Active Study Educational WhatsApp Group Link in India

विटामिन ‘ए’(A) की कमी से होने वाले रोग [2022] | Vitamin A deficiency diseases in Hindi

विटामिन 'ए' की कमी से होने वाले रोग |  Vitamin A ki Kami Se Hone Wale Rog

विटामिन ‘ए’(A) की कमी से होने वाले रोग के बारे में जानने के साथ-साथ आपको इस पोस्ट में विटामिन-A के कमी से होने वाले लक्षण, विटामिन-A की महत्वपूर्ण बातो के बारे में भी बताने वाले है-

Vitamin A deficiency diseases in Hindi

विटामिन- ए (Vitamin- A):

शरीर को स्वास्थ्य प्रदान करने के लिए विटामिनो के महत्वपूर्ण योगदान से इंकार नही किया जा सकता है। शरीर के समुचित पोषण के लिए विटामिन अति आवश्यक सहायक तत्व हैं। आधुनिककाल में विटामिनो की खोज के बाद इनका प्रचलन तेजी से जोर पकड़ चूका हैं। सभी विटामिन जो अबतक चिकित्सा वैज्ञानिको ने खोज निकाले हैं एक दुसरे पर निर्भर है। यह हमारे भोजन में काफी मात्र में होकर भी हमारे शरीर को नई जीवन शक्ति देते हैं। इनकी कमी से शरीर रोगग्रस्त हो जाता हैं। जब विटामिनो को किसी कारणवश शरीर में पूर्ति हो पाना संभव नही होता। तब यह कमी मृत्यु का कारण बन जाती है। आगे हम सभी विटामिन-A का वर्णन कर रहे हैं। 

शरीर में विटामिन ‘ए’ की कमी से निम्नलिखित रोग उत्पन्न हो जाते हैं जो समुचित विटामिन ‘ए’ की चिकित्सा करने पर दूर हो जाते हैं।

विटामिन- A से सम्बंधित सवाल -

  1. विटामिन 'A' की कमी से होने वाले रोग?
  2. विटामिन ए की कमी से होने वाले रोग का नाम?
  3. विटामिन A की कमी से क्या होता है?
  4. विटामिन ए की कमी के लक्षण?
  5. विटामिन A की कमी से कौन सा रोग होता है?
विटामिन- ए से सम्बंधित इन सवालों के जवाब आपको निचे विस्तार से दिया गया है-

विटामिन-ए की कमी के लक्षण (Symptoms of Vitamin A Deficiency) :-

  • भूख की कमी, 
  • आंतो में गैस के विकार, 
  • गैस बनना
  • मूत्राशय की पथरी, 
  • दिल की कमजोरी, 
  • निमोनिया, 
  • सर्दी,खांसी, जुकाम, ज्वर, 
  • नजला,ब्रोंकाईटिस,
  • सुखी खांसी, 
  • त्वचा रोग, चर्म का सुख जाना, चर्म प्रदाह, चर्म शोथ, चर्म की सुजन, चर्म मोटी हो जाना, 
  • घाव, फोड़े, फुन्सिया, 
  • कारबंकल जैसे खतरनाक जहरीले घाव 
  • कील-मुहांसे झाइयाँ, चेहरे के दाग- धब्बे, 
  • बाल उड़ना, सर गंजा होना, बालो का रुखापन,
  • नाड़ी दुर्बलता, नाड़ी संस्थान की कमजोरी- हीनता,
  • स्तनों में दूध कम हो जाना, 
  • मासिक धर्म पूर्व के सभी विकार. 
  • बुढ़ापे में योनि शोथ, योनि प्रदाह, योनि की सुजन हो जाना, 
  • बच्चों  की दुर्बलता, 
  • रतौंधी. नेत्र विकार, नेत्र राग धुंधला दिखाई देना,अंधत्व, 
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता का आभाव हो जाना, 
  • झागदार दस्त होना, 
  • देर से दांत निकलना, 
  • शरीर का वजन गिर जाना, 
  • अपचन संक्रमण, 
  • जीवनी शक्ति का अभाव हो जाना, 
  • बहरापन, 
  • पेंघा या गिल्हड, 
  • जननांगो के रोग एवं विकार आदि। 

विटामिन ‘ए’ (A) के जानने योग्य महत्वपूर्ण तथ्य :-

  • यह हमारे शरीर को नई जीवन शक्ति देते हैं।
  • विटामिन ‘ए’ शरीर  को रोग प्रतिरोधक क्षमता देता हैं। 
  • नन्हे बच्चो को विटामिन ‘ए’ की अत्यधिक आवश्यकता होती है। 
  • गर्भावस्था में विटामिन ‘ए’ की अत्यधिक आवश्यकता होती है। 
  • संक्रामक रोगों से शरीर जब घिर गया हो तब विटामिन ‘ए’ की अत्यधिक आवश्यकता होती है।

विटामिन ‘ए’(A) की कमी से होने वाले रोग (Vitamin- A deficiency diseases) :-

  • विटामिन ‘ए’ की कमी से बहरापन  होता है। 
  • सर्दी खांसी, जुकाम, नजला विटामिन ‘A’ की कमी से होता है। 
  • फेफड़ो में संक्रमण विटामिन ‘ए’ की कमी से होता है। 
  • विटामिन ‘A’ की कमी से रोगों तेज प्रकाश सहन नही कर पता है। 
  • विटामिन ‘ए’ की कमी से कील-मुंहासे आदि कई चर्म रोग हो जाते है। 
  • विटामिन ‘A’ की कमी से नेत्रों में आंसू सुख जाते है। 
  • विटामिन ‘ए’ का अविष्कार १९३१ में हुआ था। 
  • विटामिन ’A’ जल में घुल जाता है। 
  • विटामिन ’ए’ तेल और वसा में घुल जाता है। 
  • विटामिन ’A’ की कमी से नाख़ून आसनी से टूटने लगते है। 
  • विटामिन’ए’ की कमी से रतौंधी हो जाती है। 
  • विटामिन ‘A’ की कमी से अनेक नेत्र रोग स घेरते है। 
  • विटामिन ‘ए’ की कमी से रोगी अँधा हो जाता है। 
  • विटामिन’A’ की कमी से दांत कमजोर हो जाता है।  दांतों का एनामेल बनने में रूकावट हो जाती है।   
  • दांतों में गड्ढे विटामिन ‘ए’ की कमी से होते है। 
  • विटामिन ‘A’ की कमी से पुरुष के जननांगो पर प्रभाव डालता है। 
  • साइनस नथुने नक् कण और फले शिराओ पतली रक्त वाहिनियों माथे की रक्त वाहिनियों के संक्रमण विटामिन ‘ए’ कि पूर्ति करने से दूर हो  जाते है।
  • स्कारलेट फीवर विटामिन ‘ए’ देने से ठीक हो जाते है। 
  • विटामिन ‘A’  की कमी से बच्चो की बढ़त थम जाती है। 
  • बच्चो को एक हजार से लेकर तीन हजार यूनिट आई, प्रतिदिन विटामिन ‘इ’ की आवश्यकता होती है। 
  • विटामिन’ए’ की कमी दिमाग की 8वीं नाड़ी पर बुरा प्रभाव डालती है। 
  • विटामिन ‘A’ के प्रयोग से वृक्को की पथरी का  डर नहीं रहता। पथरी रेत के कण जैसी बनकर मूत्र से निकल जाती हैं। 
  • गिल्हड़ विटामिन ‘ए’ की कमी से होता हैं।
  • दिल धड़कने वाले रोगी को विटामिन ‘ए’  के साथ विटामिन ‘बी’ भी देना चाहिए। 
  • विटामिन ‘A’  कमी से स्त्री के जननांगो पर घटक प्रभाव पड़ता है। 
  • विटामिन ‘ए’ की कमी से स्त्री का डिम्बाशय सिकुड़ जाता है। 
  • विटामिन ‘ए’ की कमी से पुरुष का अंडाशय सिकुड़ जाता है। 
  • विटामिन ‘ए’ और ‘ई’ शरीर में घट जाने पर स्त्री और पुरषों की सम्भोग इच्छा नहीं रहती तथा संतान उत्पन्न करने की क्षमता भी समाप्त हो जाती है। 
  • विटामिन ‘A’ और ‘ई’ की कमी से पिट्यूटरी ग्लैंड की सक्रियता में बाधा हो जाती है। 
  • विटामिन ‘ए’ की कमी से अनेक चर्म रोग हो जाते है। 
  • विटामिन ‘A’ की कमी से बुढ़ापा जल्दी आ जाता है। 
  • विटामिन ‘ए’ से धमनियां और शिराएँ मुलायम रहती है। 
  • विटामिन ‘A’ की कमी से बल झड़ने लगते है। 
  • विटामिन ‘ए’ हरी सब्जियों में अधिक होता है। 
  • विटामिन ‘A’ की कमी से हमारे देश में लाखों लोग अपनी आँखों की रोशनी खो चुके हैं। 
  • विटामिन ‘ए’ की कमी से आँखों की चमक निस्तेज हो जाती है। 
  • विटामिन ‘A’ की कमी से नेत्रों में झुर्रियां पड़ जाती है। 
  • विटामिन ‘ए’ की कमी से जीभ पीली पड़ जाती है। 
  • मछली के तेल में विटामिन ‘A’ सबसे अधिक होता है। 
  • विटामिन ‘ए’ की कमी से सर के बल खुरदुरे हो जाते है। 
  • विटामिन ‘A’ की कमी से भूख घट जाती है।
  • विटामिन ‘ए’ की कमी से वजन घट जाता है। 
  • विटामिन ‘A’ की कमी से त्वचा खुरदुरी मोती और कांतिहीन हो जाती है, चेहरा निस्तेज हो जाता है।

