विश्व की प्रमुख फसलें और फसलों के उत्पादक देश 2022 (Major crops of the world)

विश्व की प्रमुख फसलें और उनके उत्पादक देश (Major crops of the world and their producing countries)

आज के इस पोस्ट में हम विश्व की प्रमुख फसलें और फसलों के उत्पादक देश के बारे में जानेंगे जहाँ हम विभिन्न प्रकार के अनाजो और बगनी फसलो और फल मसालों आदि के बारे में जानेगे। विश्व की प्रमुख फसलें और फसलों के उत्पादक देश का यह टॉपिक  आप सभी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वालो के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण  हैं।

क्योकि पिछले वर्षो में हर बार विश्व की प्रमुख फसलें और फसलों के उत्पादक देश 2022 | Major crops of the world से जुडी कई प्रश्न पूछे जाते हैं ऐसे में विद्यार्थियों को बस भारत के प्रमुख फसलो के बारे में ही पता रहता हैं पर आपको विश्व के प्रमुख फसलो का नोट्स बनाना हैं और साथ ही तैयारी भी करनी हैं | 

Major crops of the world

Major crops of the world (विश्व की प्रमुख फसलें )

अनाज 

  • चावल : इसकी उत्पत्ति चीन या भारत में हुई। मानसूनी एशिया, उष्णकटिबंधीय एवं उपोष्ण कटिबंधीय क्षेत्रों की यह एक प्रमुख फसल है। इसके लिये 125 सेमी. वर्षा तथा औसत तापमान 20°C से 27°C के बीच होना चाहिये। इसके लिए जलोढ़ मिट्टी सबसे उत्तम है। : 
  •  गेहूँ इसके लिये 25-90 सेमी. वर्षा तथा औसत तापमान 10°C और 20°C के बीच होना चाहिये। काली या दोमट मिट्टी इसके  लिए सबसे उत्तम है। 
  • मक्का : इसकी उत्पत्ति अमरीका में हुई। इसके लिये 70-100 सेमी. वर्षा तथा औसत तापमान 25°C के आसपास होना चाहिये।
  • जौ : इसका उत्पादन पाषाण युग से हो रहा है । 
  • ज्वार एवं बाजरा : बाजरा एवं अन्य मोटे अनाज हैं|
  • जई : इसकी उत्पत्ति एशिया में हुई। इसे बसंत ऋतु में उगाया जाता है। इसका उपयोग आइसक्रीम बनाने एवं दवाइयां बनाने में होता है।

बागानी फसलें

  • कॉफी : इथियोपिया के कफ्फा जिले में इसकी खोज होने के कारण इसे कॉफी नाम दिया गया। अरेबिका इसकी सबसे प्रमुख प्रजाति है। भारत में यह 17वीं शताब्दी में आयी।
  • चायः इसकी खेती छठी सदी ईसवी से चीन से शुरू हुई। चाय के उत्पादन के लिए 1,270 से 6,350 मि.मी. के बीच वार्षिक वर्षा 8 महीनों का समय तथा 21° सेंटीग्रेड तापमान आवश्यक हैं। 
  • तंबाकू : इसकी उत्पत्ति अमेरिका में हुई। तंबाकू के प्रमुख प्रकार हैं-वर्जीनिया तंबाकू, टर्किश या ओरिएंटल तंबाकू तथा सिगार तंबाकू भारत में जहाँगीर के समय इसे पुर्तगाली लेकर आये।
  • रबड़ : यह अमेजन वर्षा वन की मूल नस्ल है। भारत में रबड़ सर हेनर विलियम 1876 ई. में • ब्राजील से लेकर आये। भारत में रबड़ सबसे पहले केरल में उगाया गया। 
  • कोकोः इसकी खेती मध्य अमेरिका से प्रारंभ हुई। कोको, फलियों से प्राप्त होता है। विषुवतरेखीय जलवायु इसके लिये सबसे उपयुक्त होती है।
  • नकदी या वाणिज्यिक फसलें
  • गन्नाः यह बारहमासी फसल है, जिसके रस से चीनी, गुड़ और शक्कर बनाए जाते हैं। 
  • कपासः चीन की यांगटिसीक्यांग घाटी, ह्वांग हो एवं वेई घाटी, अमेरिका की मिसीसिपी घाटी एवं टेक्सास का मध्यवर्ती क्षेत्र विश्व में कपास उत्पादक प्रमुख क्षेत्र हैं। काली मिट्टी इसके लिये सबसे उपयुक्त हैं।
  • जूट या पटसन : जूट का उपयोग रस्सियों, बोरोंथैलों, कपड़ों, कागज एवं लुग्दियों के निर्माण में किया जाता है। 

