Que.: संविधान का प्रारूपण पूरा हुआ था
Ans.:- 26 नवंबर, 1949 को

Que.: भारत मेंएकल नागरिकता की अवधारणा अपनाई गई है
Ans.:-इंग्लैंड से

Que.: 'दोहरी नागरिकता', किसकी विशेषता है?
Ans.:- संघीय सरकार

Que.: भारतीय संसद के संयुक्त सत्र की अध्यक्षता कौन करता है?
Ans.:- लोक सभा का अध्यक्ष

Que.: राज्य सभा के सदस्यों का सेवा-काल कितना होता है?
Ans.:-छह वर्ष

Que.: लोक सभा में किसी विधेयक को धन-विधेयक के रूप में प्रमाणित कौन करता है?
Ans.:- अध्यक्ष

Que.: कॅन्द्रीय विधान मंडल का अध्यक्ष बनने वाले पहले भारतीय कौन थे?
Ans.:- विट्ठलभाई पटेल

Que.: स्वतंत्र भारत की लोक सभा का पहला अध्यक्ष कौन था?
Ans.:- जी. वीमावलंकर

Que.: भारतीय संविधान के अनुसार, संसद के दोनों सदनों का अधिवेशन एक वर्ष में कम-से-कम कितनी बार बुलाना जरूरी है?
Ans.:- दो बार

Que.: किसी विधानमंडल के किसी सदस्य द्वारा प्रस्तुत प्रस्ताव को जन महत्त्व का अविलंब मामला मानते हुए जो चर्चा की जाती है, उसे क्या कहते हैं?
Ans.:- स्थगन प्रस्ताव

Que.: एक वर्ष तक राजस्य एकत्र करने का प्रस्ताव सरकार किस विधेयक द्वारा करती है?
Ans.:- वित्त विधेयक

Que.: संसद में आधिकारिक विपक्षी समूह के रूप में मान्यता प्राप्त करने के लिए उसके कितने सदस्य होने चाहिए?
Ans.:- कुल सदस्य संख्या का 1/10 भाग


पढ़ें- भारत के सभी प्रधानमंत्रियों की सूची।

Que.: भारत में किसकी स्वीकृति के बिना कोई भी सरकारी खर्चा नहीं किया जा सकता?
Ans.:- संसद

Que.: भारतीय संविधान के अधिकांश उपबंधों का संशोधन किया जा सकता है
Ans.:- अकेले संसद द्वारा

Que.: राज्य सभा का उपसभापति किसे चुना जाएगा?
Ans.:- किसी भी व्यक्ति को जो उस समय राज्य सभा का सदस्य हो

Que.: लोक सभा के निर्वाचित सदस्यों की अधिकतम संख्या हो सकती है
Ans.:- 550 

 Que.: गैर-धन विधेयक के संसद के हर सदन में कितने वाचन होते हैं?
Ans.:- तीन

Que.: लोक सभा अध्यक्ष के वेतन और भने कौन निर्धारित करता है?
Ans.:-संसद

Que.: राष्ट्रीय कोष का अभिरक्षक कौन-सा अंग है?
Ans.:-विधानमंडल

Que.: वह प्रधानमंत्री कौन हैं जिन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान संसद के अधिवेशन (सत्र) में भाग नहीं लिया?
Ans.:- चौधरी चरण सिंह

Que.: भारत में प्रधानमंत्री तब तक अपने पद पर रहता है, जब तक उसे प्राप्त है-
Ans.:- लोक सभा का विश्वास

Que.: वह प्रधानमंत्री कौन था जिसे संसद ने मतदान द्वारा अपदस्थ कर दिया था?
Ans.:- बी. पी. सिंह

Que.: कौन-सा कर है जिसे संविधान द्वारा केवल और पूर्णत: केंद्र सरकार को सौंपा गया है।
Ans.:- निगम कर

Que.: उच्चतम न्यायालय की प्रथम महिला न्यायाधीश कौन थी?
Ans.:- सुश्री एम, एस, फातिमा बीबी

Que.: सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश किस आयु में सेवानिवृत्त होते हैं?
Ans.:- 765 वर्ष

Que.: सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों के वेतन और भत्ते किसे प्रभारित किए जाते हैं?
Ans.:- भारत की संचित निधि को

Que.: उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीशों के लिए कहाँ पर वकालत करने की मनाही है?
Ans.:-भारत के किसी भी न्यायालय में

Que.: न्यायपालिका का मुख्य कार्य क्या है?
Ans.:- कानून का न्यायनिर्णबन


पढ़ें- भारत के राष्ट्रिय प्रतीकों की सूची।

Que.: उच्चतम न्यायालय के 'न्यायिक पुनरीक्षण' कार्य का क्या अर्थ है?
Ans.:-कानूनों की संविधानिक वैधता का परीक्षण

Que.: भारत के उच्चतम न्यायालय को प्राप्त हैं- मूल, अपीलीय और परामर्श दायी अधिकार
Ans.:- क्षेत्र

Indian Polity One Liner Question in Hindi

Que.: भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक की नियुक्ति की अवधि कितनी है?
Ans.:-76 वर्ष या 65 वर्ष की आयु, जो भी पहले हो