भारतीय कला और संस्कृति | Indian Art and Culture in Hindi

भारत की कला संस्कृति (Indian Art and Culture in Hindi)

इस पोस्ट में हमने आपको भारत की कला और संस्कृति (Indian Art and Culture) के बारे में जानकारी दिया हैं। भारत में विभिन्न धर्मो, जातियों और समुदाय के लोग पाए जाते है। भारत की कला संस्कृति भी इसका एक महत्वपूर्ण भाग है। जिस प्रकार से एक देश के अन्दर सारी समानताये, विविधताये पाई जाती है, ठीक उसी प्रकार से बिना संस्कृति के हमारा भारत देश अधुरा माना जाता है।
Indian Art and Culture in Hindi
भारत की कला संस्कृति (Art culture of India) से जुड़ी सभी जानकारी निचे दिया गया हैं :- 

    भारतीय कला और संस्कृति का परिचय (Introduction - Indian Art and Culture):- 

    भारत की कला संस्कृति का प्रदर्शन वैदिक काल से ही देखने को मिलता है इसका  मतलब यह है कि इसकी  शुरुआत पुराने समय में ही हो गयी थी। जब राजा महाराजा के समय में मूर्ति कला का प्रदर्शन होता था। भारत की कला संस्कृति की बात करे तो भारत देश की संस्कृति और सभ्यता पुरे विश्व में विख्यात है कला और संस्कृति हमारे भारत की धरोहर है भारत की कला और संस्कृति सांस्कृतिक रूप से भी हमारे देश की पहचान बने हुए है जहाँ एक ओर विदेशी संस्कृतियाँ विश्व में फैले हुए है वही हमारे देश की सभ्यता विदेशों में भी अपनी एक अलग जगह बनाये हुए है, भारत अपने, संगीत, नृत्य, लोकपरम्परा, रहन-सहन, संस्कृति, सभ्यताओं, परम्पराओं, प्रदर्शंकला, अनुष्ठान, चित्रकला,रंगमंच,गानों से विश्व भर में मौजूद है. भारत की कला और संस्कृति का परिचय पूरी दुनिया देती है।

    भारत में अलग–अलग जाति, धर्म तथा अलग-अलग संस्कृति के लोग रहते जाते है। यहाँ पर लोग विभिन्न प्रकार की भाषाये बोलते है, अलग-अलग कपड़े पहनते है, अलग-अलग त्यौहार मानते है, पर फिर भी उनमे समानताये है। शायद इसलिए तो कहा जाता है "भारत में अनेकता में भी एकता देखने को मिलती है।"

    तो हमने यह जाना की की भारत की  कला संस्कृति की शुरुआत कैसे हुई कब से हुई तथा इसमें जाति, धर्म तथा भाषायों का महत्व क्या  है इसके बाद हम  जानेंगे की भारत की कला संस्कृति को कितने भागो में बाटा गया है  तथा इसका भारतीयों के जीवन में क्या महत्त्व है तो चलिए जानते है।

    (1) भाषाएं (Language) :– 

    भाषाओ की बात करे तो भारत की कला व संस्कृति में संविधान के आठवी अनुसूची के अनुसार 22 भाषाये पायी जाती है इन भाषाओ को भी अलग-अलग सूची में विभाजित किया गया है भारत की कला व संस्कृति में भाषाए महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है यहाँ पर विभिन्न जाती व धर्मो के लोग विभिन्न भाषाए बोलते है भाषागत विविधता भी अलग-अलग राज्यों में भी पायी जाती है जैसे की जो  लोग ओड़िसा राज्य में रहते है वे ओड़िया भाषा बोलते है महाराष्ट्र में मराठी, छत्तीसगढ़ में छत्तीसगढ़ी, मणिपुर में बंगोली, तथा अलग-अलग राज्यों में  में अन्य  उर्दू, हिंदी, गुजराती, मलयालम,आदि भाषाओ का उपयोग भारत में किया जाता है।


    तो हमने यह जाना की भारत के अलग-अलग राज्यों में अलग अलग तरह के भाषाये बोली जाती है। तथा भारत में कुल 22 भाषाए बोली  जाती है। आगे हम जानेगे की किस तरह भाषओंके आधार पर लोगो ने धर्मो को भी किस तरह बाट दिया है, तो  चलिए जानते है  हमारे आस- पास  किस -किस जाति के के लोग है। 

    (2) धर्म (Religion) –

     भारत की कला संस्कृति में बहुत सारे जाति धर्म के लोग पाए जाते है धर्म से आशय उनके अध्यात्म से है जो की अलग –अलग विभिन्नताए लिए हुए है भारत की कला संस्कृति का एक भाग धर्म भी माना गया है भारतीय धर्म, विश्व के धर्मो में प्रमुख है-जैसे हिन्दूधर्म, बौद्धधर्म, सिक्खधर्म, जैनधर्म धर्मो के आधार पर ही भारतीय कला व संस्कृति को रखा गया है। भारत में धर्मो में भिन्नताये सबसे ज्यादा है तथा  बहुत ही कट्टर धर्म  के लोग इसमें  सम्मिलित है इनमें सबसे ज्यादा 13.4% हिन्दू धर्म सम्मिलित है।

    (3) पहनावा (Clothings)-

    भारत की कला संस्कृति में इनका पहनावा भी महत्वपूर्ण है जैसे की महिलाओं के लिए साड़ी और पुरुषों के लिए धोती कुर्ता यहाँ का पारंपरिक परिधान है एवं यहाँ पर राज्यों एवं निवास स्थानों के हिसाब से भी पहनावा है जैसे की दक्षिण भारत के पुरुष सफ़ेद रंग का लंबा चादर नुमा वस्त्र पहनते हैं और घगरा, चुन्नी, कुर्ता, लुंगी, धोती, पैजामा, साड़ी ब्लाउज आदि पहने जाते है।