फल

  • 'अनन्नासः यह आर्द्रता पूर्ण उष्ण कटिबंधीय जलवायु का फल है। 
  • खजूर : इसका उत्पादन मरुस्थलीय दशाओं में होता है। अफ्रीका और दक्षिण-पश्चिम एशिया के मरुस्थलीय क्षेत्रों में मुख्य रूप से यह पैदा होता है।
  • काजू : इसका उदय ब्राजील में हुआ। 16वीं शताब्दी में पुर्तगाली इसे भारत लेकर आये । 
  • केला : यह उष्ण एवं आर्द्र जलवायु में होता है। इक्वाडोर, मध्य अमरीकी राज्य तथा भारत केले के मुख्य निर्यातक हैं। 
  • अंगूर : यह उपोष्ण कटिबंधीय फल है। 
  • नारंगी : इसका उदय चीन में हुआ।

मसाले 

  • काली मिर्च : इसकी खेती आर्द्र उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में की जाती है। 
  • जायफल : इसकी उत्पत्ति इंडोनेशिया में हुई। 
  • दालचीनी : इसे पेड़ की भीतरी छालों को सुखाकर बनाया जाता है।
  • मिर्च : यह भारत में 17वीं शताब्दी में ब्राजील से आई।
  • लौंग : यह लौंग के वृक्ष के फूल की सूखी कली होती है।
  • वनीला : इसका उपयोग केक, आइसक्रीम आदि बनाने में किया जाता है। इसे ऑर्किड नामक पौधे के बीज से प्राप्त किया जाता है।
  • हलदी : इसकी उत्पत्ति भारत या चीन में हुई थी भारत, विश्व में हलदी का एक प्रमुख उत्पादक देश है। 
  • इलायचीः इसे मसालों की रानी कहते हैं। भारत, इलायची का सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक देश है। 
  • अदरकः इसकी उत्पत्ति चीन में हुई थी। भारत सूखे अदरक का सबसे बड़ा उत्पादक देश है।

खाद्यान उत्पादन में विश्व के देश (प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान ) 

  • चावल- चीन, भारत, इंडोनेशिया|
  • गेहूँ- चीन, भारत, रूसी राष्ट्रकुल के देश, संयुक्त राज्य अमेरिका। 
  • ज्वार- संयुक्त राज्य अमेरिका, चीन, ब्राजील।
  • जौ- रूस, जर्मनी, कनाडा। 
  • ज्वार एवं बाजरा- संयुक्त राज्य अमेरिका, भारत, चीन।
  • जई- रूस, संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा। कॉफी-ब्राजील, कोलंबिया, वेनेजुएला।
  • चाय- भारत, श्रीलंका, चीन। 
  • तंबाकू- चीन, संयुक्त राज्य अमेरिका, भारत। 
  • रबड़- मलेशिया, थाईलैंड, इंडोनेशिया ।
  • कोको- घाना, नाइजीरिया, आइवरी कोस्ट। गन्ना भारत, ब्राजील, चीन। 
  • कपास- चीन, भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका । 
  • जूट- बांग्लादेश, भारत, चीन। 
  • संयुक्त- राज्य अमेरिका, ब्राजील, चीन।
  • अनानास- चीन, ताइवान, संयुक्त राज्य अमेरिका। 
  • खजूर- इराक, मिस्र, ईरान|
  • काजू- भारत, ब्राजील, संयुक्त राज्य अमेरिका ।
  • केला - भारत, थाईलैंड, ब्राजील अंगूर संयुक्त राज्य अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया ।' नारंगी- स्पेन, इटली, संयुक्त राज्य अमेरिका ।
  • बादाम- स्पेन, इटली, तुर्की|
  • नारियल - भारत, फिलीपींस, इंडोनेशिया। 
  • काली मिर्च - भारत, मलेशिया, कंबोडिया ।
  • जायफल- इंडोनेशिया, वेस्टइंडीज, भारत।
  • दालचीनी- श्रीलंका, भारत, इंडोनेशिया। 
  • मिर्च- भारत, ब्राजील, इंडोनेशिया।
  • लौंग- भारत, श्रीलंका, ब्राजील|
  • वनीला- मैक्सिको, मलेशिया, इंडोनेशिया।
तो दोस्तों ये थी जानकारी विश्व की प्रमुख फसलें और फसलों के उत्पादक देश 2022 | Major crops of the world के बारे में  आशा करते हैं यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी | आपको यह जानकारी कैसी लगी हम कमेन्ट करके बताए।

विश्व की प्रमुख फसलें और फसलों के उत्पादक देश के अलावा हमारे अन्य पोस्ट को भी जरुर पढ़ें - 

18 AugustSTUDY POINT & CAREER,