Que.: केंद्रीय सरकार का उच्चतम सिविल अधिकारी कौन है?
Ans.:- मंत्रिमंडल सचिव

Que.: देश में पंचवर्षीय योजनाओं का अनुमोदन करने वाला सर्वोच्च निकाय कौन-सा है?
Ans.:- राष्ट्रीय विकास परिषद

Que.: संसद में अपनी राय देने के लिए किस अधिकारी को आमंत्रित किया जा सकता है?
Ans.:-भारत का महान्यायवादी

Que.: कौन-सा आयोग संविधानिक उपबंधों द्वारा स्थापित नहीं है?
Ans.:- योजना आयोग

Que.: संघ लोक सेवा आयोग के सदस्यों के पद का कार्यकाल होता है
Ans.:- 6 वर्ष या 65 वर्ष की आयु प्राप्त करने तक

Que.: संघ लोक सेवा आयोग के किसी सदस्य को हटाया जा सकता है
Ans.:- राष्ट्रपति द्वारा

Que.: भारत में नागरिकों के लिए निर्धारित मत देने की न्यूनतम आयु क्या है?
Ans.:- 18 वर्ष

Que.: भारतीय संविधान का अनुच्छेद 370 परिपुष्ट करता है
Ans.:- जम्मू और कश्मीर राज्य के लिए विशेष स्थिति को

Que.: वर्ष 2000 में संसद द्वारा कानून पारित किए जाने के बाद मध्य प्रदेश से काटकर बनाए गए राज्य का नाम है-
Ans.:- छत्तीसगढ़

Que.: भारत के संविधान के किस अनुच्छेद के अंतर्गत संविधानिक व्यवस्था भंग हो जाने पर, किसी राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू किया जा सकता है?
Ans.:-अनुच्छेद 354

Que.: नर राज्य बनाने या वर्तमान राज्यों की सीमाएं बदलने का अधिकार प्राप्त है।
Ans.:-संसद

Que.: राज्य विधान सभा में धन विधेयक किसकी पूर्व अनुमति से प्रस्तुत किया जा सकते है।
Ans.:- राज्य का राज्यपाल

Que.: भारत के संविधान में कितनी अनु सूचियाँ है?
Ans.:- 12

Que.: हमारे संविधान में आर्थिक आयोजन ' शामिल है
Ans.:- समवर्ती सूची में

Que.: भारतीय संविधान का कौन-सा अनुच्छेद, राज्य सरकारों को ग्राम पंचायतों के गठन का निर्देश देता है?
Ans.:- अनुच्छेद 40

Que.: सबसे पहले किस राज्य ने पंचायती राज अपनाया था?
Ans.:- राजस्थान

Que.: मांस की क्रांति का प्रसिद्ध नारा कौन-सा था?
Ans.:- स्वतंत्रता, समानता और भातृत्

Que.: राष्ट्रपति अयूब खान के साथ ताशकंद करार पर हस्ताक्षर किए थे
Ans.:- श्री लाल बहादुर शास्त्री

Que.: सरकार किसकी एजेंसी है?
Ans.:- 7 राज्य की

Que.: इल-रहित लोकतंत्र के पक्ष में कौन था?
Ans.:- जय प्रकाश नारायण

Que.: एकात्मक संरचना और अध्यधात्मक शासन प्रणाली रूप वाले देश का एक उदाहरल है
Ans.:- फ्रांस

Que.: किस देश में वित्त विधेयक, विधानमंडल के ऊपरी सदन में पेश किया जाता है?
Ans.:- जर्मनी

Que.: प्रक्रियात्मक मामलों पर सुरक्षा परिषद के निर्णय सदस्यों के सकारात्मक मतों द्वारा लिए जाएंगे।
Ans.:- नौ

Que.: आदर्शवाद का जनक किसे माना जाता है?
Ans.:- प्लेटो

Que.: यह कथन किसका है? "मनुष्य स्वतंत्र पैदा होता है लेकिन सदा जंजीर से बंधा रहता है।"
Ans.:- रूसो

Que.: 'द्वंद्वात्मक भौतिकवाद' किस सिद्धांत के साथ जुड़ा हुआ है?
Ans.:- साम्यवाद

Que.: कौन-सा एक देश अब भी राजा द्वारा शासित है?
Ans.:- सऊदी अरब

Que.: सीटी. बी. टी. व्यक्त करता है
Ans.:- शस्त्र नियंत्रण उपाय

Que.: 'जन-इच्छा' की संकल्पना का समर्थन किया था
Ans.:- रूसो ने

आज के इस पोस्ट में हमने राजव्यवस्था का सामान्य ज्ञान वन लाइनर प्रश्न-उत्तर के बारे में जाना। विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं को नजर में रखते हुए यह पोस्ट लिखा गया है जिसमे सारगर्भित चीजों को ही लिया गया है ,जो परीक्षा की दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण है।

उम्मीद करता हूँ कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी , अगर आपको पोस्ट पसंद आये तो पोस्ट को शेयर अवश्य करें। 

NEXT >>>