    (4) संगीत(Music)-

    भारतीय कला संस्कृति में संगीत का स्थान भी बहुत महत्वपूर्ण माना गया है संगीत का स्थान वैदिक काल से ही प्रभावशाली रहा है भारतीय संगीत में विभिन्न प्रकार के धार्मिक लोकसंगीत, लोकगीत पॉप संगीत, शामिल है भारतीय संगीत का सबसे पुराना उदहारण है सामवेद की कुछ धुनें जो आज भी वैदिक श्रोता बलिदान में गायी जाती है यह प्राचीन काल से ही मनोरंजन का साधन रहा है पहले राजा-महाराजा गीत संगीत का हिस्सा हुआ करते थे।

    (5) नृत्य (Dance)-

    भारत की कला संस्कृति भी कभी नाच गाने भी इसका हिस्सा हुआ करते थे इसमें प्रमुख नृत्य है जो प्राचीन इतिहास के साक्ष भी माने जाते है, इसमें मोहिनीअट्टम, कुचीपुरी, कुछ लोक नृत्य राज्यों के अनुसार ही प्रसिद्ध हुए है जैसे की- असम का बिहू, गुजरात का डंडिया और गरबा,छत्तीसगढ़ का राउतनाचा, पंजाब का भांगड़ा, महाराष्ट्र का लावणी, कर्नाटक का यक्षगान, गोवा का देखनी,और तमिलनाडू का भारत नाट्यम, उत्तर प्रदेश का कत्थक केरल का कथकली इत्यादि भी भारत की कला संस्कृति का ही महत्वपूर्ण भाग है।

    (6) नाटक और रंगमंच (Drama and theater) -

    भारतीय कला और संस्कृति में नाटक रंगमंच का भी योगदान है कला के क्षेत्र में भारतीय नाटक और थिअटर प्राचीन कल से ही चले आ रहे है इनमे से कुछ है – कालिदास का अभिज्ञान शाकुंतलम, नाटकारों में महत्वपूर्ण रहा है। लोक थिएटर की परंपरा भारत के अधिकाशं क्षेत्रों में भी उपयोगी है। 

    (7) चित्रकारी (Paintings)-

    भारत की कला-संस्कृतियों में चित्रकारी भी एक उपयोगी स्थान निभा रही है चित्रकारी भारत में एक अजंता एलोरा की मंदिर में बने हुए चित्र प्राक्रतिक के प्रेंम को प्रदर्शित करते है यह चित्रकारी बहुत ही, प्रसिद्ध मानी गयी है इनमे से एक है कालिदास की अभिज्ञान शाकुंतलम, भारतीय कला की कुछ उल्लेखनीय विधाएं हैं, जबकि राजा रवि वर्मा, नंदलाल बोस, गीता वढेरा, जामिनी रॉय और बी वेंकटप्पा कुछ आधुनिक चित्रकार हैं। वर्तमान समय के कलाकारों में अतुल डोडिया, बोस कृष्णमक्नाहरी, देवज्योति राय और शिबू नटेसन, भारतीय कला के उस नए युग के प्रतिनिधि हैं.

    (8) मूर्तिकला और वास्तुकला (Sculpture and Architecture) -

    भारतीय कला संस्कृति में मूर्ति कला और वास्तु कला का भी एक अलग स्थान रहा है भारत की मूर्ति कला सिन्धु घटी के ज़माने के है जहा पर खोदाई के दौरान कुछ मूर्तियाँ प्राप्त हुई है मथुरा की गुलाबी बलुआ पत्थर की कुछ मुर्तिया भी प्राप्त हुयी है भारतीय कला संस्कृति में वास्तुकला का भी योगदान रहा है मौर्य और उनके साम्राज्य के काल में साँची का स्तूप बनवाया है जो भारतीय इतिहास के वास्तुकला का एक नमूना पेश करता है, कुछ मुग़ल कालीन वास्तुकला भी भारत की कृष्णमक्नाहरी, देवज्योति राय और शिबू नटेसन, भारतीय कला के उस नए युग के प्रतिनिधि हैं संस्कृति व् वस्तु कला में पाए गये है जैसे गोल गुम्बद, दिल्ली का लाल किला, आगरा का ताजमहल, जामा मस्जिद, आलाई दरवाजा विक्टोरिया महल इसका उत्कृष्ठ उदहारण है।  

    निष्कर्ष (Conclusion): – 

    इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको भारतीय कला संस्कृति से रूबरू करवाया है जो की इस भारतीय लोककला और संस्कृति (Indian Folk Art and Culture) का एक केंद्रबिंदु है, जिसमे की सारे लोकगायन लोक संस्कृति और बहुत सारे वास्तु कला कला के नमूने पेश किये है। इस प्रकार से हमारे भारतीय कला संस्कृति में अनेको विशेषताएं पायी जाती है भारत की कला और संस्कृति हमारे भारत की आधार शिला है। बिना कला और संस्कृति के भारत देश अधुरा माना गया है।

    अंतर्राष्ट्रीय जगहों के प्रमुख मामले (Major Matters of International Places)

    अंतर्राष्ट्रीय जगहों के प्रमुख मामले और उनकी जानकारी (Major matters of international places and their knowledge)

    हमारे देश भारत के अलावा जितने और भी मामले पूरी दुनियाभर में घटित होते रहते उन्हें हम अंतर्राष्ट्रीय मामलों का नाम दे सकते हैं। निचे आपको इन्ही में से कुछ अंतर्राष्ट्रीय जगहों और उनके प्रमुख मामलों की जानकारी दे रहें हैं।

    Major matters of international places and their knowledge

      लेह - पहला फील्ड स्टेशन

      लद्दाख क्षेत्र में पर्यावरण सम्बन्धी समस्याओं से निपटने के लिए सरकार ने बर्फीले मरुस्थल लेह में फील्ड स्टेशन स्थापित करने के लिए अपनी मजूरी दे दी है। यह फील्ड स्टेशन अल्मोड़ा स्थित जीबी पन्त हिमालय पर्यावरण विकास संस्थान द्वारा स्थापित किया जायेगा। यह अपनी तरफ का पहला फील्ड स्टेशन होगा, जिसके पश्चिम में पाकिस्तान और पूर्व में चीन की सीमा लगी होगी।


      दिशनगढ़ - सबसे बड़ा ऊर्जा संयंत्र

      आसनसोल के दिशनगढ़ में देश का सबसे बड़ा दो मेगावाट और पीपी ऊर्जा संयंत्र स्थापित किया जायेगा। इस बिजली संयत्र की स्थापना के लिए 30.9 करोड़ रूपए का ऋण देने हेतु पश्चिम बंगाल ग्रीन एनर्जी डेवलपमेंट कॉर्पोरशन लिमिटेड और पॉवर फाइनेंस कारपोरेशन के बिच समझौता हुआ।

      गढ़ी मोलाली गाँव - दस हज़ार साल पूर्व के शैलचित्र

      भारत के विश्व प्रसिद्द ऐतिहासिक स्थल भीमबेटका में मिले शैलचित्रो के सामान ही मध्यप्रदेश के सागर शहर से करीब 10 किमी दूर स्थित गढ़ी मोलाली गाँव के आस पास की पहाडियों में दस हज़ार साल इसा पूर्व से भी पहले के शैलचित्रो का पता चला है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग व सागर विश्वविद्यालय के प्राचीन विभाग द्वारा किये गए संयुक्त सर्वेक्षण में यहाँ स्थित दर्जनों गुफाओ की दीवारों  पर बड़ी संख्या में लाल, पीले व सफ़ेद रंगों में उकेरी गयी आकृतिया मिली। सर्वेक्षण दल के कथनानुसार ये शैलचित्र प्राचीन व संख्या के नज़रिए से भीमबेटका में मिले शैलचित्रो के समकक्ष ही है।


      तक्षशीला - भगवान् बुद्ध की 2,000 वर्ष पुरानी प्रतिमा

      पाकिस्तान पुरातत्वविदों को ऐतिहासिक शहर तक्षशीला से भगवान् बुद्ध की 2,000 वर्ष पुरानी एक दुर्लब प्रतिमा प्राप्त हुई है। यह प्रतिमा लाल बालू पत्थर (सेंडस्टोन) की बनी हुई है। 13,312 सेमी की इस प्रतिमा में भगवन बुद्ध आसन मारकर एक सिंहासन पर बैठे हुए है , जिसे दो सिंहो ने सहारा दे रखा है।


      लन्दन - सबसे महंगा व गन्दा शहर

      एक सर्वे में लन्दन को यूरोप का सबसे महंगा व गन्दा शहर बताया गया है। पर्यटन से जुडी एक संस्था ‘ट्रिप एडवाइज़र’ द्वारा सेलानियो के बीच कराये गये सर्वे में यह बात सामने आई है। लेकिन, इन सबके बावजूद रात बिताने के लिए पर्यटक लन्दन को सबसे पहली पसंद मानते है। इस सर्वे में शौपिंग के लिहाज़ से लन्दन दुसरे स्थान पर आया है।


      चिली – पहला अंटार्कटिका संग्रहालय

      चिली के पुन्टा अरेना शहर में दुनिया का पहला अंटार्कटिका संग्रहालय स्थापित किया जायेगा। इस संग्रहालय में लोगो को अंटार्कटिक से जुड़े विभिन्न पहलुओ को जानने का अवसर मिलेगा। इस संग्रहालय के निर्माण में 2 करोड़ डॉलर खर्च किये जायेंगे।लगभग तीन वर्षो  में संग्रहालय का निर्माण कार्य पूरा होगा।


      मिस्र – 7,000 वर्ष पुराने शहर

      अमेरिका के पुरातात्वेताओ ने मिस्त्र के फडयूम नखलिस्तान में 7,000 वर्ष पुराने शहर के अवशेषों की खोज की है। इन अवशेषों को नए पाषाण यूग में 5200 ईसा पूर्व से 4500 ईसा पूर्व के बीच का बताया जा रहा है।


      यांगून - भीषण चक्रवर्ती तूफ़ान ‘नर्गिस’

      चक्रवर्ती तूफ़ान ‘नर्गिस’ – 4 मई , 2008 को म्यांमार की राजधानी यांगून में भीषण चक्रवर्ती तूफ़ान ‘नर्गिस’ की चपेट में आने के कारण 243 लोगो की मृत्यु हो गयी। यह तूफ़ान इस क्षेत्र में आये सभी तुफानो में भीषण व तबाहिपूर्ण था। 


      प्रदुषण फ़ैलाने में नम्बर वन बना चीन – 

      एक ताजा रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका को पीछे छोड़कर चीन अब सबसे अधिक प्रदुषण फ़ैलाने वाला देश बन गया है। चीन में ग्रीन हाउस गैसों के  उत्सर्जन का स्तर अमेरिका के 2006-7 के स्तर को पार गया है। कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के अनुसार अनुसंधानकर्ताओ की यह रिपोर्ट मई माह में जर्नल इनवायरमेंट इकोनोमिक्स एंड मैनेजमेंट में प्रकाशित होंगी। इस रिपोर्ट में चेतावनी दी गयी है की अगर चीन ने अपनी उर्जा निति में व्यापक फेरबदल नहीं किये तो वहाँ  ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन क्योटो संधि  में तय मानको से कई गुना अधिक् हो जायेगा। 


      गांधी के आदर्शो को मान्यता देगी यूरोपीय संसद – 

      अब यूरोपीय संसद (ईपी) ने भी मान लिया है की गांधीवाद का कोई जबाब नहीं है। असल, में यूरोपीय संसद ने अपनी एक वार्षिक रिपोर्ट में महात्मा गांधी के अहिंसावाद को मानवाधिकार के सिद्दांतो को सुनुश्चित करने के लिए एकदम सटीक बताया है रिपोर्ट में यह भी प्रस्ताव किया गया है की यूरोपीय यूनियन के मानवाधिकार और जनतांत्रिक निति में गांधीवाद का प्रोत्साहन प्राथमिकता से किया जाना चाहिए। ‘वैश्विक मानवाधिकार 2007’ के मान से पेश यूरोपीय संसद की इस रिपोर्ट में कहा गया है की केंद्रीय राजनैतिक भूमिका के तौर पर गांधीवाद के सिद्दांतो को शामिल करने के लिये वर्ष 2009 में अहिंसा पैर यूरोपीय कांग्रेस बुलाई जाये और वर्ष 2010 को ‘यूरोपीय इयर ऑफ़ नॉन वायलेंस’ घोषित किया जाए। रिपोर्ट में यूरोपीय संगठन के सदस्यों से संयूक्त राष्ट्र में वर्ष 2010 से 2020 के दशक को ‘अहिंसा का दशक’ घोषित करने के लिए प्रयास करने का आह्वान किया गया है। यूरोपीय संसद के विदेश मामलों की समिति द्वारा अप्रैल में स्वीकृत इस रिपोर्ट पर 8 मई को यूरोपीय संसद के पूर्ण सत्र में वोटिंग होंगी।


      नेपाल में संविधान सभा के लिए चुनाव – 

      10 अप्रैल को नेपाल में संविधान सभा के लिए हुए चुनाव में माववादी पार्टी को प्रचंड के नेत्तृत्व में जबरदस्त सफलता मिली। नेपाली कांग्रेस तथा कम्यूनिष्ठ पार्टी को इस चुनाव में करारा झटका लगा। चुनाव के बाद नेपाल के राजशाही के समाप्त होने के आसार बन गये है।


      भूटान में प्रथम संसदीय निर्वाचन – 

      भूटान में 24 मार्च, 2008 को हुए ऐतिहासिक प्रथम संसदीय चुनाव पुरिब्तारह से एक तरफा रहे। चुनाव परिणामो में द्रुक फुएंसम शोगपा (डीपीटी) ने कुल 47 में से 44 सीटो पैर कब्ज़ा जमा लिया। डीपीटी का नेतृत्व पूर्व प्रधानमन्त्री जिग्मे शिनले कर रहे थे। इस चुनाव से देश में पिछले एक सदी से चले आ रहा राजशाही का दौर ख़त्म हो रहा है और लोकतंत्र की स्थापना की जा रही है। कोई असर पड़ता नज़र नही आया और उन्होंने बचीं की तानाशाही नीतियों के खिलाफ अपना प्रदर्शन जारी रखा।


      म्यांमार में वर्ष 2010 में होंगे आम चुनाव – 

      म्यांमार की सैन्य सरकार ने 8 फ़रवरी , 2007 को घोषणा की कि देश में आम चुनाव वर्ष 2010 में करवाए जायेंगे। सैन्य शाशन जुंटा के अनुसार नए संविधान को प्रभावी बनाने के लिए आवश्यक जनमत संग्रह मई , 2007 में कराया गया। यह पहला अवसर था , जब सैन्य सरकार ने लोकतंत्र की दिशा में अपनी योजना के लिए किसी तथ्य का निर्धारण किया।  


      प्रवासी कर –

      ग्रेट ब्रिटेन सर्कार यूरोपीय संघ से बाहर के देशो से आने वाले प्रवासियों से प्रवासी कर (Migration tax) वसूलेगी। यह कर तब तक वसूलेगी , जब तक प्रवासी/प्रवासियों को ब्रिटेन की पूर्णतः नागरिकता नहीं मिल जाती। इस कर के आरोपण के के पीछे का तर्क यह है की बाहर से आने वाले लोग ब्रिटेन की सेवाओ यथा- स्वास्थ्य एवं शिक्षा का उपभोग करेंगे। इन सेवाओ के उपभोग करने के कारण ही प्रवासियों से प्रवासी कर वसूला जायेगा। यह कर बुजुर्गो एवं अपने बच्चो के साथ आने वाले लोगो को अधिक देना होगा , क्योकि उपर्युक्त सेवाओ का सर्वाधिक उपयोग ये ही करेंगे। वसूले गये कर को प्रस्तावित ‘ब्रिटिश न्याय कोष’ में जमा कराया जायेगा, जिसे सेवा उपलब्बध कराने वाले संगठनो को दिया जायेगा। इस न्याय कोष में 15 मिलियन पौंड संगृहीत होने कका अनुमान है। 


      कोसोवा ने स्वतंत्रता की घोषणा की –

      सर्बिया के प्रति कोसोवा ने 17 फ़रवरी, 2008 को सार्वभौम स्वतंत्रता की घोषणा कर दी। स्वतंत्रता की घोषणा के पश्चात् कोसोवा में संयूक्त राष्ट्र की जगह यूरोपीय मिशन के लोग आ जायेंगे। इस मिशन का नेतृत्व डच राजनईक पीटर फीथ के हाथ में होगा।


      मानव तस्करी के खिलाफ संयूक्त राष्ट्र संघ का नया संघर्ष – 

      दुनियाभर में मानव तस्करी की रोकथाम सम्बन्धी समझौते को लागू करने वाली प्रमुख संस्था संयूक्त राष्ट्र मादक पदार्थ एवं अपराध रोकथाम कार्यालय ‘यूएनओडीसी’ ने इसके खिलाफ लडाई तेज करने के लिए संयूक्त राष्ट्र वैश्विक मानव तस्करी संघर्ष पहल ‘यूनगिफ्ट’ शुरू की है। इसका उद्देश्य मानव तस्कारी के खिलाफ जागरूकता बढाना , मानव तस्करी सम्बंधित आकड़ो के आधार को मजबूत करना और तकनिकी सहायता बढाना है। इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए विऐना में फ़रवरी, 2008 में मानव तस्करी के विषय पर विश्व सम्मलेन का आयोजन किया गया। इस सम्मलेन में मानव तस्करी के मूल कारणों , उसके सामाजिक व आर्थिक प्रभावों तथा इसे समाप्त करने के लिए आवश्यक उपायों पर जोर दिया गया। 


      साइप्रस व माल्टा यूरो अपनाने वाले देशो में शामिल – 

      यूरोपीय संघ (EU) के दो अन्य देश- माल्टा व साइप्रस ने 1 जनवरी , 2008 से यूरोप की एकीकृत मुद्रा- यूरो (Euro) को अपना लिया है। इससे यूरो मुद्रा वाले दशो की कुल, संख्या अब 15 हो गयी है। इससे पूर्व माल्टा में ‘माल्टीस लीरा’ तथा साइप्रस के ‘साइप्रस पाउंड’ प्रचलन में थे। साइप्रस में केवल दक्षिणी ग्रीक-भाषी क्षेत्र में ही यूरो को अपनाया गया है। उत्तरी टर्किश साइप्रस में पूर्ववत ‘टर्किश लीरा’ ही चलन में बरकरार है। उल्लेखनीय है की यूरोप के 12 देशो ने अपनी पृथक मुद्राओं के स्थान पर यूरो को 1 जनवरी , 2002 से अपनाया था। बाद में ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, फ़िनलैंड, इटली, लक्सम्बर्ग, नीदरलैंड,पुर्तगाल व स्पेन द्वारा भी ‘यूरो’ अपना लिए जाने से यूरो वाले देशो की संख्या 13 हो गयी थी। 


      पहले अफ़्रीकी उपग्रह का प्रक्षेपण सफल – 

      फ्रेंच गुआना के कोरु अन्तरिक्ष केंद्र से प्रक्षेपित किये गये यूरोप के ‘एरियन 5’ राकेट ने 21 दिसम्बर , 2007 को अंतरिक्ष कक्ष में दो उपग्रहों को स्थापित किया , जिनमे पहला पैन- अफ़्रीकी संचार उपग्रह शामिल था। लांच लिए जाने के आधे घंटे बाद एरियन 5 ने अफ्रीका के ‘आरएससीओएम-क्यूएफ-1’ और अमेरिका के ‘होराज़न-2’ उपग्रह को कक्ष में स्थापित कर दिया। एरियन का यह साल का छठा सफल प्रक्षेपण था। 


      शेंजेन समझौते में पूर्वी यूरोप के नौ देश शामिल - 

      यूरोप के भूतपूर्व इंस्टर्न ब्लॉक के नौ देशों चेक गणराज्य, एस्तोनिया, हंगरी, लाटवियालिथुआनिया, माल्टा, पोलैण्ड, स्लोवाकिया और स्लोवेनिया ने 21 दिसम्बर, 2007 को यूरोपीय जोन में शामिल होने के लिए अपनी सरहदों पर आवाजाही में होने वाली रोक-टोक को समाप्त कर दिया ये देश यूरोप के शेंजेन समझौते में शामिल हो गए। इससे इनके 40 करोड़ लोग नॉवें में आर्कटिक सर्किल के पुर्तगाल के बीच बिना पासपोर्ट दिखाए स्वतन्त्रतापूर्वक आवागमन कर सकेंगे।                                                                                                


      दक्षिण अमेरिकी राष्ट्र बनाएँगे विश्व बैंक की तर्ज पर बैंक –

      छह दक्षिण अमेरिकी राष्ट्रों अर्जेंटीना, बेनेजुएला, ब्राजील, बोलिविया, इक्वाडोर और पराग्वे के राष्ट्रपतियों ने 9 दिसम्बर, 2007 को विश्व बैंक और अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की तर्ज पर दक्षिण अमेरिका में एक वैकिल्पक बैंक की शुरूआत करने के सिलसिले में एक दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए। इस बैंक की शुरुआत सात अरब अमेरिकी डॉलर से की गई। वेनेजुएला की राजधानी काराकस में इस बैंक का मुख्यालय होगा। अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स और बोलिविया की वैधानिक राजधानी ला पॉज में इस बैंक की एक-एक शाखा खोली गई हैं। इस बैंक का लक्ष्य दक्षिण अमेरिका के आर्थिक विकास के लिए आधारभूत संरचना और निजी क्षेत्र की परियाजनाओं को कम दरों पर वित्तीय सहायता देना है। अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष जैसे दूसरे अन्य संस्थानों में सभी सदस्यों को वीटो पावर की सुविधा नहीं है, जबकि दक्षिण अमेरिका के इस बैंक के सारे सदस्यों को वोटो पावर की सुविधा दी गई है।              


      जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन बाली में सम्पन्न – 

      ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन पर कटौती के मामले में विश्वव्यापी सहमति कायम करने के उद्देश्य से संयुक्त राष्ट्र संघ के तत्वावधान में वैश्विक सम्मेलन (United Nations Climate Change Conference) इण्डोनेशिया के बाली द्वीप में नूसा दुआ (Nusa Dua) में 3-14 दिसम्बर, 2007 को सम्पन्न हुआ। 190 देशों के प्रतिनिधियों, वैज्ञानिकों व सामाजिक कार्यकर्ताओं ने इस सम्मेलन में भाग लिया। ऑस्ट्रेलिया जिसकी पूर्ववर्ती कंजरवेटिव सरकार ने इस सम्मेलन के बहिष्कार की घोषणा की थी, ने भी इस सम्मेलन में जोर-शोर से भाग लिया। ऑस्ट्रेलिया के नए प्रधानमन्त्री केविन रूड स्वयं इस सम्मेलन को सम्बोधित करने वालों में शामिल थे। सम्मेलन में भागीदारी से पूर्व ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमन्त्री रूड ने क्योटो सन्धि पर हस्ताक्षर भी 3 दिसम्बर, 2007 को कार्यभार सँभालते ही किए थे। वर्ष 1997 में बनी क्योटो सन्धि से आगे की रणनीति बनाने के लिए इस सम्मेलन का आयोजन संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा किया गया था। विश्व के प्रमुख 36 औद्योगिक देशों पर लागू क्योटो सन्धि की अवधि 2012 में समाप्त हो रही है, इस सन्धि के अन्तर्गत इन 36 औद्योगिक देशों को 2008 तक ग्रीन हाउस गैसों में उत्सर्जन का स्तर क्रमशः घटाते हुए 1990 के स्तर तक लाने की जिम्मेदारी है। सम्मेलन में भारतीय शिष्टमण्डल का नेतृत्व केन्द्रीय विज्ञान मन्त्री कपिल सिब्बल ने किया था। दो सप्ताह तक चले इस सम्मेलन मे नई सन्धि तैयार करने को विकसित एवं विकासशील देशों में सहमति अन्तिम समय में ही हो सकीइस सम्बन्ध में अगली बैठक डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन में वर्ष 2009 में होगी। सन्धि वर्ष 2012 में लागू होगी।                                                                 


      पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमन्त्री बेनजीर भुट्टो की हत्या - 

      आठ वर्ष के निर्वासन के पश्चात् 18 अक्टूबर, 2007 को स्वदेश लौटी पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमन्त्री बेनजीर भुट्टो की रावलपिण्डी में 27 दिसम्बर2007 को जब एक चुनावी सभा को सम्बोधित करने के बाद वह अपनी गाड़ी में सवार हुई थीं रहस्यमय परिस्थतियों में हत्या कर दी गई।                                                 


      15 सितम्बर अंतर्राष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस घोषित - 

      लोकतन्त्रीकरण एवं विकास को बढ़ावा देने और मानवाधिकार एवं मौलिक स्वतन्त्रता के सम्मान पर जोर देते हुए संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 15 सितम्बर 2007 को अन्तर्राष्ट्रीय लोकतन्त्र दिवस घोषित किया है।


      नेपाल  को गणतन्त्र घोषित करने का प्रस्ताव पारित – 

      नेपाल की संसद ने संविधान सभा चुनाव के बाद नेपाल को गणतन्त्र घोषित करने का प्रस्ताव 4 नवम्बर, 2007 को पारित कर दिया। संविधान सभा के चुनाव समानुपातिक निर्वाचन प्रणाली से होंगेसत्ताधारी गठबन्धन के राजशाही के मुद्दे पर एकमत नहीं हो पाने के कारण संसद के विशेष सत्र को आगे बढ़ाया गया था। विशेष सत्र की समाप्ति के अवसर पर माओवादियों ने देश को तत्काल गणतन्त्र घोषित करने का प्रस्ताव वापस ले लिया। इसके बदले में संसद ने कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल (यूएमएल) का वह संशोधित प्रस्ताव पारित किया, जिसमें संविधान सभा चुनाव के बाद नेपाल को गणतन्त्र घोषित करने की बात कही। पूर्ण रूप से समानुपातिक निर्वाचन प्रकिया अपनाने की माओवादियों की माँग भी संसद ने मंजूर कर ली। माओवादियों ने संसद में अपनी पार्टी के प्रस्ताव को वापर लेने और सीपीएम (यूएमएल) की ओर से पेश संशोधित प्रस्ताव को समर्थन देने की घोषणा की। हालांकि, देश की सबसे बड़ी नेपाली कांग्रेस पार्टी ने दोनों प्रस्तावों के खिलाफ मतदान किया।


      2008 विश्व पर्यावरण – 

      संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 2008 को विश्व पर्यावरण स्वछता वर्ष घोषित किया है। संयूक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने इसकी घोषणा की। मौजूदा समय में दुनियाभर में 2 अरब से जादा लोगो के पास बुनियादी पर्यावरण सफाई सुविधाओं का अभाव है। विकासशील देशो में अधिकतर लोगो के लिए स्वच्छ जल भी उपलब्बध नहीं है। आंकड़ो के अनुसार दुनियाभर में हर सप्ताह 40 हज़ार से जादा लोग ख़राब पानी एवं गंदिगी के कारण उत्पन्न होने वाली बीमारियों से मौत का शिकार बन जाते है। ऐसी गंभीर स्तिथि से निपटने के लिए पुरे विश्व में स्वच्छता पर ध्यान देना बहुत ही आवश्यक है। इसी को ध्यान में रखकर वर्ष 2008 को विश्व पर्यावरण स्वच्छता वर्ष के रूप में मनाया जायेगा।

      इतिहास के 10000+ महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान 2022 | History Gk objective Question-Answer in Hindi

      इतिहास सामान्य ज्ञान 2022 | History Gk Abjective Question-Answer in Hindi

      इस पोस्ट में हमने आपको इतिहास के 10 महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान 2022 (10 Important General Knowledge of History) के बारे में बताया हैं इतिहास से अधिकांश पूछे जाने वाले सभी प्रश्न और उनके जवाब निचे दिए गये हैं |
      itihas-ke-10000-mahatwpurn-gk

      1.जिस काल का कोई लिखित विवरण उपलब्ध नहीं हो, कहा जाता हैं.  

      (अ) प्रागैतिहासिक काल 

      (ब) आद्य ऐतिहासिक काल 

      (स) प्राचीन काल 

      (डी) ऐतिहासिक काल

      उत्तर – (अ) प्रागैतिहासिक काल 

      2.आदिमानव ने सर्वप्रथम किस पशु को पालतू बनाया?

      (अ) बैल

      (ब) कुत्ता 

      (स) हाथी 

      (द) गाय  

      उत्तर - (ब) कुत्ता 

      3.आधुनिक होमोसेपियंस मानव का उदभव किस काल में हुआ?

      (अ) निम्न्पुरापाषण 

      (ब) मध्य पुरापाषण 

      (स) उच्च पुरापाषण

      (द) ताम्रपाषण 

      उत्तर - उच्च पुरापाषण

      4.मानव ने आग का प्रयोग किस काल में प्रारंभ किया?

      (अ) मध्यपाषण काल 

      (ब) नवपाषण काल  

      (स) ताम्रपाषण काल 

      (द) कास्यं काल

      उत्तर - (ब) नवपाषण काल  

      5.मानव ने सर्वप्रथम किस धातु का प्रयोग किया? 

      (अ) लोहा 

      (ब) चांदी

      (स) तांबा 

      (द) पीतल 

      उत्तर - (स) तांबा

      6.मानव द्वारा उपयोग में ली गई पहली फसल थी.

      (अ) चावल 

      (ब) जौ

      (स) गेहूं 

      (द) ये सभी 

      उत्तर - (स) गेहूं 

      7.मानव खाद्य पदार्थो का उद्पादक एवं उपभोक्ता कब बना?

      (अ) मध्यपाषण काल 

      (ब) ताम्रपाषण काल 

      (स) नवपाषण काल  

       (द) उपरोक्त में से कोई नहीं 

      उत्तर - (स) नवपाषण काल  

      8.निम्न में से कोण पुरातत्वविद हड़प्पा के उत्खनन से सम्बन्धित हैं? 

      (अ) दयाराम सहनी

      (ब) आर.डी. बनर्जी 

      (स) एस.आर. राव

      (द) बी.बी. लाल 

      उत्तर – (अ) दयाराम सहनी

      9.हडपाई स्थलों में कांस्य नर्तकी की मूर्ति कहा से प्राप्त हुई है?

      (अ) हड़प्पा

      (ब) कालीबंगा 

      (स) चन्हुदड़ो 

      (द) मोहनजोदड़ो

      उत्तर - (द) मोहनजोदड़ो

      10.प्रसिद्ध पशुपति की मुहर कहा से मिली है? 

      (अ) हड़प्पा 

      (ब) लोथल 

      (स) मोहनजोदड़ो

      (द) रंगपुर 

      उत्तर - मोहनजोदड़ो

      इतिहास के 10000+ महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान 2022 निचे दिए गए अन्य टॉपिक में इतिहास से जुड़े सभी अन्य महत्वपूर्ण जानकारी देखें -

      और पढ़ें -  

      1. मुगल काल से संबंधित महत्वपूर्ण जीके
      2. राष्ट्रीय आंदोलन की महत्वपूर्ण तिथियां
      3. एशिया - एक नजर में
      4. 1-100 हिन्दी English Ordinal and Roman गिनती Chart List
      5. दुनिया के प्रसिद्ध और जाने माने वैज्ञानिक
      6. विभिन्न भाषाओं के महान कवि और लोकप्रिय कवि
      7. GK Question Answer in Hindi 2022
      8. संविधान और राजव्यवस्था जनरल नॉलेज - PART 3
      9. संविधान और राजव्यवस्था जनरल नॉलेज - PART 2
      10. संविधान और राजव्यवस्था जनरल नॉलेज - PART 1
      11. बौद्ध धर्म सामान्य अध्ययन के वन लाइनर प्रश्न उत्तर
      12. भारतीय राज्यों के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल
      13. भारत के सभी राष्ट्रीय प्रतीकों की पूरी जानकारी
      14. भारत में प्रथम पुरुषों की सूची
      15. भारत के सभी राष्ट्रीय प्रतीकों की पूरी सूची
      16. उत्तर प्रदेश के महान व्यक्तित्व
      17. दुनियाभर के वैज्ञानिकों की सूची
      18. धातु और उनके यौगिक
      19. प्रमुख वैज्ञानिक उपकरण लिस्ट एवं उनके कार्य
      20. विज्ञान और गणित का इतिहास देखें
      21. पर्यावरण कानून और अधिनियम
      22. भारत की महान और उपलब्धियां प्राप्त महिलाओं की सूची
      23. जाने दुनिया भर के पवित्र स्थलों के बारे में
      24. 200 देशों का जनसंख्या लिस्ट
      25. उप राष्ट्रपति- श्री मुप्पावारापु वेंकैया नायडु जीवन परिचय
      26. राष्ट्रपति- श्री रामनाथ कोविंद का परिचय
      27. Engineering Trades And Non-Engineering Trades List
      28. हिमालय पर्वत का महत्व
      29. One Liner Gk Question Answer In Hindi | महाद्वीप
      30. 21 रोचक तथ्य | डॉ॰ सर्वपल्ली राधाकृष्णन
      31. भारत के प्रमुख प्राचीन अधिनियम
      32. सम्राट अशोक के बारे में 40 रोचक तथ्य
      33. भारत की सभी नदियों की विस्तृत जानकारी
      34. विश्व की प्राचीन सभ्यताएं
      35. सिंधुघाटी सभ्यता की व्यवस्था
      36. उत्तर वैदिक काल और धार्मिक व्यवस्था
      37. भारत के प्रमुख दर्रे | सभी दर्रो की जानकारी
      38. भारत के प्रमुख पर्यटन स्थल
      39. ऋग्वैदिक काल - 46 महत्वपूर्ण बातें
      40. भारत का भूगोल | 30 बातें
      41. बौद्ध धर्म से जुड़े कुछ रोचक तथ्य
      42. जाने अंतरिक्ष के रोचक तथ्य
      43. सूर्य के बारे में आश्चर्यजनक और रोचक बातें
      44. डॉ॰ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के बारे में 21 रोचक तथ्य
      45. सम्राट अशोक के बारे में 40 रोचक तथ्य
      46. सिकन्दर का भारत विजय अभियान - 32 रोमांचक बातें
      47. ऋग्वैदिक काल की 46 महत्वपूर्ण बातें
      48. गंगा नदी के 40 रोचक और अद्भुत तथ्य
      49. 10 अनोखे और अमेजिंग सवालो के जवाब
      50. इतिहास से जुड़े रोचक तथ्य
      51. मनुष्य के शरीर के संबंध में कुछ आवश्यक रोचक
      52. नोबेल पुरस्कार के बारे में रोचक जानकारी
      53. भारत के बारे में 100 रोचक तथ्‍य

      छत्तीसगढ़ के नदियों से संबधित सामान्य ज्ञान 2022

      छत्तीसगढ़ की नदियाँ बहुविकल्पी प्रश्न:

      आज के इस पोस्ट में छत्तीसगढ़ के नदियाँ से संबधित जानकारी शेयर करने की कोशिश करेंगे जिससे आप को प्रतियोगी परीक्षा में मदद मिलेगी।

      छत्तीसगढ़ में नदियों का अलग ही महत्व है, जाहे वो कृषि के लिए हो या फिर सांस्कृतिक कार्य के लिए क्योकि भारत में गंगा नदी को माँ से सामान माना जाता है।   

      General knowledge about the rivers of Chhattisgarh 2022

      1.छत्तीसगढ़ का अपवाह तंत्र निम्न प्रमुख नदी व्यवस्था पर आधारित है-

      a) महानदी नदी व्यवस्था 

      b) गोदावरी नदी व्यवस्था 

      c) गंगा नदी व्यवस्था 

      d) नर्मदा नदी व्यवस्था 

      e) उपरोक्त सभी 

      उत्तर -  e) उपरोक्त सभी 

      2.निम्न में कोन सा अपवाह तंत्र बंगाल की खाड़ी में विसर्जित नहीं होती है-

      a) महानदी 

      b) गोदावरी 

      c) गंगा 

      d) नर्मदा 

      e) सभी 

      उत्तर  - d) नर्मदा 

      3.निम्न में महानदी की सहायक नदी नहीं है –

      a) ईब 

      b) जोंक 

      c) अरपा 

      d) कोडार 

      e) सभी 

      उतर  - c) अरपा 

      4.निम्न में से कोन सी नदी का प्रवाह उत्तर से दक्षिण नहीं है-

      a) शिवनाथ 

      b) अरपा 

      c) बोरई

      d) माणड

      e) हसदेव 

      उत्तर - a) शिवनाथ 

      5.छत्तीसगढ़ राज्य में जल संसाधन विभाग के राज्य कार्यकाल का नाम है-

      a) महानदी 

      b) सिहावा 

      c) बोरई

      d) हसदेव 

      e) मिनीमाता 

      उत्तर  - b) सिहावा 

      6.निम्न में से कोन सा नदी बिलासपुर और जांजगीर चांपा जिले के बिच सीमा बनती है-

      a) अरपा 

      b) महानदी 

      c) शिवनाथ 

      d) लीलागर 

      e) हसदेव 

      उत्तर  - d) लीलागर 

      7.बस्तर की जीवनरेखा किसे कहते है-

      a) शबरी 

      b) गोदावरी 

      c) इन्द्रावती 

      d) नारंगी नदी 

      e) गोदावरी 

      उत्तर   - c) इन्द्रावती 

      8.महानदी संगम पर कोन सा सहर स्थित है-

      a) राजिम 

      b) शिवरीनारायण 

      c) आरंग 

      d) चंद्रपुर 

      e) कोई नहीं 

      उत्तर - c) आरंग 

      9.छत्तीसगढ़ का प्रयोग किसे कहते है-

      a) आरंग 

      b) शिवरीनारायण 

      c) रतनपुर 

      d) चंद्रपुर 

      e) राजिम 

      उत्तर  - e) राजिम

      इन्हें भी पढ़े :-  छत्तीसगढ़ के जल प्रताप एवं सिचाई 

      10.महानदी जिले से होकर नहीं गुजरती है-

      a) कांकेर 

      b) रायपुर 

      c) महासमुंद 

      d) कोरबा 

      e) सभी 

      उत्तर - e) सभी 

      11.छत्तीसगढ़ का सबसे लम्बा बांध कोन सा है –

      a) गंगरेल 

      b) सिकासार

      c) हसदेव-बांगो 

      d) खूंटाघाट

      e) हीराकुंड जलासाय 

      उत्तर  - c) हसदेव बांगो 

      12.छत्तीसगढ़ का कितना प्रतिशत भाग महानदी अपवाह तंत्र में शामिल है-

      a) 56.11 प्रतिशत 

      b) 80 प्रतिशत 

      c) 65 प्रतिशत 

      d) 70 प्रतिशत 

      e) 60 प्रतिशत  

      उत्तर - a) 56.11 प्रतिशत 

      13.महानदी का सहायक नदी है-

      a) खारुन 

      b) मनियारी 

      c) अरपा 

      d) केलो 

      e) कोई नहीं 

      उत्तर  - b) मनियारी 

      14.लीलागर नदी किसकी सहायक है-

      a) महानदी 

      b) हसदेव 

      c) शिवनाथ 

      d) अरपा 

      e) मनियारी 

      उत्तर  - c) शिवनाथ 

      15.सिहावा पहाड़ी से किस नदी का उद्गम स्थल है-

      a) इन्द्रावती 

      b) पैरी 

      c) शिवनाथ 

      d) महानदी 

      उत्तर -  d) महानदी 

      16.महानदी की कुल लम्बाई है-

      a) 658 किमी 

      b) 758 किमी

      c) 858 किमी 

      d) 558 किमी 

      e) 588 किमी 

      उत्तर  - c) 858 किमी 

      17.महानदी का छत्तीसगढ़ में लम्बाई है –

      a) 358 किमी 

      b) 286 किमी 

      c) 586 किमी 

      d) 486 किमी 

      e) 290 किमी 

      उत्तर  - b) 286 किमी 

      18.छत्तीसगढ़ की सबसे लम्बी नदी कोंसी है-

      a) इन्द्रावती 

      b) नर्मदा 

      c) महानदी 

      d) मांड 

      उत्तर  - c) महानदी 

      19.छत्तीसगढ़ का एक प्राचिनगढ़ पीथमपुर किस नदी के तट पर स्थित है-

      a) हसदेव 

      b) जोंक 

      c) कोडार 

      d) अरपा 

      e) महानदी 

      उत्तर  - a) हसदेव 

      20.हसदेव नदी का उद्गम किस विकासखंड से होता है-

      a) सोनाहट 

      b) खडगंवा 

      c) भरतपुर 

      d) बैकुंटपुर 

      e) मनेन्द्रगढ़ 

      उत्तर  - a) सोनाहट 

      इन्हें भी पढ़े :- Largest in India gk in hindi 

      21.जोंक नदी किसकी सहायक नदी है-

      a) महानदी 

      b) रिहंद 

      c) सोन 

      d) गोदावरी 

      उत्तर  - a) महानदी   

      22.हसदेव नदी की लम्बाई कितना है-

      a) 180 मी 

      b) 170 मी 

      c) 176 मी 

      d) 180 मी 

      e) 155 मी

       उत्तर  - d)176 मी 

      23.हसदेव नदी का प्रवाह किस जिले में नहीं है-

      a) कोरबा 

      b) कोरिया 

      c) बिलासपुर 

      d) जांजगीर 

      e) सभी 

      उत्तर -  c) बिलासपुर  

      24.महानदी कि दूसरी बड़ी सहायक नदी है-

      a) मांड 

      b) हसदो 

      c) जोंक 

      d) शिवनाथ 

      e) मनियारी 

      उत्तर -  b) हसदो 

      25.छत्तीसगढ़ की मांड नदी का उद्गम निम्न में से किस स्थान से है-

      a) पंडरा पाट 

      b) मैनपाट 

      c) मनोरा 

      d) देवगढ 

      e) कोई नहीं  

      उत्तर  - b) मैनपाट

      26.महानदी कितने जिलों से होकर बहती है-

      a) 9

      b) 8

      c) 7

      d) 6

      e) 5

      उत्तर  - b) 8

      27.दूध नदी के किनारे कौन सा जिला मुख्यालय है-

      a) जगदलपुर 

      b) नारायणपुर 

      c) कांकेर 

      d) अंबिकापुर 

      e) कोंडागाँव

      उत्तर  - c) कांकेर 

      28.दूध नदी का विसर्जन किस नदी में होता है-

      a) इन्द्रावती 

      b) शबरी 

      c) कोटरी 

      d) महानदी 

      e) शिवनाथ 

      उत्तर - d) महानदी 

      29.इस राज्य की सबसे लम्बी नदी है-

      a) शिवनाथ 

      b) महानदी 

      c) हसदेव 

      d) इन्द्रावती 

      उत्तर  - b) महानदी 

      30.शिवनाथ नदी का विसर्जन छत्तीसगढ़ के किस प्रसिद्ध स्थल में होता है-

      a) चंद्रपुर 

      b) राजिम 

      c) सिरपुर 

      d) शिवरीनारायण 

      e) पीथमपुर 

      उत्तर  - d) शिवरीनारायण 

      31.किस नदी की सहायक नदी हसदेव है-

      a) गोदावरी 

      b) शिवनाथ 

      c) महानदी 

      d) नर्मदा 

      e) रिहंद 

      उत्तर - b) शिवनाथ 

      32.तीरथगढ़ प्रताप खंड प्रकार है जो किस नदी पर है-

      a) महानदी 

      b) नर्मदा 

      c) कांकेर 

      d) हसदो 

      e) रिहंद 

      उत्तर  - c) कांकेर 

      33.शिवनाथ की सहायक नदी में शामिल नहीं है-

      a) आमनेर 

      b) हॉप 

      c) तांदुला 

      d) हसदेव 

      e) जमुनिया 

      उत्तर  - d) हसदेव 

      34.इस राज्य के रविशंकर सागर बांध से कौन सी नदी या नदियाँ संबधित है-

      a) महानदी 

      b) महानदी , जोंक पैरी 

      c) महानदी , शिवनाथ हसदेव 

      d) हसदेव शबरी 

      e) कोई नहीं 

      उत्तर  - c) महानदी 

      35.ईब नदी की लम्बाई कितनी है छत्तीसगढ़ में –

      a) 102 किमी 

      b) 202 किमी 

      c) 82 किमी 

      d) 87 किमी 

      e) 90 किमी 

      उत्तर  - d) 87 किमी    

      इन्हें भी पढ़े :- 200+ GK जनरल नॉलेज 2022

      आज के इस पोस्ट में आप को काफी सिखने को मिला होगा यदि पोस्ट जानकारी वर्धक लगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। 

      Posted in